Tuesday, July 16, 2024
Uncategorized

कांग्रेस करेगी सूपड़ा साफ अब केजरीवाल की पार्टी का,दिल्ली में पंजाब में

सत्ता का खेल किसी का कोई सगा नही,
न केजरीवाल ने कांग्रेस को बख्शा,
न कांग्रेस अब छोड़ेगी केजरीवाल को

लोकसभा चुनाव में भले ही दिल्ली कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी (AAP News) के साथ हाथ मिला लिया हो, लेकिन अगले छह सात माह में होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी अभी से आप के खिलाफ पुरजोर तरीके से चुनाव लड़ने की तैयारियों में जुट गई है। पार्टी आप सरकार को हर मोर्चे पर एक्सपोज करना चाह रही है। इसके लिए उसने अनेक अलग-अलग रणनीतियों पर काम करना भी शुरू कर दिया है।

देवेंद्र यादव और चन्नी की 45 मिनट हुई बैठक

इसी कड़ी में सोमवार देर शाम प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पार्टी के दिल्ली अध्यक्ष देवेंद्र यादव (Devendra Yadav) व जालंधर से सांसद एवं पंजाब के पूर्व सीएम चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) के बीच एक गुपचुप बैठक हुई। करीब 45 मिनट की इस बैठक में दोनों ने ही पंजाब के साथ- साथ दिल्ली के भी मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की।

दोनों राज्यों में कांग्रेस को सत्ता से बाहर करने वाली AAP

बताया गया कि इस बैठक में यह भी चर्चा हुई कि दोनों राज्यों में कांग्रेस को सत्ता से बाहर करने वाली आप ही है। इसलिए मिलकर आप का मुकाबला करना अधिक बेहतर रहेगा। मतलब, दिल्ली (Delhi) के विधानसभा चुनाव में पंजाब (Punjab) के कांग्रेस नेता भी आप की कलई खोलने में मदद करें और पंजाब के विधानसभा चुनाव में प्रदेश के कांग्रेसी भी ऐसा ही करें।
इसके पीछे कांग्रेस की एक सोच यह है कि आप दिल्ली में पंजाब के बेहतर सुशासन के दावे करती है जबकि पंजाब में यहां के शिक्षा और स्वास्थ्य मॉडल का दंभ भरती है। जबकि सच कुछ और ही है। आप के इसी झूठ का सच सामने के लिए दोनों राज्यों के कांग्रेसी मिलकर चुनाव प्रचार में उतरेंगे तो उसके ज्यादा बेहतर नतीजे आएंगे।

पंजाब में कांग्रेस इन मुद्दों को लेकर मान सरकार को घेरेगी

उदाहरण के लिए आप ने दिल्ली में इस लोकसभा चुनाव के दौरान वादा किया कि चुनाव के बाद 18 वर्ष से ऊपर की हर महिला को एक हजार रुपये प्रति माह की सम्मान राशि दी जाएगी। पार्टी सुप्रीमो और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kjeriwal) खुद चुनाव प्रचार के दौरान इस वादे को पूरा करने की गारंटी लेते रहे। लेकिन ”पूर्ण राज्य” पंजाब में आप की सरकार यह वादा ढाई साल में भी पूरा नहीं कर पाई है। इसी तरह से स्वास्थ्य मॉडल, राज्य की कानून व्यवस्था, ढांचागत विकास व एमएसपी पर भी पंजाब सरकार लगातार सवालों के घेरे में है।

पंजाब के पूर्व सीएम और वर्तमान में जालंधर से सांसद चरणजीत सिंह चन्नी के साथ हुई बैठक में विधानसभा चुनाव के दौरान एक दूसरे का सहयोग करने पर सहमति बन गई है। इस पर विस्तृत रणनीति जल्द बनाई जाएगी। आप के झूठे दावों का सच सामने लाना बहुत जरूरी हो गया है।
देवेंद्र यादव, अध्यक्ष, दिल्ली कांग्रेस एवं प्रभारी, पंजाब कांग्रेस

 

Leave a Reply