Tuesday, July 16, 2024
Uncategorized

सात सांसद जो नही डाल पाएंगे वोट…..,सांसद होते हुए भी

सात सांसद नही डाल पाएंगे वोट….

कौन हैं वो सात सांसद

शपथ नहीं लेने वालों में विपक्ष के पांच सांसद और दो निर्दलीय सांसद शामिल हैं। जिसमें से दो तो जेल में बंद हैं। जिसके कारण वो सदन में शपथ लेने के लिए उपस्थित नहीं हो सके, बाकी पांच को लेकर कोई जानकारी सामने नहीं है।

कट्टरपंथी उपदेशक और खडूर साहिब लोकसभा सीट से निर्वाचित अमृतपाल सिंह संसद सदस्य के रूप में शपथ नहीं ले सके, क्योंकि वह राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत असम की जेल में बंद हैं।

बारामूला लोकसभा सीट से निर्वाचित इंजीनियर राशिद सोमवार को सांसद के रूप में शपथ नहीं ले सके क्योंकि वह गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) के तहत दर्ज एक मामले में दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद हैं।

टीएमसी के शत्रुघ्न सिन्हा, दीपक अधिकारी, नुरूल इस्लाम ने शपथ नहीं ली।

कांग्रेस नेता शशि थरूर भी शपथ लेने आज संसद नहीं पहुंचे।

समाजवादी पार्टी के अफजाल अंसारी ने भी शपथ नहीं ली।

NDA या INDIA किसे होगा सबसे ज्यादा नुकसान

जैसा कि साफ है कि सत्ता पक्ष यानि के एनडीए के सभी सांसदों ने शपथ ले ली है। शपथ नहीं लेने वाले में पांच विपक्षी सांसद ही हैं। ऐसे में सीधे-सीधे नुकसान तो विपक्ष का ही है। हालांकि एक ऑपशन है। मतदान की प्रक्रिया शुरू होने से पहले अगर ये सांसद बुधवार को शपथ ग्रहण कर लें तो वो लोकसभा अध्यक्ष के चुनाव में वोट डाल सकते हैं। हालांकि सूत्रों की मानें तो जिन 7 सांसदों ने लोकसभा में संसद सदस्य की शपथ नहीं हैं। उन्हें स्पीकर चुनाव के बाद शपथ दिलाई जायेगी। अगर ऐसा होता है तो बुधवार को ये 7 सांसद लोकसभा स्पीकर चुनाव में मतदान नहीं कर पायेंगे।

लोकसभा अध्यक्ष पद चुनाव में किसका पलड़ा भारी

अगर लोकसभा अध्यक्ष पद को लेकर मतदान होता है तो ज्यादा संभावना इस बात की है कि यह मतदान पर्ची से करवाया जाएगा। लोकसभा में शपथ ले चुके नवनिर्वाचित सांसद मतदान के जरिए यह तय करेंगे कि लोकसभा के नए स्पीकर कौन होंगे, ओम बिरला या के. सुरेश। हालांकि, सदन में संख्या बल की बात करें तो एनडीए गठबंधन के उम्मीदवार के तौर पर ओम बिरला का आसानी से चुनाव जीतना तय माना जा रहा है। क्योंकि एनडीए के पास 292 सांसद हैं और इंडिया ब्लॉक के पास 233 सांसद हैं।

 

Leave a Reply