Thursday, February 22, 2024
Uncategorized

आबिद मंसूरी उर्फ आबिद लौंडेबाज की हत्या हुई,नबालिग से अपहरण और अप्राकृतिक कृत्य के कारण,40 वार किए चाकू के

 

Murder in MP: पुलिस जांच में सामने आया कि मृतक पर एक नाबालिग का अपहरण करने और उसके साथ अश्लील हरकत करने का मामला दर्ज था.

मध्य प्रदेश के रतलाम (Murder in Ratlam) के पंचड़े गांव में एक मुस्लिम युवक की चाकू से 40 से अधिक वार कर हत्या कर दी गई. हत्या के दूसरे दिन एक आरोपी ने कथित तौर पर सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट भी डाला. वारदात के बाद गांव में तनाव का माहौल है, जिसके बाद क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है.

मृतक युवक की पहचान आबिद मसूरी के रूप में हुई है. 18 सितंबर को आबिद अपनी पत्नी का ‘मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना’ का फॉर्म भरने जा रहा था, तभी बदमाशों ने बेरहमी से सिर. कमर, सीने, कंधे और जांघ समेत कई जगहों पर वार कर मौत के घाट उतार दिया. सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए रतलाम के मेडिकल कॉलेज में भेजा और पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव परिजनों को शव सौंप दिया.

आबिद की हत्या के बाद गांव में तनाव की स्थिति पैदा हो गई थी। आक्रोशित परिजनों ने नामली थाने के सामने शव रखकर आरोपियों की गिरफ्तारी और घर तोड़े जाने की मांग को लेकर प्रदर्शन भी किया था। करीब 2 घंटे तक थाने के सामने प्रदर्शन के बाद प्रशासन के आश्वासन के बाद परिजन अंतिम संस्कार के लिए शव को ले जाने को तैयार हुए थे। इस संवेदनशील मामले पर पुलिस ने तत्काल कार्यवाही करते हुए तीनों आरोपियों को 36 घंटे में ही गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से हत्या में उपयोग किए गए चाकू भी बरामद किए हैं।
छोटे भाई के साथ गलत हरकत का लिया बदला
पुलिस अधीक्षक राहुल कुमार लोढ़ा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस हत्याकांड का खुलासा किया है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मृतक आबिद द्वारा वर्ष 2020 में गांव के 8 वर्षीय नाबालिक के साथ अश्लील हरकत और अप्राकृतिक कृत्य करने का प्रयास किया गया था। इस मामले में नामली थाना पुलिस द्वारा आबिद के विरुद्ध पास्को एक्ट में कार्यवाही कर किशोर सुधार गृह भेजा गया था। कुछ समय बाद उसे न्यायालय से जमानत मिल गई थी। इस घटना से पीड़ित 8 वर्षीय बालक का बड़ा भाई जो की हत्या के इस मामले में नाबालिक आरोपी है, नाराज चल रहा था। अपने छोटे भाई के साथ हुई गलत हरकत का बदला लेने के लिए नाबालिक आरोपी ने अपने साथी त्रिभुवन सिंह चौहान और आशुतोष के साथ मिलकर आबिद की चाकू मार कर हत्या कर दी।

थाने का बाहर परिजनों का प्रदर्शन

वारदात से आक्रोशित परिजनों ने 19 सितंबर को नामली थाने के सामने जमकर बवाल काटा. परिजनों ने शव को सड़क पर रखकर तीन घंटे तक प्रदर्शन किया. मृतक के परिवार ने मांग कि सभी आरोपियों को जल्द से जल्द पकड़ा जाए. इस हत्या के पीछे कौन मास्टरमाइंड है, इसकी जांच की जाए. उन्होंने सभी आरोपियों के घर पर बुलडोजर चलाने की भी मांग की.

FIR के अनुसार, मृतक की पिता ने बताया कि उनका बेटा आबिद मंसूरी लाड़ली योजना का फॉर्म भरने बाजार गया था. शाम करीब 7 बजे आमीन मंसूरी ने मुझे फोन कर बताया कि गांव के रतनलाल चौधरी की किराना दुकान के सामने त्रिभुवन चौहान, पीयूष सिंह राजपूत, आशुतोष उर्फ भोला भाबी धारदार हथियार से लैस हैं और आबिद के साथ मारपीट कर रहे हैं.

FIR की कॉपी

पुरानी रंजिश में हत्या करने का आरोप

मृतक के पिता ने बताया कि आरिफ मंसूरी, आदिल मंसूरी, आसीफ मंसूरी, अमीन मंसूरी और रमजान खत्री घटनास्थल पर मौजूद थे, जिन्होंने घटना देखी है.

त्रिभुवन चौहान समेत तीनों आरोपियों ने पुरानी रंजिश में आबिद की हत्या की है. उन्होंने कहा कि त्रिभुवन चौहान क्षेत्र का गुंडा है, जिस पर पहले से भी काफी केस दर्ज हैं.

मृतक के चाचा फारुक अंसारी ने आरोप लगाया कि मेरे भतीजे की बेरहमी से हत्या कर दी गई. इससे पहले इन आरोपी के ही लोगों ने ही मेरे बेटे पर भी जानलेवा हमला किया था. उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस हमारी सुनवाई नहीं कर रही है. हत्या का आज दूसरा दिन है, अब तक आरोपी को पुलिस पकड़ नहीं पाई है.

पुलिस ने क्या कहा?

एसडीओपी ग्रामीण अभिलाष बालवीर ने कहा, “सीसीटीवी फुटेज से पता चला है कि तीन आरोपी हैं. आरोपियों के खिलाफ FIR दर्ज की गई है. मृतक के परिजनों ने प्रशासन से कुछ मांगें रखी हैं. हमने आश्वासन देकर उन्हें यहां से भेजा है. मृतक के परिजनों की उचित मांग को पूरा कराया जाएगा. पुलिस जल्द ही आरोपियों को पकड़ लेगी.”

Leave a Reply