Tuesday, July 16, 2024
Uncategorized

हिन्दू नाबालिग को ट्यूशन पढ़ाता था कटमुल्ला मोहम्मद नौशाद, फिर नतीजा ये दिया भरोसा करनेका, पिता बसीकदीन, भाई शहंशाह, भाभी करिश्मा समेत पूरा परिवार शामिल

ट्यूशन टीचर की हैवानियत, छात्रा बोली- पढ़ाने के बहाने करता था रेप

KANPUR CRIME NEWS : कानपुर (KANPUR) के चौबेपुर में ट्यूशन टीचर नौशाद नाबालिग छात्रा को किडनैप कर ले जा रहा था। इस केस में रिकवर की गई छात्रा ने टीचर पर संगीन आरोप लगाए हैं। KANPUR CRIME NEWS

छात्रा ने बताया कि ट्यूशन शिक्षक नौशाद उसे पढ़ाई के बहाने अपने घर ले जाता था। इसके बाद उसके साथ  रेप करता था। नौशाद ने उसका धर्मांतरण कराया। फिर, मुंबई में निकाह की तैयारी करने लगा।

आरोपी टीचर नौशाद गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने आरोपी पर रेप समेत अन्य धाराओं में FIR दर्ज की। छात्रा का मेडिकल कराया जा रहा है। उसका मजिस्ट्रेट बयान दर्ज कराया जाएगा।

छात्रा की मां की तहरीर पर चौबेपुर पुलिस ने आरोपी नौशाद के खिलाफ रेप, पाक्सो एक्ट, अपहरण, धर्मांतरण कराने से संबंधित धाराओं में FIR दर्ज की है। आरोपी नौशाद को शनिवार को कोर्ट में पेश करने के बाद पुलिस जेल भेजेगी।

चलिए जानते हैं, मामले में छात्रा ने क्या कुछ बताया…

चौबेपुर थाना क्षेत्र में रहने वाली महिला के पति का निधन हो चुका है। उन्होंने बताया कि मेला रोड हकीम नगर निवासी नौशाद अहमद उनकी बेटी को ट्यृशन पढ़ाता था। 27 जून की दोपहर 3 बजे उनकी बेटी को बहला-फुसला कर अपने साथ ले जा रहा था। कल्याणपुर रेलवे स्टेशन पर बजरंग दल के एक कार्यकर्ता की नजर पड़ गई और उसे पकड़ लिया।

पहले आरोपी को कल्याणपुर पुलिस के हवाले किया गया। इसके बाद चौबेपुर पुलिस ने ट्यूशन टीचर को कस्टडी में ले लिया। मामले की जांच की गई, तब सामने आया कि ट्यूशन टीचर नौशाद छात्रा के साथ गलत काम कर रहा था। बजरंग दल ने हंगामा-बवाल किया तो नौशाद के खिलाफ गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई।

बदनाम कर दूंगा…

छात्रा ने अपने बयान में पुलिस को बताया-नौशाद सर घर में पढ़ाने आते थे। पहले वो गलत तरीके से छूते थे। इसके बाद उनकी हरकत बढ़ती गई। कहते थे पढ़ाई में कमजोर हो। वो मुझे डराने धमकाने लगे। फिर वो मेरे साथ गलत काम करने लगे। पढ़ाई के बहाने अपने घर ले जाते थे। इसके बाद वहां पर मेरे साथ गंदा काम करते थे। मैंने उनसे कहा कि ऐसा न करो, तो कहते थे कि मुझे बदनाम कर देंगे।

छात्रा ने बताया- नौशाद सर मुझसे कहते थे कि उनका धर्म बहुत अच्छा है। मैं अगर उनके साथ जाऊंगी तो अच्छा होगा। इसके बाद 27 जून को मुझे धमकाने लगे। बोले चलो मेरे साथ चलो। पहलो वो मुझे अपने घर ले गए। इसके बाद मस्जिद। वहां कुछ पढ़वाया गया, मेरा धर्म बदलवाने की बात हुईं। फिर मेरे साथ गलत काम किया गया।

बकौल पुलिस छात्रा ने बताया- भगाने से लेकर धर्मांतरण में सिर्फ नौशाद ही नही, उसके पिता बसीकदीन, भाई शहंशाह, भाभी करिश्मा समेत अन्य परिवार के लोगों को पूरे मामले की जानकारी थी।

Leave a Reply