Monday, March 4, 2024
Uncategorized

(LIVE VIDEO) मुसलमान बाप बेटे ने बेटी को मार डाला पीट पीटकर, हिन्दू लड़के से प्रेम,सेक्युलर नेताओ की हर जगह से आवाज बन्द

उत्तर प्रदेश की अमेठी से ऑनर किलिंग की घटना सामने आई है। आफरीन नामक युवती को उसके ही परिवार वालों ने मार डाला। हत्या करने वालों में उसके ही पिता और भाई शामिल हैं। उसका कसूर सिर्फ इतना था कि उसे अपने मजहब से इतर किसी दूसरे धर्म के शख्स से प्यार हो गया। इस घटना का वीडियो वायरल होने पर पुलिस ने संज्ञान लिया और कब्र खोदकर उसकी लाश को निकाला और पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाया। जाँच के बाद पुलिस ने मृतका के पिता और भाई पर आईपीसी की धारा 304 के तहत केस दर्ज कर लिया।

पुलिस एफआईआर से मिली जानकारी के मुताबिक, पीपरपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत टिकावर के नियामतउल्ला की 20 साल की बेटी आफरीन धमौर बाजार के श्री हुनमंत इंटर कॉलेज में कक्षा 12 की छात्रा थी। वो इस दौरान धम्मौर थाना क्षेत्र के रहने सर्वेश शर्मा से मिली।

धीरे-धीरे दोनों में नजदीकियाँ बढ़ीं और दोनों को प्यार हो गया। इस प्यार की खबर जैसे ही आफरीन के घरवालों को लगी, वो अपना आपा खो बैठे। उसके पिता और भाई ने इस रिश्ते को खत्म करने के लिए आफरीन को कई बार धमकी भी दी थीं।

बीच बाजार में ही की आफरीन से मारपीट

जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार (4 अगस्त, 2023) को आफरीन रोजाना की तरह ही स्कूल गई थी। इस दौरान उसे प्रेमी सर्वेश मिला। दोनों साथ मिलकर बाजार में घूम रहे थे। इस बात की सूचना किसी ने सूचना आफरीन के पिता नियामतउल्ला को दी। सूचना मिलते ही उसके पिता और भाई हैदर मौके पर पहुँचे। बगैर कुछ सोचे-समझे दोनों ने बीच बाजार में ही आफरीन को जमकर पीटा।

वहाँ मौजूद स्थानीय लोगों ने घटना का वीडियो बनाने के साथ ही पुलिस को भी सूचना दी दे दी। वीडियो में दोनों को बाजार में अन्य लोगों की मौजूदगी में लड़की को घसीटते और थप्पड़ मारते देखा जा सकता है। सूचना पाकर धम्मौर पुलिस मौके पर पहुँची और लड़की व उसके घरवालों को कोतवाली ले आई। इस दौरान आफरीन ने पुलिस के सामने ही अपने घरवालों के साथ जाने से मना कर दिया।

माँ के आने पर घर जाने को हुई थी तैयार

धम्मौर पुलिस ने आफरीन के कोतवाली से घर जाने से मना करने पर उसकी माँ को बुलाया। माँ के आने के बाद पुलिस ने समझा-बुझा कर उसे घर भेजा, लेकिन घर जाकर पिता और भाई ने उसकी इस कदर पिटाई की कि उसकी मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक, शनिवार 5 अगस्त को मृतका की फैमिली ने उसकी लाश को कब्रिस्तान में दफन कर दिया।

उसके परिवार वालों ने लोगों से ये कहा कि आफरीन की तबीयत खराब थी और सही इलाज न मिल पाने की वजह से उसकी मौत हो गई है। हालाँकि, इस घटना का वीडियो तब तक सोशल मीडिया पर खासा वायरल हो चुका था। वीडियो अमेठी जिले की पीपरपुर पुलिस के संज्ञान में आया और पुलिस ने पूछताछ की तो उसे आफरीन की मौत का मामला संगीन लगा। पुलिस को पूछताछ में जानकारी मिली की मृतका लड़की के पिता और भाई ने उसकी बीमारी के बारे में झूठ बोला था। दरअसल, उन्होंने ही उसकी हत्या कर उसे मौत के घाट उतार दिया था।

पुलिस ने कब्र से निकाली लाश

पुलिस को आगे की जाँच के लिए आफरीन की लाश की जरूरत थी, लेकिन उसका कफन-दफन हो चुका था। लाश को कब्र से निकालने की इजाजत के लिए पुलिस ने अमेठी के जिलाधिकारी को पत्र लिखा। इजाजत मिलने के बाद उप जिलधिकारी अमेठी (न्यायिक) मोहम्मद असलम, पुलिस क्षेत्राधिकारी लल्लन सिंह और थानाध्यक्ष पीपरपुर संदीप राय संग डॉक्टर्स और फॉरेंसिक टीम के साथ भारी संख्या में पुलिस ब लेकर गाँव पहुँचे।

वहाँ पुलिस ने कब्रिस्तान में कब्र को खोदकर लाश को निकाले जाने की प्रक्रिया की पूरी वीडियोग्राफी करवाई। इसके बाद आफरीन की लाश को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया। पुलिस ने पीपरपुर गाँव के चौकीदार इंद्रराज की शिकायत पर मृतका के पिता और भाई के खिलाफ एफआईआर दर्ज की।

ऑपइंडिया को मामले की एफआईआर कॉपी मिली है जिसमें बताया गया है कि लड़की को उसके पिता और भाई ने बेरहमी से पीटा था। इसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया जहाँ उसकी मौत हो गई। एफआईआर में लिखा है, “नियामत उल्लाह और हैदर अली ने लड़की के साथ मारपीट की थी। इसके बाद वह बेहोश हो गई। लड़की को उसके माता-पिता अस्पताल ले गए जहाँ उसने दम तोड़ दिया।”

Leave a Reply