Monday, February 26, 2024
Uncategorized

कुख्यात गुंडे मुख्तार अंसारी का दाहिना हाथ संजीव जीवा हुआ गोलियों से छलनी,वकील के भेष में आया हत्यारा

 

राजधानी के कोर्ट परिसर में मुख्तार अंसारी के करीबी संजीव माहेश्वरी यानी संजीव जीवा की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. अब इसके जांच के लिए तीन सदस्यीय एसआईटी का गठन किया गया है. गैंगस्टर की पत्नी जीवा ने पहले ही पति के मारे जाने की आशंका जताई थी.

राजनीति में काफी सक्रीय हैं पत्नी पायल

बता दें कि गैंगस्टर संजीव जीवा की पत्नी अपने पति के पहचान से बिल्कुल अलग है. पायल माहेश्वरी राजनीति में काफी सक्रीय हैं. ये राष्ट्रीय लोकदल पार्टी से चुनाव भी लड़ चुकी हैं. 2017 में इन्होंने मुजफ्फरनगर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था. हालांकि इनको इसमें हार का सामना करना पड़ा.

आरोपी के घर पहुची जौनपुर पुलिस

राजधानी के कोर्ट परिसर में गैंगस्टर मुख्तार अंसारी के करीबी संजीव जीवा की गोली मारकर हत्या कर दी गई. घटना को अजांम देने के लिए आरोपी वकील की ड्रेस में आए थे. एक आरोपी विजय यादव को पुलिस ने मौके से पकड़ लिया है. अब मामले की जांच के लिए जौनपुर पुलिस आरोपी विजय यादव के घर पर पहुंची है.

3 सदस्यीय एसआईटी की गठन

राजधानी के कोर्ट परिसर में मुख्तार अंसारी के करीबी संजीव माहेश्वरी यानी संजीव जीवा की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. अब कोर्ट परिसर में हुए दिनदहाड़े हत्याकांड के बाद तीन सदस्यीय एसआईटी टीम को गठित किया गया है. इस एसआईटी में एडीजी टेक्निकल मोहत अग्रवाल, ज्वाइंट सीपी नीलाब्जा चौधरी और अयोध्या के आईजी प्रवीण कुमार शामिल हैं.

पुलिस कस्टडी में संजीव जीवा की हत्या

पुलिस कस्टडी में हुई इस हत्या ने एक बार फिर उत्तर प्रदेश पुलिस की सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए हैं. बता दें, कोर्ट परिसर मे हुए गोलीकांड को अंजाम देने वाले हमलावर वकील बनकर आए थे. हत्याकांड में मारे गए संजीव जीवा को माफिया मुख्तार अंसारी का करीबी कहा जाता है.

गैंगस्‍टर संजीव जीवा की लखनऊ में गोली मारकर हत्‍या कर दी गई।

गाजीपुर, जागरण संवाददाता। माफिया मुख्तार अंसारी के बेहद करीबी शूटरों में शुमार वेस्ट यूपी का नामी बदमाश संजीव माहेश्वरी जीवा पहली बार मुहम्मदाबाद के तत्कालीन भाजपा विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड में सुर्खियों में आया था। उसने गाड़ी के बोनट पर चढ़कर एके-47 से ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर न सिर्फ विधायक सहित सात लोगों को मौत के घाट उतार दिया था, बल्कि स्वचलित हथियारों से कई सौ राउंड गोलियां चलाकर पूर्वांचल को दहला दिया था।

भाजपा विधायक कृष्णानंद राय की हत्‍या

29 नवंबर 2005 भाजपा के मुहम्मदाबाद से भाजपा विधायक कृष्णानंद राय सहित सात लोगों की गोलियों से भूनकर उस समय हत्या कर दी थी, जब वह अपने गांव सियाड़ी में क्रिकेट प्रतियोगिता का उद्घाटन कर लौट रहे थे।

हत्‍याकांड में मुन्ना बजरंगी के साथ जीवा का नाम आया था

लट्ठूडीह-कोटवा नारायणपुर मार्ग के बसनिया गांव के समीप क्षतिग्रस्त पुलिया का लाभ उठाते हुए पहले से मौजूद हमलावरों ने कृष्णानंद राय की गाड़ी पर स्वचलित हथियारों से अंधाधुंध गोलियां बरसाईं थीं। इस हत्याकांड में मुन्ना बजरंगी के साथ मुजफ्फरनगर निवासी शूटर संजीव माहेश्वरी जीवा का नाम सामने आया था।

जीवा ने विधायक की गाड़ी पर चढ़कर दागी थीं गोलियां

भाजपा विधायक हत्याकांड को करीब से देखने वाले लोगों है कि जीवा ने विधायक की गाड़ी पर चढ़कर गोलियां दागी थी। वह तब जेल में बंद मुख्तार अंसारी का बेहद करीबी रहा।

इन लोगों की हुई थी हत्या

तत्कालीन विधायक कृष्णानंद राय के साथ मुहम्मदाबाद के पूर्व ब्लाक प्रमुख श्याम शंकर राय, भाजपा के भांवरकोल ब्लाक के मंडल अध्यक्ष रमेश राय, अखिलेश राय, शेषनाथ पटेल, चालक मुन्ना यादव व सरकारी अंग रक्षक निर्भय नारायण उपाध्याय।

ये थे आरोपित

विधायक हत्याकांड में अफजाल अंसारी, मुख्तार अंसारी, संजीव महेश्वरी जीवा, एजाजुलहक, राकेश पांडेय, रामू मल्लाह, मंसूर अंसारी, मुन्ना बजरंगी का नाम सामने आया था। हालांकि, बाद में सभी कोर्ट से बरी हो गए थे।

 

Leave a Reply