Monday, March 4, 2024
Uncategorized

एक विश्लेषण:उत्तर प्रदेश कल और आज,कभी ये हाल था

 

न्यायराज

जब मुख्तार अंसारी ने कोतवाली में ताला लगवा दिया था, तब कानून का राज था 🤔

जब अतीक अहमद ने 20 सिपाहियों को अपने घर में बंदी बना लिया था, तब भी कानून का राज था ??

जब आजम खान ने एक एसएसपी को 3 घंटे अपने घर पर खड़ा होने की सजा दी थी,

तब भी कानून का ही राज था 🤔

जब 12 जजों की बेंच ने अतीक अहमद और मुख्तार के खिलाफ चलने वाले केसों को सुनने से मना कर दिया था,तब कानून का राज था ..??

जैसे ही एक संन्यासी ने प्रदेश की कमान संभाली असहाय सी दिखने वाली पुलिस इन्हीं अपराधियों को घसीट घसीट कर थाने में लाने लगी।

दौड़ा दौड़ा कर एनकाउंटर करने लगी यूपी को अपने बाप की बपौती समझने वाले अतीक अहमद और मुख्तार अंसारी जैसे दुर्दांत अपराधी डर के मारे यूपी से हजारों किलोमीटर दूर जेलों में छुप कर बैठ गए ।

लाखों अपराधियों ने अपनी जमानत रद्द करा लिया।

हजारों गले में तख्ती लगा कर आत्म समर्पण करने लगे।

लोगों की जान लेने वाले गुंडों का परिवार प्रेस कांफ्रेंस कर के जान बख्श देने की गुहार मांग रहा है ।

 

Leave a Reply