Tuesday, May 28, 2024
Uncategorized

क्या मुख्यमंत्री की पत्नी ने पढ़वाए ,लात जूते,थप्पड़, गालियां…

दिल्ली महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ मुख्यमंत्री केजरीवाल आवास पर हुई मारपीट वाला विवाद बढ़ता जा रहा है। सोमवार (13 मई 2024) को पुलिस के पास उनके नाम से एक कॉल आई कि उनके साथ मारपीट हुई है। इसके बाद खुद स्वाति मालीवाल भी पुलिस थाने तक पहुँचीं, लेकिन शिकायत करातीं इससे पहले उन्हें एक कॉल आ गई और वो तुरंत बाहर चली गईं। उसके बाद वो लौट कर नहीं आई। पूरी खबर पर संदेह किया जाता इससे पहले ही AAP सांसद संजय सिंह प्रेस कॉन्फ्रेंस के सामने आए और बोले कि AAP स्वाति के साथ है। वहीं स्वाति मालीवाल के पूर्व पति ने इस संबंध में वीडियो बनाकर पूरे हमले को साजिश करार दिया और अपनी पूर्व पत्नी की जान को खतरा तक बताया…।

इस पूरे घटनाक्रम को देखते हुए ये तो स्पष्ट लग रहा है कि स्वाति मालीवाल के साथ मुख्यमंत्री केजरीवाल के आवास पर बदसलूकी हुई, लेकिन सवाल ये है कि इस मामले में अभी स्वाति खुद क्यों चुप हैं। उन्होंने अभी तक अपने ऊपर हुई घटना के बारे में किसी को क्यों कुछ नहीं बताया।

स्वाति मालीवाल राज्यसभा सांसद बनने से पहले सालों तक दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष रही थीं। इस दौरान उन्होंने महिलाओं के साथ छेड़छाड़, बदसलूकी और मारपीट के कई मुद्दे उठाए। जरूरत पड़ने पर हड़ताल की, नोटिस जारी किए, सड़क पर बैठ गईं। उन्होंने अन्य राज्यों में भी अपना हस्तक्षेप किया जो उनके अधिकार क्षेत्र में नहीं आता…मगर बात जब खुद के लिए इंसाफ माँगने की आई तो न तो वो मीडिया के सामने बयान देने आईं और न हीं उन्होंने कोई वीडियो बनाया, न ही कोई पोस्ट किया। उनके पूर्व पति तक ने अपनी वीडियो में कहा है कि स्वाति को इसमें बोलना चाहिए। वो क्यों चुप है ये नहीं पता चल पा रहा है।

सोशल मीडिया पर लग रहे अनुमान

इस मामले को देखते हुए राजनैतिक विरोधी ये तक कहने लगे कि स्वाति पर जो सीएम आवास पर हमला हुआ वो बिना सीएम की जानकारी में हुए नहीं हो सकता है… इसलिए अगर सच में ऐसा है तो स्वाति को इस मामले में बोलना चाहिए, ताकि सच्चाई सामने आ सके। इसके अलावा कुछ लोग अंदाजा लगा रहे हैं कि केजरीवाल राज्यसभा सांसद का पद अपने वकील को देना चाहते हैं, जिसने उनका कोर्ट में केस लड़ा, इसलिए हो सकता है स्वाति से पद छोड़ने को कहा गया हो और न सुनवाई पर ये घटना घटी। कुछ का मानना है कि मीडिया में आने के लिए स्वाति मालीवाल ने सिर्फ और सिर्फ ड्रामा किया है। उनपर कोई हमला नहीं हुआ है और कुछ का कहना है कि हो सकता है कि इस पूरी घटना के पीछे कोई निजी मामला हो जिसके बारे में स्वाति मीडिया में न कहना चाहती हों इसलिए उन्होंने ऐसा किया है।

भाजपा की महिला नेता ने उठाया सवाल

भाजपा की महिला नेता शाजिया इल्मी ने भी इस मुद्दे को उठाया है। उन्होंने सीएम केजरीवाल से इस मामले में सच्चाई बताने को कहा है। उन्होंने कहा है कि इस संबंध में पिछले 48 घंटे से सवाल किए जा रहे हैं, फिर भी केजरीवाल चुप क्यों हैं? वो बताएँ कि उन्होंने बिभव पर क्या एक्शन लिया है? क्या बिभव ने केजरीवाल की ओर से स्वाति को पीटा जो वो एक्शन लेने से कतरा रहे हैं? उन्हें धमकी दी गई है? क्यों कोई एफआईआर अब तक नहीं हुई है? क्या इस घटना के लिए केजरीवाल को जिम्मेदार नहीं ठहराया जाना चाहिए।

स्वाति मालीवाल की चुप्पी से उठते हैं सवाल

बता दें कि सीएम आवास पर बदसलूकी मामले में अरविंद केजरीवाल के सेक्रेट्री भिभव कुमार के खिलाफ पूर्व दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष कब बोलेंगीं ये तो नहीं पता लेकिन उनकी चुप्पी के कारण, आप के रवैये के चलते कुछ सवाल सोशल मीडिया पर उठने लगे हैं। जैसे ये पूछा जाना तो लाजिमी है कि एक नंबर से जब कॉलें आईं और स्वाति थाने भी पहुँची तो उन्होंने एक कॉल आने पर केस क्यों नहीं कराया… ऐसा तो नहीं वो कॉल उन्हें धमकाने या चुप कराने के लिए किसी ने की हो। वरना उनसे जुड़ी खबरें बताती हैं कि उन्होंने सक्रिय होकर महिलाओं के मुद्दों को उठाया है।

अगर हम उनका ट्विटर हैंडल देखेंगे तो भी यही पता चलता है कि उन्होंने इस घटना के बारे में अब तक सोशल मीडिया पर एक शब्द नहीं लिखा है। ऐसे में ये भी कहा जा रहा है कि स्वाति हैं कहाँ पर? क्या वो इस हाल में हैं कि अपने सोशल मीडिया को एक्सेस कर सकें? अगर ऐसा है तो क्यों अभी तक उन्होंने इस पूरे विवाद में कोई शिकायत नहीं की।

एक सवाल ये भी कि आम आदमी पार्टी ने इस खबर के मीडिया में आने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि वो आरोपित पर कार्रवाई करेंगे। कहीं ऐसा तो नहीं ये इस डर से किया गया ताकि सीएम केजरीवाल का नाम मीडिया में न उछले क्योंकि वो अभी जेल से बाहर आएँ हैं। लोग कह रहे हैं कि अगर इस मामले में सीएम का कोई हाथ नहीं है तो उन्हें भी इस संबंध में अपना पक्ष साफ कर देना चाहिए।

ये भी पूछा जा रहा है कि जब स्वाति पर हमला हुआ होगा, तो वो चीखी-चिल्लाई भी होंगी… ऐसे में क्या कोई उनके आसपास नहीं आया। क्या न केजरीवाल वहाँ मौजूद थे और न ही सुनीता केजरीवाल वहाँ मौजूद थीं… अगर दोनों वहीं थे तो उन्होंने उस मामले को वहीं क्यों नहीं सुलझाया और एक महिला के खिलाफ कार्रवाई होता देख एक्शन क्यों नहीं लिया।

सबड़े बड़ी बात और सबसे बड़ा सवाल इस घटना के बाद ये है कि जिस तरह से स्वाति मालीवाल के पूर्व पति नवीन जयहिंद की वीडियो सामने आई है और उन्होंने वीडियो में गंभीर इल्जाम लगाए हैं उसे देखते हुए पूछा जा सकता है कि आखिर नवीन कौन सी साजिश के बारे में बात कर रहे थे। उन्हें क्यों लगता है कि स्वाति की जान को खतरा है। उन्होंने क्यों ये बोला कि संजय सिंह पहले से जानते थे कि ये अटैक होगा, उन्होंने आप सांसद को फटकारते हुए क्यों एक्टिंग बंद करने को कहा। ऐसा क्या है जो नवीन जयहिंद समझ रहे हैं लेकिन मीडिया तक वो बात नहीं खुल पा रही। ऐसे तमाम सवाल हैं जो स्वाति की चुप्पी से उमड़ रहे हैं लेकिन जवाब कहीं से कहीं तक नहीं मिल रहा है। याद रहे स्वाति वही महिला हैं जिन्होंने 2023 में अपने पिता के खिलाफ भी बयान दे दिया था। उन्होंने साफ बताया था कि उनके पिता उनका यौन शोषण करते थे, उन्हें चोटी पकड़ पकड़कर मारते थे।

Leave a Reply