Tuesday, May 28, 2024
Uncategorized

स्मृति ईरानी की खुली चुनौती प्रियंका राहुल को,जरा भी हिमन्त हो तो भाई बहन बहस करे मंच पर,छोटे कांग्रेसी बिलबिलाए

स्मृति ईरानी की चुनौती…..

अमेठी। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बेरोजगारी और महंगाई जैसे देश से जुड़े गंभीर मुद्दों पर नहीं बोलते। इसपर केंद्रीय मंत्री और अमेठी सीट से भाजपा उम्मीदवार स्मृति ईरानी ने प्रियंका गांधी को बहस की चुनौती दी है। उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी अपनी पसंद के टीवी चैनल, एंकर, जगह, समय और मुद्दे चुन लें और बहस करें।

स्मृति ईरानी ने कहा, “मैं उन्हें (प्रियंका गांधी और राहुल गांधी) को चुनौती देती हूं। कोई भी चैनल, एंकर, जगह, समय और मुद्दा चुन लें और भाजपा के साथ बहस करें। दोनों भाई-बहन एक तरफ और बीजेपी का एक प्रवक्ता एक तरफ, दूध का दूध, पानी का पानी हो जाएगा। हमारी पार्टी से सुधांशु त्रिवेदी काफी हैं। उन्हें जवाब मिल जाएगा।”

2019 के लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी से हार गए थे राहुल गांधी

बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी ने उत्तर प्रदेश के अमेठी में कांग्रेस नेता राहुल गांधी को 55 हजार वोटों से हरा दिया था। इससे पहले तक अमेठी को कांग्रेस का गढ़ माना जाता था। 2024 के चुनाव में राहुल गांधी ने केरल के वायनाड के बाद एक और सीट से चुनाव लड़ने का फैसला किया तो उन्होंने अमेठी की जगह रायबरेली चुना। अमेठी से कांग्रेस ने किशोरी लाल शर्मा को टिकट दिया है।

अमेठी और रायबरेली में चुनाव प्रचार अभियान चला रहीं हैं प्रियंका गांधी

प्रियंका गांधी अमेठी और रायबरेली में चुनाव प्रचार अभियान चला रहीं हैं। रायबरेली सीट से सोनिया गांधी चुनाव लड़ती थीं। 2019 में उन्हें यहां से जीत मिली थी। वह राज्यसभा चली गईं हैं। इस बार रायबरेली में राहुल गांधी का मुकाबला भाजपा के दिनेश प्रताप सिंह से है। दिनेश प्रताप 2019 में सोनिया गांधी के खिलाफ रायबरेली के चुनावी मैदान में थे। सोनिया गांधी ने उन्हें 1.6 लाख से अधिक वोटों से हराया था। हालांकि 2014 की तुलना में वोटों का अंतर 13 फीसदी कम हो गया था।

उत्तर प्रदेश में लोकसभा की 80 सीटें हैं। 2014 के आम चुनाव में यहां कांग्रेस मात्र दो सीटें (रायबरेली और अमेठी) जीत पाई थी। 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस यूपी में सिर्फ एक सीट (रायबरेली) जीत पाई।

Leave a Reply