Friday, June 21, 2024
Uncategorized

राहुल गांधी को गलतफहमी दूर हो,प्रेस कोई कांग्रेस पार्टी नही,जो टट्टे सहलाये,माफी तो मांगनी पड़ेगी

राहुल गांधी को गलतफहमी प्रेस के बारे में

 

News18 इंडिया के रिपोर्टर रवि सिसोदिया ने जब सवाल पूछा तो राहुल गांधी बुरी तरह भड़क गए और पत्रकार पर ही सवाल उठा दिए.

नई दिल्ली. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी संसद सदस्यता गंवाने के बाद शनिवार को अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में मीडिया के सवाल पर भड़क गए. News18 इंडिया के रिपोर्टर रवि सिसोदिया ने जब राहुल गांधी से पूछा था, ‘भाजपा का आरोप है कि आपने ओबीसी का अपमान किया है.’ इस सवाल पर राहुल गांधी बुरी तरह भड़क गए और पत्रकार पर ही सवाल उठा दिए. राहुल गांधी के इस रवैये की मुंबई प्रेस क्लब के साथ-साथ विभिन्न पत्रकार संगठनों और नेताओं ने आलोचना की है.

मुंबई प्रेस क्लब ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि प्रेस क्लब कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए एक पत्रकार को अपमानित करने के लिए उनकी निंदा करता है. क्लब ने अपने बयान में कहा, ‘एक पत्रकार का काम सवाल पूछना है और यह प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाने वाले राजनीतिक नेताओं का कर्तव्य है कि पत्रकारों के साथ जुड़कर इन सवालों का गरिमा और मर्यादा के साथ जवाब दें. यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि देश के सबसे पुराने राजनीतिक दलों में से एक के नेता के रूप में, राहुल गांधी चौथे स्तंभ की गरिमा का सम्मान करने में विफल रहे.’ बयान में कहा गया है, ‘इस संदर्भ में, राहुल गांधी के लिए उपयुक्त होगा कि वे संबंधित पत्रकार से माफी मांगें.’

वहीं नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट (NUJIndia) ने भी राहुल गांधी की आलोचना करते हुए ट्वीट किया और कहा, ‘लोकतंत्र की दुहाई देने वाले राहुल गांधी जी सवालों पर बौखलाइए नहीं. जवाब दीजिए, पत्रकारों पर तोहमत न लगाएं. सवाल पूछने का हक मीडिया का भी है. हम इस तरह के व्यवहार की निंदा करते हैं.’

इसके अलावा बीजेपी ने News18 इंडिया के रिपोर्टर के सवाल पर राहुल गांधी की प्रतिक्रिया को उनका ‘अहंकार’ करार दिया और साथ ही सवाल किया कि क्या मीडिया जैसे लोकतांत्रिक संस्थाओं के प्रति राहुल गांधी का यही सम्मान है.

बीजेपी के मुख्य प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य अनिल बलूनी ने कहा, ‘लोकतांत्रिक संस्थाओं के लिए राहुल गांधी का सम्मान इसी तरह का है. वह पिछड़े वर्गों से इतनी घृणा क्यों करते हैं. पत्रकारों द्वारा उनसे ओबीसी के अपमान पर सवाल पूछे जाने से ही वे इतने बौखला गए.’

वहीं बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने दावा किया कि राहुल गांधी प्रश्नों का जवाब देने के लिए तैयार नहीं थे, इसलिए पत्रकार पर ‘अपमानजनक’ टिप्पणी की. उन्होंने दावा किया कि गांधी ने मीडिया के प्रति अवमानना का भाव प्रकट किया है और अपने व्यवहार से उसे नष्ट करने की कोशिश की.

बीजेपी ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने वर्ष 2019 में ‘मोदी सरनेम’ का इस्तेमाल कर ओबीसी समुदाय को अपमानित किया, जिसकी वजह से सूरत की अदालत ने उन्हें मानहानि के मामले में दोषी करार देते हुद दो साल की सजा सुनाई. अदालत से सजा मिलने के बाद राहुल गांधी को लोकसभा की सदस्यता के लिए अयोग्य करार दे दिया गया.

Leave a Reply