Thursday, February 22, 2024
Uncategorized

होटल का बिल भी नही दिया लालू प्रसाद यादव के बेटे ने,फर्जी वीडियो भी वायरल कर दिया

अर्काडिया होटल के मैनेजर संदीप पालित के मुताबिक तेजप्रताप यादव 6 अप्रैल की रात 1.23 बजे अचानक पहुंचे। वीआईपी होने के नाते उनको कमरा दिया गया। तेजप्रताप से पहले ही कह दिया गया था कि 7 और 8 अप्रैल को रूम पहले से ही बुक है। ऐसे में एक दिन ही ठहरने को मिलेगा।

tej pratap yadav

वाराणसी। पिछले दिनों लालू यादव के बेटे और बिहार के पर्यावरण मंत्री तेजप्रताप यादव के बारे में खबर आई थी कि रात को वाराणसी के एक होटल से उनको सामान समेत निकाल दिया गया। तेजप्रताप ने इसकी शिकायत सिगरा थाने पर भी की थी। अब इस मामले में होटल के मैनेजर का पक्ष आया है। अर्काडिया होटल के मैनेजर संदीप पालित ने मीडिया को बताया कि तेजप्रताप यादव ने होटल का पेमेंट नहीं किया। चेकआउट भी नहीं किया। उनको एक दिन के रूम बुकिंग पर ठहरने दिया गया था। दूसरे दिन होटल खाली करने को कहा गया, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। मैनेजर का ये भी कहना है कि कमरे में तेजप्रताप का सामान अब भी रखा हुआ है।

hotel manager sandeep palit
वाराणसी के अर्काडिया होटल के मैनेजर संदीप पालित।

अर्काडिया होटल के मैनेजर संदीप पालित के मुताबिक तेजप्रताप यादव 6 अप्रैल की रात 1.23 बजे अचानक पहुंचे। वीआईपी होने के नाते उनको कमरा दिया गया। तेजप्रताप से पहले ही कह दिया गया था कि 7 और 8 अप्रैल को रूम पहले से ही बुक है। ऐसे में एक दिन ही ठहरने को मिलेगा। 7 बजे तेज प्रताप मंदिर गए। उनके स्टाफ के कहने पर एक दूसरा रूम दिया गया। दोपहर तक रूम खाली नहीं किया गया। फिर रात 8 बजे पहले से रूम बुक करा चुके लोग आ गए। फिर रात में 11 बजे तक भी खाली न करने के बाद उनके स्टाफ ने खुद सामान निकाला और वीडियो बनाया। बाद में तेजप्रताप आए और भड़क गए। जबकि, दोनों पक्षों की सहमति से सामान निकाला गया था।

संदीप के मुताबिक कमरे में तेजप्रताप का सामान अब भी पड़ा है। चेकआउट नहीं किया गया है। साथ ही पेमेंट भी नहीं हुआ है। कई बार आईडी भी मांगी गई, लेकिन बहाने बनाकर वो भी नहीं दिया गया। पालित के मुताबिक तेजप्रताप को 205 नंबर का रूम दिया गया था। बता दें कि तेजप्रताप इस घटनाक्रम के बाद देर रात तक वाराणसी की सड़कों पर गाड़ी में घूमते रहे थे। इस मामले में पुलिस ने भी होटल प्रबंधन से पूछताछ की ।

 

तेज प्रताप ने भी कहा कि उत्तर प्रदेश (यूपी) पुलिस के सामने होटल मैनेजर ने अपनी गलती स्वीकार कर मुझसे माफी मांगी थी। मंत्री ने कमरा खाली करने, होटल प्रबंधक द्वारा गलती स्वीकार करते हुए माफी मांगने, होटल आने के पहले एक कमरे को खाली कराने और होटल महाप्रबंधक द्वारा कमरा खाली नहीं किए जाने के आरोप वाला का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर जारी किया है।
हालांकि, होटल के महाप्रबंधक संदीप ने इससे साफ इनकार किया है। संदीप ने कहा कि सात अप्रैल की रात तेज प्रताप और उनके सहयोगियों से बातचीत के दौरान धक्का लगने से वह गिर गए थे। वह जब खड़े हो रहे थे तो किसी ने वीडियो बनाकर सिर्फ एक हिस्सा प्रसारित कर दिया।

Leave a Reply