Monday, February 26, 2024
Uncategorized

20 मुसलमान तीर्थयात्री जलकर मरे,29 गंभीर

मुस्लिम धर्म में मक्का मदीना बहुत ही पवित्र जगह है. यहां हर साल लाखों लोग जाते हैं. सऊदी राज्य मीडिया ने बताया कि तीर्थयात्रियों को पवित्र शहर मक्का ले जा रही एक बस सोमवार (27 मार्च) को एक पुल से टकरा गई. टक्कर के बाद उसमें आग लग गई, जिसमें 20 लोगों की मौत हो गई और दो दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए.

दक्षिणी प्रांत असीर की घटना इस्लाम के सबसे पवित्र शहर मक्का और मदीना में जाने वालों को ले जाते वक्त हुई. यहां हमेशा यात्रियों को सुरक्षित रूप से ले जाने के दौरान लगातार चुनौतियों का सामना करना पड़ता है.

मरने वालों की संख्या 20 पहुंची 
ये घटना रमजान के पहले सप्ताह के दौरान हुई है. उमर तीर्थयात्रियों के लिए एक व्यस्त समय होता है. इस दौरान सलाना लाखों मुसलमानों हज यात्रा करने की उम्मीद करते है. वही इस यात्रा के शुरू होने के कुछ महीने पहले ये घटना हुई है. राज्य से संबद्ध अल-एखबारिया चैनल ने बताया कि हमें अब जो प्रारंभिक जानकारी मिली है, उसके अनुसार इस दुर्घटना में मरने वालों की संख्या 20 तक पहुंच गई है और घायलों की कुल संख्या लगभग 29 थी. रिपोर्ट के अनुसार बस हादसे में शामिल पीड़ित लोग अलग-अलग देश के रहने वाले है. वहीं ये कौन से देश के रहने वाले है, इसके बारें में कोई जानकारी नहीं दी गई है.

कैसे हुआ हादसा
एक चैनल ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि बस कार से टकरा गई थी, जबकि एक अन्य चैनल ओकाज़ ने कहा कि दुर्घटना ब्रेक फेल होने की वजह से हुई. बस पुल से टकरा कर पलट गई और तेज आग लग गई. अल-एखबारिया पर प्रसारित फुटेज में एक रिपोर्टर को बस के जले हुए खोल के सामने खड़ा दिखाया गया है.

सऊदी अरब के पवित्र स्थलों के आस-पास तीर्थयात्रियों को ले जाना एक खतरनाक काम है, विशेष रूप से हज के दौरान. मदीना में साल 2019 के अक्टूबर में एक बस की टक्कर दूसरी गाड़ी से हो गई थी, जिसमें लगभग 35 विदेशी मारे गए और चार अन्य घायल हो गए थे.

Leave a Reply