Thursday, February 22, 2024
Uncategorized

BREAKING NEWS: अब ममता बनर्जी ने कांग्रेस को बना दिया धोबी का कुत्ता,बड़े नेता माफी मांग रहे ममता से

ममता बनर्जी ने कांग्रेस के लिए अपने दरवाजे बंद कर लिए हैं.

ममता बनर्जी ने साफ कहा कि वह लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ नहीं जाएंगी.

टीएमसी चीफ ने जोर देकर कहा कि उन्हें भारत जोड़ो न्याय यात्रा के बारे में नहीं बताया गया.

टीएमसी के सूत्रों ने कहा कि ममता इंडिया गठबंधन के बारे में नहीं सोच रही हैं.

कोलकाता. टीएमसी चीफ ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने घोषणा की है कि वह लोकसभा चुनाव के लिए पश्चिम बंगाल में कांग्रेस (Congress) के साथ नहीं जाएंगी. उन्होंने जोर देकर कहा कि उन्हें भारत जोड़ो न्याय यात्रा (Bharat Jodo Nyay Yatra) के बारे में नहीं बताया गया था. यह सुनकर कांग्रेस के सभी बड़े नेता तुरंत डैमेज कंट्रोल मोड में आ गए. राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से लेकर जयराम रमेश तक, सभी ने कहा कि ममता बनर्जी विपक्षी इंडिया ब्लॉक का अभिन्न अंग हैं. इन सभी नेताओं ने मीडिया के जरिये ममता से भारत जोड़ो न्याय यात्रा में शामिल होने का अनुरोध किया. लेकिन टीएमसी के टॉप सूत्रों ने न्यूज18 को बताया कि मुख्यमंत्री अपने फैसले पर फिर से विचार करने के मूड में नहीं हैं.

तृणमूल कांग्रेस के सूत्रों ने कहा कि ‘उन्होंने पन्ना पलट दिया है और बंगाल में इंडिया गठबंधन के बारे में कुछ भी नहीं सोच रही हैं. यह मामला अब खत्म हो गया है.’ कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे शुक्रवार को ममता के पास पहुंचे, लेकिन टीएमसी के अंदरूनी सूत्रों ने इस मुलाकात से इनकार किया. बताया गया कि बर्दवान से लौटते समय एक दुर्घटना के बाद सीएम ममता बनर्जी घायल हो गईं. सूत्रों ने कहा कि सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी उन्हें संदेश भेजकर उनके स्वास्थ्य के बारे में पूछा था लेकिन इससे ज्यादा कुछ बातचीत नहीं हुई.

सीट बंटवारे को लेकर बिगड़ा मामला
टीएमसी के अंदरूनी सूत्रों ने कहा कि जब जद (यू) के दिग्गज नेता नीतीश कुमार को ‘इंडिया’ ब्लॉक के संयोजक के रूप में प्रस्तावित किया गया था, तो ममता बनर्जी ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी थी. क्योंकि उन्हें कुछ महसूस हुआ था और उन्होंने गठबंधन के सदस्यों को सचेत भी किया था. उन्होंने यह भी दावा किया कि पहले दिन से ही उन्होंने कहा था कि वे बहरामपुर (अधीर रंजन चौधरी की सीट) और दक्षिण मालदा कांग्रेस को देने के इच्छुक हैं. हो सकता है कि उन्होंने उन्हें तीन सीटों की पेशकश की होती, लेकिन कांग्रेस 10 सीटें चाहती थी.

Leave a Reply