Thursday, February 22, 2024
Uncategorized

(LIVE VIDEO) कांग्रेसियों तुम्हारी अम्मा रोम से आई,भूल गए गुलामो

चुनाव में फिर उठा सोनिया गांधी के विदेशी मूल का मुद्दा
Telangana Election: AIMIM नेता अकबरुद्दीन ओवैसी ने एक कार्यक्रम में कहा कि कांग्रेस पार्टी इटली और रोम से आए नेताओं पर निर्भर है.

Akbaruddin Owaisi On Congress: तेलंगाना में जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहे हैं. वैसे-वैसे राज्य में सियासी पारा लगातार बढ़ता जा रहा है. इसके साथ ही कांग्रेस और ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के बीच जुबानी जंग भी तेज हो गई है. इस बीच AIMIM नेता अकबरुद्दीन ओवैसी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि आपकी पार्टी इटली और रोम से आए नेताओं पर निर्भर है. इतना ही नहीं AIMIM के विधायक ने कांग्रेस सांसद रेवंत रेड्डी की ईमानदारी पर भी सवाल उठाए.

एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अकबरुद्दीन ने कहा, ”कांग्रेस के लोग कहते हैं कि हम महाराष्ट्र से आए हैं और हम बीजेपी की बी टीम हैं. मैं कांग्रेस के गुलामों से पूछता हूं कि तुम्हारी अम्मा (सोनिया गांधी) कहां से आईं. इतना ही नहीं रेवंत रेड्डी भी पहले आरएसएस कार्यकर्ता के रूप में काम करते थे. इसके बाद उन्होंने तेलुगु देशम पार्टी में काम किया. अब वह कांग्रेस के साथ काम कर रहे हैं.”

रेवंत रेड्डी ने असदुद्दीन ओवैसी को बताया था निजाम
उनका यह बयान तेलंगाना कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ए रेवंत रेड्डी के उस बयान पर आया है, जिसमें उन्होंने असदुद्दीन ओवैसी को पहाड़ी पर रहने वाला ‘निजाम’ कहा था. कांग्रेस नेता ने कहा था कि वह देखेंगे कि हैदराबाद संसदीय क्षेत्र किसका है.

‘माननी होगी AIMIM नेतृत्व की बात’
अकबरुद्दीन ने आगे कहा कि जो भी सत्ता में है उन्हें AIMIM नेतृत्व की बात माननी होगी. उन्होंने कहा, “बीआरएस या कांग्रेस जो भी पार्टी तेलंगाना में सत्ता में है, उसे हमारे बात का पालन करना चाहिए और हम जो कहते हैं उसे सुनना चाहिए. वरना हम उन्हें उनकी जगह दिखा देंगे.

एआईएमआईएम के फ्लोर लीडर ने चेतावनी देते हुए कहा कि कांग्रेस नेताओं को एआईएमआईएम पार्टी से दूर रहना चाहिए, नहीं तो वह उन्हें उनकी असली जगह दिखा देंगे.

कांग्रेस से शामिल हुए मुस्लिम नेता
द सियासत डेली की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले एक महीने में कांग्रेस पार्टी में पुराने शहर से नए मुस्लिम नेता शामिल हुए हैं, जिनके शामिल होने से पार्टी नेतृत्व में मुस्लिम समुदाय के प्रभुत्व वाले विधानसभा क्षेत्रों में पैठ बनाने की उम्मीद जगी है.

Leave a Reply