Tuesday, April 16, 2024
Uncategorized

विश्व के सबसे ईमानदार स्वघोषित नेता,50 बार से ज़्यादा यू टर्न 150 से ज़्यादा झूठी कसम,शराब घोटाले का मास्टरमाइंड..?,केजरीवाल हुआ गिरफ्तार

 

अरविंद केजरीवाल को शराब नीति केस में 2 घंटे की पूछताछ के बाद ED ने किया अरेस्ट, SC में आज सुनवाई
ED की टीम गुरुवार शाम 7 बजे केजरीवाल के घर पहुंची. टीम के पास सर्च वारंट था. जांच एजेंसी ने दो सीएम हाउस की तलाशी ली. फिर करीब 2 घंटे दिल्ली के सीएम से पूछताछ की. इसके बाद रात 9 बजे ईडी ने अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार कर लिय

अरविंद केजरीवाल को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने 21 मार्च की रात गिरफ्तार कर लिया. आम आदमी पार्टी (AAP) के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल की ये गिरफ्तारी दिल्ली एक्साइज पॉलिसी केस में हुई है. कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी सहित विपक्ष के कई नेताओं ने CM केजरीवाल की गिरफ्तारी को लेकर मोदी सरकार की निंदा की है. वहीं कवि कुमार विश्वास ने बिना केजरीवाल का नाम लिए X पर तंज कसा है.

CM केजरीवाल की गिरफ्तारी की खबर आने के कुछ ही देर बाद कुमार विश्वास ने X पर पोस्ट किया,

“कर्म प्रधान विश्व रचि राखा । 
जो जस करहि सो तस फल चाखा ॥”

ये PM मोदी को शोभा नहीं देता: प्रियंका गांधी

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने CM केजरीवाल की गिरफ्तारी को असंवैधानिक बताया है. उन्होंने X पर लिखा,

“चुनाव के चलते दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल को इस तरह टार्गेट करना एकदम गलत और असंवैधानिक है. राजनीति का स्तर इस तरह से गिराना न प्रधानमंत्री जी को शोभा देता है, न उनकी सरकार को.

अरविंद केजरीवाल को ED ने गिरफ्तार किया: शराब नीति के बदले ‘साउथ लॉबी’ ने AAP को दिए थे ₹100 करोड़, दिल्ली CM के दफ्तर में रची जाती थी साजिश

दिल्ली के मुख्यमंत्री और AAP (आम आदमी पार्टी) के संयोजक अरविंद केजरीवाल को ED (प्रवर्तन निदेशालय) ने गिरफ्तार कर लिया है। शराब घोटाला के मामले में ED ने ये कार्रवाई की है। AAP के नेता सौरभ भारद्वाज और आतिशी पहले से ही कह रही थीं कि दिल्ली सीएम को गिरफ्तार किया जा सकता है। शराब घोटाला के मामले में दायर चार्जशीट में ED ने अरविंद केजरीवाल को साजिशकर्ता के रूप में नामित किया था। BRS की के कविता का भी इसमें नाम है।

AAP के अन्य नेता पूर्व उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और राज्यसभा सांसद संजय सिंह पहले से ही इस मामले में जेल में हैं। ED ने कहा है कि शराब माफियाओं की एक ‘साउथ लॉबी’ है, जिसे फायदा पहुँचाने के लिए दिल्ली की शराब नीति बनाई गई थी। हालाँकि, बाद में इसे रद्द कर दिया गया। इसके बदले में उक्त ‘साउथ लॉबी’ ने AAP को 100 करोड़ रुपए दिए थे। इस मामले का एक अन्य आरोपित विजय नायर अक्सर अरविंद केजरीवाल के घर जाता था और वहाँ काफी समय गुजारता था

इस मामले के गवाहों और आरोपितों ने अरविंद केजरीवाल का नाम लिया था। शराब कारोबारियों से विजय नायर ने कहा था कि उसने अरविंद केजरीवाल से नई शराब नीति को लेकर विचार-विमर्श किया है। विजय नायर ने ही ‘Indospirit’ के मालिक समीर महेन्द्रू को दिल्ली के CM से मिलवाया था। बैठक असफल रही तो उसने वीडियो कॉल के जरिए दोनों की बात करवाई। इसमें अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि कीजै नायर उनका ‘बच्चा’ है और उस पर उन्हें पूरा विश्वास है।

इसमें एक राघव मगुंटा का नाम भी आया है, जो ‘साउथ लॉबी’ का पहला आरोपित है और अब सरकारी गवाह बन चुका है। उसके पिता YSR कॉन्ग्रेस पार्टी के सांसद हैं। उन्होंने AAP संयोजक से मुलाकात कर के दिल्ली की शराब नीति के बारे में समझा था। मनीष सिसोदिया के पूर्व सेक्रेटरी C अरविंद ने दिसंबर 2022 में अपने एक बयान में कहा था कि एक ‘ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स’ रिपोर्ट के दस्तावेज के आधार पर उन्हें ड्राफ्ट बनाने के लिए कहा गया था, जबकि बैठक में ऐसी कोई चर्चा ही नहीं हुई थी।

Leave a Reply