Thursday, February 22, 2024
Uncategorized

दुनिया का सबसे बड़ा सैक्स स्केंडल; मंत्री का बेटा मास्टर माइंड, नही छोड़ी कोई भी लड़की,इस्लामिक यूनिवर्सिटी की

 

मंत्री का बेटा निकला 5500 लड़कियों के सेक्‍स वीडियो का मास्‍टरमाइंड, खुलासे से हाहाकार

पाकिस्तान के बहावलपुर में स्थित इस्लामिया विश्वविद्यालय के 5500 से अधिक सेक्स वीडियो मामले में पाकिस्तान के केंद्रीय मंत्री शाहबाज शरीफ के बेटे इजाज शाह को मास्टरमाइंड बताया जा रहा है। शाहबाज को बेटे के वीडियो सार्वजनिक होने पर संभावित राजनीतिक नुकसान के बारे में चेतावनी दी गई थी। इजाज विश्वविद्यालय की सैकड़ों छात्राओं का यौन शोषण भी कर रहा था।

पाकिस्तान का नाम यूही बदनाम नहीं है, आतंकवाद से लेकर ड्रग्स और सैक्स स्कैंडल में कई बार इस देश का नाम सुर्खियों में रहा है। लेकिन इस बार मामला ऐसा सामने आया है जिसे सुन आपकी भी टेंशन बढ़ जाएगी। जी हां पाकिस्तान में 5500 कॉलेज छात्राओं के अश्लील वीडियो मिलने की घटना से हड़कंप मच गया है।

मीडिया रिपोटर्स की माने तो इसे दुनियाभर में अब तक का सबसे बड़ा सेक्स स्कैंडल बताया जा रहा है। हजारों लड़कियों को ड्रग का आदी बनाकर फंसाया गया है और फिर इनके वीडियो बनाए गए है। मीडिया रिपोटर्स के अनुसार पाकिस्तान के उच्च शिक्षा आयोग  ने इस्लामिया यूनिवर्सिटी बहावलपुर मामले की जांच के लिए एक उच्चाधिकार प्राप्त समिति बनाने का फैसला किया है।
खबरों के अनुसार वीडियो सामने आने के बाद जब इसकी पड़ताल की गई तो आरोपियों के मोबाइल से कई अश्लील वीडियो और वाट्सएप चैट मिले हैं। मोबाइल से अहम सबूत भी हाथ लगे है। माना जा रहा है कि पाकिस्तान की इस्लामिया यूनिवर्सिटी में ये गंदा खेल कई सालों से चल रहा था। खबरों के अनुसार छात्राओं के सेक्स स्कैंडल के इस पूरे शर्मनाक मामले का कर्ता धर्ता एजाज हुसैन नाम के व्यक्ति को माना जा रहा है। पुलिस को इस सेक्स स्कैंडल की भनक यूनिवर्सिटी के डायरेक्टर फाइनेंस अबू बकर की गिरफ्तारी के बाद लगी है। उन्हें 28 जून को एक लड़की के साथ संदिग्ध हालत में पकड़ा गया था। उनके पास से 10 ग्राम चरस और मोबाइल फोन से हजारों अश्लील वीडियो मिले है।

पाकिस्तानी यूनिवर्सिटी में सेक्स वीडियो का मास्टरमाइंड का खुलासा

पाकिस्तान के बहावलपुर के इस्लामिया विश्वविद्यालय की छात्राओं के 5500 से अधिक सेक्स वीडियो मामले में नया खुलासा हुआ है। पुलिस जांच में पता चला है कि इस स्कैंडल का मास्टरमाइंड पाकिस्तान के केंद्रीय मंत्री का बेटा है। शहबाज शरीफ कैबिनेट में शामिल केंद्रीय मंत्री चौधरी तारिक बशीर चीमा का बेटा इजाज शाह विश्वविद्यालय की लड़कियों को ड्रग्स देकर अश्लील वीडियो रिकॉर्ड करवाता था। यह भी दावा किया गया है कि मंत्री का बेटा विश्वविद्यालय की सैकड़ों छात्राओं का यौन शोषण भी कर रहा था। पुलिस को जांच में विश्वविद्यालय के कर्मचारियों से लगभग 5500 सेक्स वीडियो बरामद किए थे। इस्लामिया यूनिवर्सिटी बहावलपुर का सुरक्षा प्रमुख मेजर इजाज शाह भी इस सेक्स वीडियो कांड में शामिल बताया जा रहा है।

मंत्री ने पुलिस से की थी बेटे को बचाने की सिफारिश

ग्लोबल विलेज स्पेस की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि मंत्री चीमा को उनके बेटे के वीडियो सार्वजनिक होने पर संभावित राजनीतिक नुकसान के बारे में चेतावनी दी गई थी। इसके बाद मंत्री ने उन पुलिस अधिकारियों से संपर्क किया जो उनसे संबंधित थे और कथित तौर पर अपने बेटे को बचाने में उनकी सहायता मांगी। चीमा ने अपने बेटे को बेनकाब होने से बचाने के लिए इजाज शाह की गिरफ्तारी और वीडियो-तस्वीरों को जब्त करने की भी मांग की थी। हालांकि, पुलिस ने इजाज को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। उसके पास से कई कामोत्तेजक गोलियां और दवाएं बरामद हुई थीं। इसके अलावा उसके पास छात्रों और कर्मचारियों की आपत्तिजनक रिकॉर्डिंग और तस्वीरें भी मिली थी।

लड़कियों को सीसीटीवी के वीडियो से करता था ब्लैकमेल

पुलिस ने इजाज के मोबाइल फोन का विश्लेषण करने के बाद कुछ छात्रों को ड्रग्स बेचने और खरीदने के मामले का भी खुलासा किया। जांच से पता चला कि विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले 11 छात्रों का आपराधिक रिकॉर्ड था और वे नशीली दवाओं की तस्करी में शामिल थे। पूछताछ के दौरान इजाज ने खुलासा किया कि उसके पास इस्लामिक विश्वविद्यालय के सिक्योरिटी कैमरों का अवैध एक्सेस था। इसके जरिए वह विश्वविद्यालय की छात्राओं की निगरानी कर रहा था। वह खासकर उन फुटेज को चुराता था, जिसमें छात्राएं अपने प्रेमी के साथ गले लगते हुए, , पेड़ों के नीचे और विश्वविद्यालय की इमारतों के पास दोस्तों के साथ धूम्रपान करते हुए दिखाई देती थीं।

फिर लड़कियों को घर ले जाकर करता था यौन शोषण

फिर इन फुटेज के सहारे वह छात्राओं को ब्लैकमेल करता था। वह धमकी देता था कि उसकी बात नहीं मानी गई तो वह फुटेज उनके माता-पिता तक पहुंचा देगा। ग्लोबल विलेज स्पेस की रिपोर्ट में कहा गया है कि इजाज कथित तौर पर डरी हुई छात्राओं को अपने गिरोह के सदस्यों के घरों में ले जाता था, जहां उनका यौन शोषण होता था। पुलिस ने विश्वविद्यालय के वित्त निदेशक अबू बकर और परिवहन प्रभारी मुहम्मद अल्ताफ को भी गिरफ्तार कर लिया। इस्लामिया यूनिवर्सिटी बहावलपुर के कुल तीन स्टाफ सदस्यों को हिरासत में लिया गया है। अल्ताफ के कब्जे से आठ ग्राम मेथ (नशीला पदार्थ) बरामद किया गया था।

 

शिक्षकों का एक गुट भी बेचता था ड्रग्स

डॉन ने पुलिस की एक विशेष रिपोर्ट के आधार पर खुलासा किया है कि बहावलपुर के इस्लामिया विश्वविद्यालय में शिक्षकों का एक समूह भी नशीली दवाओं की बिक्री और छात्राओं और महिला शिक्षकों के यौन शोषण में शामिल था। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि फाइनेंस डायरेक्टर ने कबूल किया है कि वह अन्य शिक्षकों के साथ छात्रों के माध्यम से ड्रग्स खरीदते थे और उन्हें बाद में बेचा करते थे। इस दौरान डांस और सेक्स पार्टियों की व्यवस्था भी की जाती थी। पुलिस ने आगे खुलासा किया कि “शिक्षकों का समूह” लड़कियों का शोषण/ब्लैकमेल करता था, उन्हें नशीली दवाएं खिलाकर नशा देता था।

 

Leave a Reply