Tuesday, September 26, 2023
Uncategorized

सुनिए कैसे फंसाया लव जिहाद में,अम्मी अब्बा बहने भी शामिल,अब अब्बा भी सेक्स चाहता है

महिला का आरोप है कि वसीम ने उससे कहा कि उसने अन्य हिंदू लड़कियों को फँसा रखा है। साथ ही, उसके साथ जो हो रहा था वह बताने पर उसका हाल श्रद्धा जैसे ३६ टुकड़े करने की धमकी दी थी। पीड़िता ने कहा कि वे कहते थे कि ‘हमें तो कत्ल करने की आदत’ है।

उत्तर प्रदेश के हापुड़ में एक महिला ने दिल्ली पुलिस के कॉन्स्टेबल वसीम पर लव जिहाद, धर्मांतरण और यौन शोषण का आरोप लगाया है। महिला का आरोप है कि वसीम बीते ११ सालों से उसका बलात्कार कर रहा था। इस दौरान वसीम के भाई आरिफ ने भी उसके साथ कई बार बलात्कार किया। पीड़िता ने यह भी कहा है कि वसीम ने उसे श्रद्धा जैसा हाल करने की धमकी दी थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पीड़िता का कहना है कि वह साल २०११ में पढ़ाई के लिए दिल्ली आई थी। यहाँ वह लाजपत नगर के एक फ्लैट में अपने परिवार के साथ रहती थी। उसी बिल्डिंग में दिल्ली पुलिस के कॉन्स्टेबल वसीम और उसका परिवार भी रहता था। वसीम की माँ जमीला उससे मीठी-मीठी बातें करते हुए इस्लाम की तारीफ किया करती थी।

पीड़िता का कहना है कि एक दिन वह वसीम की अम्मी जमीला उसे अपने घर ले गई। वहाँ जमीला ने उसे सेवई खाने के लिए दी। सेवई को खाने के बाद उसे नशा हो गया गया। इसके बाद वसीम ने उसका बलात्कार किया। जब उसे होश आया तो जमीला उस पर वसीम से निकाह करने का दबाव बनाने लगी।

पीड़िता ने आगे कहा है कि जब उसने धर्म अलग होने की बात कहकर निकाह करने से इनकार किया तो वसीम और जमीला उसे धमकाने लगे। साथ ही उसके इकलौते भाई को जान से मारने की बात कही। इसके बाद वसीम के परिवार ने उसका कई बार शोषण किया। २८ दिसंबर २०१२ को वसीम से उसका जबरन निकाह करा दिया गया।

पीड़िता ने कहा है कि उसके घरवालों को जब इस बारे में पता चला तो वे बदनामी के डर से घर छोड़कर कहीं और रहने लगे। निकाह के बाद वसीम और उसके घरवालों ने उससे कई कागजों पर साइन कराए। इसके बाद उसका नाम बदलकर इकरा अहमद कर दिया गया। वसीम और उसके घर वाले आए दिन उसे यातनाएँ देते थे।

पीड़िता ने आरोप लगाया कि अप्रैल २०१५ में उसने एक बेटे को जन्म दिया। बेटे के जन्म के बाद वसीम का अत्याचार और बढ़ गया। वसीम उसे पाउडर और नशीली दवाएँ खिलाता था और उसके साथ अप्राकृतिक यौन संबंध बनाता था। पीड़िता का आरोप है कि वसीम के कहने पर उसका भाई आरिफ भी उसका बलात्कार करता था। मना करने पर उसे मारा-पीटा जाता था।

महिला का आरोप है कि वसीम ने उससे कहा कि उसने अन्य हिंदू लड़कियों को फँसा रखा है। साथ ही, उसके साथ जो हो रहा था वह बताने पर उसका हाल श्रद्धा जैसे 36 टुकड़े करने की धमकी दी थी। पीड़िता ने कहा कि वे कहते थे कि ‘हमें तो कत्ल करने की आदत’ है। जमीला कहती थी कि ‘हमारे यहाँ जब हिंदू लड़कियों से मन भर जाता है तो उसे ऐसे ही काट दिया जाता है। अभी तो मेरा बेटा कई हिंदू लड़कियों से शादी करेगा’।

महिला का कहना है कि वह वसीम और उसके परिवार की ११ साल तक यातनाएँ सहती रही। ११ मई को वसीम ने उसकी बुरी तरह से पिटाई की और अपनी सर्विस रिवॉल्वर की डोरी से उसका गला घोंटकर मारने की कोशिश की। वह १२ मई २०२३ को किसी तरह वहाँ से भागकर हापुड़ अपने दादा के पास आई और वसीम व उसके परिवार वालों के खिलाफ शिकायत दी।

यूपी की हापुड़ पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए सोमवार (२९ मई २०२३) को FIR दर्ज की। पीड़िता की शिकायत के आधार पर पुलिस ने वसीम, सास जमीला, ससुर कयूम अली, देवर इमरान, आरिफ, अजहरुद्दीन और शाहिद को आरोपित बनाया है। इस मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

Leave a Reply