Monday, June 24, 2024
Uncategorized

ये दो सांसद छोड़ेंगे इंडी ठगबंधन,राहुल गांधी को बताया बद्तमीज और बददिमाग,घमंडी

कांग्रेस से नाराज बताए जा रहे हैं ये सांसद

हनुमान बेनीवाल और राजकुमार रोत

लोकसभा चुनाव के नतीजे आए अभी 72 घंटे ही बीते हैं. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) अपने सहयोगियों के साथ मिलकर सरकार बनाने की कवायद में लगी हुई है. वहीं कांग्रेस को उसकी सहयोगी पार्टियां अभी से आंख दिखाने लगी हैं. राजस्थान में कांग्रेस की सहयोगी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) और भारतीय आदिवासी पार्टी (BAP) ने मीटिंग में न बुलाए जाने पर नाराजगी जाहिर की है. आदिवासी पार्टी के इकलौते सांसद के एनडीए को समर्थन करने की भी चर्चा है.

दरअसल, राजस्थान में कांग्रेस ने हनुमान बेनीवाल की पार्टी आरएलपी के साथ गठबंधन किया था. बदले में नागौर की सीट हनुमान बेनीवाल को दी गई थी. इस सीट से बेनीवाल जीत गए. नतीजों के बाद इंडिया की बैठक में हनुमान बेनीवाल को बुलाया नहीं गया. इससे वह नाराज हो गए. उनका कहना है कि राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) और मुझे नजरअंदाज किया जा रहा है, इस कारण मेरी इंडिया गठबंधन से नाराजगी है, लेकिन मैं बीजेपी के साथ भी नहीं जा रहा हूं.
बीजेपी छोड़कर कांग्रेस के साथ आए हैं बेनीवाल

इंडिया गठबंधन का हिस्सा बनने से पहले आरएलपी का गठबंधन का बीजेपी के साथ था. 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने आरएलपी के लिए नागौर सीट छोड़ी थी. इस सीट से हनुमान बेनीवाल चुनाव लड़े और जीते थे, लेकिन कृषि कानूनों को लेकर उनकी बीजेपी के साथ अनबन हो गई. 2020 में हनुमान बेनीवाल ने बीजेपी का साथ छोड़ दिया था. 2023 के विधानसभा चुनाव में आरएलपी ने चंद्रशेखर रावण की पार्टी से गठबंधन किया था, लेकिन कोई कामयाबी न मिली थी.
BAP भी कांग्रेस से नाराज

2024 में हनुमान बेनीवाल ने कांग्रेस के गठबंधन कर लिया और बदले में मिली नागौर सीट से जीत हासिल की, लेकिन इंडिया गठबंधन की बैठक में नहीं बुलाए जाने से वह नाराज हैं. ठीक इसी तरह भारतीय आदिवासी पार्टी (BAP) भी नाराज है. 2024 के लोकसभा चुनाव में बांसवाड़ा सीट पर कांग्रेस ने BAP का समर्थन किया था. नतीजा यह रहा है कि BAP के राजकुमार रोत करीब 2.5 लाख वोटों से जीतकर संसद पहुंच गए.

 

Leave a Reply