Monday, March 4, 2024
Uncategorized

BREAKING news:दाऊद इब्राहिम के खास को गोलियां मारी,लाश फेंकी नदी में,मालूम नही किसने

दाऊद इब्राहिम की सुरक्षा डबल
पाकिस्तान ने तैनात किए कमाण्डो

पाकिस्तान में छिपे भारत के मोस्ट वांटेड आतंकियों और उनके सहयोगियों को चुन-चुनकर खत्म किया जा रहा है। पड़ोसी मुल्क में इस साल भारत के कई दुश्मन मारे जा चुके हैं। अब इस कड़ी में 23 अक्तूबर को दाऊद इब्राहिम की ‘डी कंपनी’ का एक गुर्गा मारा गया है। मोहम्मद सलीम, कराची की दिल्ली कॉलोनी का रहने वाला था। सलीम की हत्या करने के बाद उसकी बॉडी, दरगाह अली शाह सखी सरमस्त के निकट ल्यारी नदी में फेंक दी गई। पुलिस स्टेशन, ल्यारी ने सलीम की बॉडी को नदी से बरामद किया है। पिछले सप्ताह दाऊद मलिक, जिसे वैश्विक आतंकी संगठन ‘जैश-ए-मोहम्मद’ के सरगना मसूद अजहर का करीबी बताया जाता है, वह पाकिस्तान के उत्तरी वजीरीस्तान में मारा गया था।

पिछले दिनों पाकिस्तान में मारे गए ये टॉप आतंकी …
गत दिनों शाहीद लतीफ, जिसे पठानकोट हमले का मास्टर माइंड बताया जाता है, वह मारा गया था। दूसरा आतंकी और आईएसआई का एजेंट मुल्ला बाहौर उर्फ होर्मुज था, वह भी पाकिस्तान के भीतर अज्ञात लोगों की गोली का शिकार हो गया था। इसके बाद पिछले सप्ताह दाऊद मलिक मारा गया। उसे वैश्विक आतंकी संगठन ‘जैश-ए-मोहम्मद’ के सरगना मसूद अजहर का करीबी बताया जाता है। ‘जैश-ए-मोहम्मद’ के अलावा दाऊद मलिक, लश्कर-ए-जब्बर और लश्कर-आई-जांगवी से भी जुड़ा हुआ था। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मसूद अजहर, हाफिज सईद, लखवी और दाऊद इब्राहिम जैसे दहशतगर्दों को यूएपीए के तहत आतंकी घोषित किया गया है।
बालाकोट एयर स्ट्राइक में बच गया था मलिक …
दाऊद मलिक, पाकिस्तान के उत्तरी वजीरीस्तान में मारा गया था। वह अज्ञात लोगों की गोली का निशाना बना। सूत्रों का कहना है कि इस साल पाकिस्तान में मौजूद भारत के कई मोस्ट वांटेड आतंकी मारे जा चुके हैं। इतना ही नहीं, भारत के मोस्ट वांटेड आतंकियों के मारे जाने का सिलसिला, केवल पाकिस्तान में ही नहीं, बल्कि दुनिया के दूसरे मुल्कों में भी चल रहा है। पुलवामा हमले के बाद जब भारतीय सेना ने बालाकोट पर एयर स्ट्राइक की थी तो उस वक्त दाऊद मलिक की वहां पर उपस्थिति बताई जाती है। हालांकि, बाद में ऐसी जानकारी सामने आई थी कि उस हमले में दाऊद मलिक बच निकला था। ये सभी आतंकी, आईएसआई की हिफाजत में रहते हैं। दुनिया की आंखों में धूल झोंकने के लिए पाकिस्तान, इन आतंकियों को लेकर नए पैंतरे चलता रहता है। शंघाई सहयोग संगठन की बैठक से पहले पाकिस्तान ने कहा था कि मौलाना मसूद अजहर, अफगानिस्तान में है। उसकी गिरफ्तारी के लिए अफगानिस्तान को चिट्ठी लिखी गई है।

 

Leave a Reply