Friday, May 24, 2024
Uncategorized

पति और 4 बच्चे मार डाले,गला काट कर,कारण आपका दिमाग घुमा देगा

राजस्थान की अलवर कोर्ट ने इश्क में अधी हुई ताइक्वांडो प्लेयर संतोष शर्मा को दोषी मान लिया है। कैसे उसने आशिकी में अपने पति के साथ अपने चार मासूम बच्चों की हत्या करवा दी। वह अपने से 11 साल छोटे प्रेमी से प्यार का वादा जो कर चुकी थी।

अलवर (राजस्थान). अपने से 11 साल छोटी प्रेमी के लिए इस महिला ने अपने पति, तीन बेटों और एक भतीजे की गला काटकर हत्या कर दी। अक्टूबर 2017 में इस महिला ने यह कारनामा किया और इसका साथ इसके प्रेमी ने भी दिया। महिला का नाम संतोष शर्मा है और काम ऐसा किया है की भूचाल मचा दिया । संतोष शर्मा ताइक्वांडो की प्लेयर हैं और कोच है ।

प्यार में अंधी होकर बहा दी थीं खून की नदियां

Subscribe to get breaking news alerts

कोचिंग के दौरान ही उसकी मुलाकात अपने से 11 साल छोटे हनुमान प्रसाद जाट उर्फ जैकी से हुई थी। उसके बाद इतना तगड़ा प्रेम-प्रसंग हुआ कि उसके साथ रहने के लिए इस महिला ने खून की नदियां बहा दी । जिनके गले काटे वह खुद के अपने थे और जिसके लिए गले काटे वह पराया था। अलवर पुलिस ने इस पूरे घटनाक्रम को कोर्ट में रखा और कोर्ट ने करीब 6 साल तक सुनवाई की सुनवाई के बाद आज इस महिला को दोषी पाया गया है और कल इसके खिलाफ सख्त सजा सुनाने की तैयारी की जा रही है। सबसे बड़ी बात यह है कि संतोष शर्मा को अपने किए पर कोई पछतावा नहीं है।

आपको बताते हैं क्या हुआ था अक्टूबर 2017 में उस रात

2 अक्टूबर की रात संतोष ने रात को 1:00 बजे अपने घर का मुख्य दरवाजा खोला था। उसके बाद उसका प्रेमी जैकी , जैकी का दोस्त दीपक और 19 साल का कपिल भी वहां आया। संतोष ने पूरी प्लानिंग के तहत पति और बच्चों के लिए जो खाना बनाया था उसमें हल्के नशा मिला दिया था। सबसे पहले चारों ने मिलकर पति बनवारी लाल शर्मा का गला काट दिया । पुलिस को पता चला कि बनवारी लाल शर्मा का गला खुद संतोष शर्मा यानी उसकी पत्नी ने काटा था । उसके बाद मां ने अपने प्रेमी और उसके दोस्त के साथ मिलकर 17 साल के मोहित , 15 साल के हैप्पी और 12 साल के अज्जू को भी मार दिया । तीनों के गले मा ने अपने हाथ से काट डाले । वह यहीं नहीं रुकी पास ही 10 साल का उसका भतीजा निक्की भी सो रहा था निक्की की भी हत्या कर दी गई। यह सब कुछ तय प्लानिंग के अनुसार किया गया था । कहीं भी कोई निशान नहीं आए इसके लिए पहले ही दस्ताने खरीद लिए गए थे ।

हत्यारिन बार-बार एक ही बात कहती रही

पुलिस को जब सूचना मिली तो पुलिस ने कुछ ही दिनों में चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस का कहना था कि संतोष शर्मा हर बार यही कहती रही कि वह बेकसूर है । जैकी और उसके साथियों ने मिलकर ही परिवार की हत्या की और उस पर भी हमला करने की कोशिश की। लेकिन जब पुलिस ने उससे पूछा कि जैकी और बनवारीलाल शर्मा के बीच में क्या खुन्नस थी तो इसका जवाब वह नहीं दे सकी ।

अब कल हो सकती है चारों को फांसी की सजा

पिछले 6 साल के दौरान कई बार ट्रायल हुए और कोर्ट ने सभी पक्षों को सुना । आज चारों आरोपियों को कोर्ट ने दोषी मान लिया है और कल सजा पर फैसला होगा । सरकारी वकील ने चारों लोगों के लिए फांसी की मांग की है। 2 अक्टूबर 2017 को हुए इस जघन्य हत्याकांड की पूरे राजस्थान में कई दिनों तक चर्चा रही थी ।एक मां और पत्नी का यह रूप देखकर हर कोई शॉक्ड था।

Leave a Reply