Thursday, July 18, 2024
Uncategorized

विधायक की बेटी फिर पहुंच गई थाने

बरेली में ड्राइवर से लव मैरिज करके सुर्खियों में रहीं पूर्व बीजेपी विधायक पप्पू भरतौल उर्फ राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा फिर से चर्चा में हैं….

बरेली. बरेली में ड्राइवर से लव मैरिज करके सुर्खियों में रहीं पूर्व बीजेपी विधायक पप्पू भरतौल उर्फ राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा एक बार और चर्चा में आ गई हैं. उन्होंने अपने ससुरालियों पर दहेज में कार और 10 लाख रुपये की मांग पूरी न करने पर मारपीट का आरोप लगाया है. साक्षी ने एसएसपी ऑफिस पहुंचकर न्याय की गुहार लगाई है.

बता दें, करीब चार साल पहले बिथरी चैनपुर के तत्कालीन भाजपा विधायक की बेटी साक्षी मिश्रा ने इज्जतनगर थाना क्षेत्र के वीर सावरकर नगर निवासी दलित युवक अजितेश कुमार से प्रेम विवाह किया था. साक्षी का आरोप है कि ससुरालीजन कहते थे कि अभी उसके विधायक पिता नाराज चल रहे हैं, लेकिन धीरे-धीरे उनकी नाराजगी दूर हो जाएगी. साक्षी को उनकी चल-अचल संपत्ति भी मिल जाएगी. उसके बाद जब विधायक पिता ने काफी समय तक बेटी से बात नहीं की तो सौतेली सास, ससुर, जेठ, जेठानी और ननद ने उसका उत्पीड़न शुरू कर दिया.

दहेज में कार और 10 लाख रुपये की मांग
आरोप है कि जब साक्षी 8 माह की गर्भवती थी तो उसे ताने दिए जाने लगे कि उसके पिता अब विधायक नहीं हैं, इसलिए वह उनका कुछ नहीं कर सकते. साक्षी ने आरोप लगाया है कि 18 फरवरी को जिस वक्त उसके सुरक्षाकर्मी खाना खाने गए तो उसके ससुरालियों ने कार और 10 लाख रुपये की डिमांड की. साक्षी के इनकार करने पर उसके साथ मारपीट की गई. इस मामले में 19 फरवरी को साक्षी ने इज्जतनगर थाने में ससुरालियों के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की. कोई कार्रवाई नहीं होने पर अपने पति अजितेश के साथ एसएसपी कार्यालय पहुंचकर इंसाफ की गुहार लगाई है.

वहीं साक्षी मिश्रा ने अपने शिकायती पत्र में बताया कि जब उसने एक बच्चे को जन्म दिया तो उसके ससुरालवालों ने उस मासूम को नाजायज बताया. साथ ही अपने जेठ पर गलत नीयत रखने का भी आरोप लगाया है. साक्षी ने शिकायती पत्र के माध्यम से अपने ससुर, सौतेली सास, जेठ-जेठानी और ननद के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

साक्षी मिश्रा ने न्यूज 18 को बताया, ‘मेरे ससुरालवाले मुझे घर से निकालना चाहते हैं. वो घर से निकालने के लिए घर से प्रत्यक्ष रूप से कुछ नहीं करते लेकिन अप्रत्यक्ष रूप से कभी थाने में मेरी झूठी शिकायत करते हैं. 18 फरवरी को मेरे पति अजितेश के चाचा और बड़े भाई ने दारू पीकर मुझसे बदतमीजी की. उस समय अजितेश भी घर पर नहीं थे. आए दिन बोलते हैं कि मैंने घर पर कब्जा कर रखा है. अजितेश की तीनों भाई-बहन उनके पक्ष में हैं.’

अजितेश ने कहा, ‘हमें कई तरह से प्रताड़ित किया जा रहा है. कभी बिजली का तार कटवा देना, आए दिन कोई न कोई आरोप लगाना. 18 फरवरी को मेरी गैरमौजूदगी में मेरी पत्नी साक्षी के साथ जो भी हरकत की, वो बर्दाश्त से बाहर थी. इसलिए हमने शिकायत की है.’

.

Leave a Reply