Monday, March 4, 2024
Uncategorized

सनसनीखेज खुलासा: करणी सेना मुखिया हत्याकांड में,मुख्यमंत्री के बेटे का नाम

श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या की जिम्मेदारी लेने वाले गैंगस्टर रोहित गोदारा ने एक नया फेसबुक पोस्ट लिखा है. इसमें उसने कथित रूप से गोगामेड़ी की हत्या की असली वजह बताई है. उसका दावा है कि किसी मामले में डिस्ट्रीब्यूशन को लेकर गोगामेड़ी से उसका विवाद हुआ था. इस मामले में राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव भी शामिल थे. इसके साथ ही उसने लिखा है कि इस वारदात के वक्त मारे गए नवीन सिंह शेखावत की कुर्बानी बेकार नहीं जाएगी.

लॉरेंस बिश्नोई गैंग के रोहित गोदारा ने लिखा है, ”राम राम सभी भाईयों को मैं रोहित गोदारा कपूरीसर गोल्डी बरार. जैसा कि आपको पता है कि सुखदेव गोगामेड़ी की हत्या की जिम्मेदारी हम पहले ले चुके हैं. हमारा भाई मौके पर स्वर्गीय नवीन सिंह शेखावत शहीद हुआ है. इस बलात्कारी, अहंकारी और जातिवाद के नाम पर पॉलिटिक्स करने वाले लालची कुत्ते को मारते हुए हमारे अजीज भाई की कुर्बानी हुई है. उसकी दिलेरी को हम सलाम करते हैं. उसे हम हमेशा याद रखेंगे. हमारा जो फर्ज है, उसे निभाएंगे.”

रोहित गोदारा ने आगे लिखा है, ”भाईयों इसको मारने का कारण ये है कि इससे हमारी डिस्ट्रीब्यूशन के एक मैटर को लेकर बात हुई थी. इस मैटर में हमें पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत ने इन्वॉल्व कराया था. वैभव हमसे हिस्सा लेता था. सारी एक्सटॉर्शन मनी का. इस बात का सबूत हमारे पास कॉल रिकॉर्डिंग में है. इसके साथ ही कई महत्वपूर्ण नाम भी इस मामले से जुड़े हुए हैं. यह बात हम इसलिए शेयर कर रहे हैं क्योंकि वो हमारे दुश्मन सिद्धू मूसेवाला के भी टच में था.”

हत्या के बाद लिखा था- दुश्मन चौखट पर अपनी अर्थी तैयार रखें!

गोगामेड़ी की हत्या के बाद रोहित गोदारा का एक पोस्ट वायरल हुआ था. उसने लिखा था, “राम राम, सभी भाइयों को मैं रोहित गोदारा कपूरीसर, गोल्डी बराड़. भाइयों आज यह जो सुखदेव गोगामेड़ी की हत्या हुई है, इसकी संपूर्ण जिम्मेदारी हम लेते हैं. यह हत्या हमने करवाई है. भाइयों मैं आपको बताना चाहता हूं कि ये हमारे दुश्मनों से मिलकर उनका सहयोग करता था. उनको मजबूत करने का काम करता था. रही बात दुश्मनों की, तो वह अपने घर की चौखट पर अपनी अर्थी तैयार रखें. जल्दी उनसे भी मुलाकात होगी.”

सोशल मीडिया एप के जरिए गैंग के गुर्गों से संपर्क में गोदारा

लॉरेंस बिश्नोई गैंग का खूंखार गुर्गा रोहित गोदारा बीकानेर जिले के लूणकरणसर का रहने वाला है. साल 2010 से ही वो जरायम की दुनिया में सक्रिय है. छोटे-मोटे अपराध करने के बाद वो लॉरेंस के संपर्क में आया था. इसके बाद उसकी गैंग में शामिल होकर आपराधिक गतिविधियों को अंजाम देने लगा. पुलिस का शिकंजा जब कसा तो वो साल 2022 में दिल्ली से फर्जी पासपोर्ट बनवाकर दुबई भाग गया. वहां से सोशल मीडिया एप के जरिए गैंग के गुर्गों के साथ जुड़ा रहता है. विदेश में बैठे हुए उनको सुपारी देता है.

crime

गोदारा के खिलाफ इंटरपोल ने जारी किया है रेड कॉर्नर नोटिस

रोहित गोदारा के खिलाफ इंटरपोल ने रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया हुआ है. वो दुबई में रहकर लॉरेंस बिश्नोई और उसके दोस्त गोल्डी बराड़ के इशारे पर आपराधिक गतिविधियों को अंजाम देता है. इसी साल जून में उसने बीकानेर के एक ज्वेलर्स से पांच करोड़ रुपए की रंगदारी मांगी थी. इसके साथ ही धमकी दी थी कि पैसे नहीं मिलने पर वो कारोबारी को गोली मार देगा. ये भी कहा था कि उसे दो हजार गुर्गे इस वक्त बीकानेर में मौजूद हैं. ज्वेलर्स ने इतने पैसे देने में असमर्थता जताते हुए नयाशहर थाने में केस दर्ज करवाई थी.

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के घर में घुसकर हत्यारों ने मारी गोली

बताते चलें कि मंगलवार की दोपहर जयपुर में श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी अपने घर पर कुछ लोगों के साथ बैठे हुए थे. उसी वक्त एसयूवी कार में सवार कुछ लोग आए. गोगामड़ी की सहमति के बाद सिक्योरिटी ने उन्हें अंदर जाने दिया. आरोपियों ने कुछ देर बैठने के बाद उनके उपर गोलियां चलानी शुरू कर दी. आसपास के लोग इधर-उधर भागे, लेकिन बदमाश सुखदेव सिंह को निशाना बनाकर फायरिंग कर रहे थे. उन्हें एक के बाद एक चार गोलियां लगी, जिसमें उनकी मौत हो गई.

Leave a Reply