Thursday, July 18, 2024
Uncategorized

शंकराचार्य ने बताया असल कारण,अब कांग्रेस क्या करेगी

अयोध्या के भव्य राम मंदिर में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा में शामिल नहीं हो रहे शंकराचार्य को लेकर उठे विवाद पर शरदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी सदानंद सरस्वती ने इंडिया टीवी से खुलकर बात की। उन्होंने दावा किया कि कोई भी शंकराचार्य नाराज नहीं है। हम व्यवस्थाओं की वजह से समारोह में नहीं जा रहे हैं। बाद में श्री रामलला के दर्शन के लिए जरूर जाएंगे। उन्होंने कहा कि सबकी एक मर्यादा होती है और उनके शिष्य भी अयोध्या जाते। इतनी भीड़ में शंकराचार्य का जाना उचित नहीं था। उन्होंने देश के लोगों से कहा कि सभी राम भक्तों को प्राण प्रतिष्ठा में जाना चाहिए।

विपक्ष को दिया करारा जवाब

चारों पीठ के शंकराचार्य के अयोध्या नहीं जाने के विपक्ष नेताओं के बयान को लेकर उन्होंने कहा कि विपक्षी नेताओं को नहीं जाना है। इसलिए वे हमारी आड़ ले रहे हैं। शंकराचार्य के राम पर राजनीति नहीं होना चाहिए। प्राण प्रतिष्ठा में किसी तरह का विध्न नहीं आएगा। प्रभु जब विराजेंगे वही घड़ी शुभ है। प्राण प्रतिष्ठा का मुहुर्त निकालने वाले विद्धान लोग हैं। मुहुर्त पर पहले विचार किया जाता तो ठीक रहता। अब मुहुर्त पर विचार करने का समय नहीं है।

सुनें पूरा इंटरव्यू

पीएम मोदी ठीक कर रहेः शंकराचार्य

स्वामी सदानंद सरस्वती ने कहा कि राम लला की प्राण प्रतिष्ठा प्रसन्नता का विषय है। 500 साल से इस घड़ी का इंतजार था। पीएम मोदी ने वृत शुरू कर दिया है। प्रधानमंत्री को जो करना चाहिए वो मोदी कर रहे हैं।

Leave a Reply