Monday, June 24, 2024
Uncategorized

आलू उर्फ़ केजरीवाल का नाम तक नही लिया,स्वाति मालीवाल ने,पुराने संबंधों का लिहाज या……

मालीवाल पहले बोली थी कि केजरीवाल ने खड़े होकर पिटवाया,लेकिन एक फोन बाद ही तोते उड़ गए,केजरीवाल का नाम तक लेने से

नई दिल्ली: दिल्ली मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (AAP) सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल के पर्सनल सेक्रेट्री (PS) के खिलाफ स्वाति मालीवाल ने आखिरकार FIR दर्ज करवा दी है। उन्होंने अपने साथ सीएम हाउस में हुई मारपीट के 81 घंटे बाद 2.5 पेज की शिकायत पुलिस को दी है। अपनी शिकायत में उन्होंने बताया कि विभव ने उनके चेहरे, पेट और छाती पर 5-6 बार प्रहार किया।
दिल्ली महिला आयोग (DCW) की पूर्व अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने पुलिस को दी अपनी शिकायत में बताया है कि, “मैं सीएम आवास के ड्रॉइंग रूम तक गई और वहाँ उनकी (केजरीवाल की) प्रतीक्षा कर रही थी, तभी उनका पर्सनल स्टाफ आया और गालियाँ बकने लगा। बिना किसी उकसावे के उसने मुझे थप्पड़ मारा। मैंने शोर मचाया और कहा कि मुझे छोड़ दो, जाने दो। मगर वह मारता रहा।” स्वाति ने बताया है कि, विभव ने उनके संवेदनशील अंगों पर भी मारा। कुमार ने उन्हें थप्पड़ मारा, लात मारी, छड़ी से पीटा और पेट में भी मारा।
AAP की राज्यसभा सांसद के मुताबिक, पर्सनल स्टाफ उन्हें गालियाँ बकता रहा, धमकियाँ देता रहा और उसने ‘देख लेंगे, निपटा देंगे’ जैसे शब्द भी कहे। मालीवाल ने बताया है कि, इसके बाद वो भाग कर बाहर आईं और पुलिस को फोन किया। उनकी इस शिकायत के बाद स्पेशल सेल की टीम ने सुरक्षा व्यवस्था समेत कई मुद्दों पर स्वाति मालीवाल के चर्चा की। स्पेशल सेल के एडिशनल कमिश्नर प्रमोद कुशवाहा खुद मालीवाल के घर उनके बयान रिकॉर्ड करने के उनके घर पहुँचे थे। पुलिस लगभग 4 घंटे उनके घर पर रही।
पूरी बात सुनने समझने के बाद पुलिस ने स्वाति मालीवाल के बयान के आधार पर केजरीवाल के PS विभव कुमार पर IPC की धारा 354, 506स 509, 323 और अन्य धाराओं के तहत FIR दर्ज की, फिर उन्हें मेडिकल के लिए AIIMS लेकर आया गया। वहाँ उनका चेक अप किया गया। रात में 3 बजे जब वो घर लौटीं, तो एक वीडियो सामने आई इसमें वह अपने घर में लड़खड़ाते हुए घुसती हुई नज़र आईं।
FIR दर्ज करने के बाद नॉर्थ डिस्ट्रिक की पुलिस टीम और क्राइम ब्रांच की पूरी 10 टीमें मामले की छानबीन में जुट गईं है। इस क्रम में एक टीम विभव से पूछताछ के लिए उनके आवास पर पहुँची। लेकिन विभव वहां नहीं थे। विभव को 16 मई को केजरीवाल के साथ लखनऊ हवाई अड्डे पर देखा गया था। जबकि, 15 मई की शाम को AAP सांसद संजय सिंह ने कहा था कि, केजरीवाल ने स्वाति के साथ हुई बदसलूकी का संज्ञान लिया है और वे विभव कुमार पर एक्शन लेंगे। लेकिन इसके ठीक अगले दिन केजरीवाल एक्शन लेना तो दूर, अपने PS को लेकर अखिलेश यादव से मिलने जा पहुंचे और वहां प्रेस वार्ता भी की। प्रेस वार्ता में जब केजरीवाल से स्वाति के बारे में सवाल किया गया, तो वे असहज नज़र आए, जैसे उनके पास जवाब ही न हो। फिर उन्होंने माइक अखिलेश यादव की तरफ खिसका दिया। अखिलेश यादव ने अपने जेब से एक कागज निकाला और कहा और इसके (स्वाति के) अलावा और भी जरूरी मुद्दे हैं।
बहरहाल, राष्ट्रीय महिला महिला आयोग ने इस मामले पर स्वत: संज्ञान लेते हुए विभव कुमार से आज सुबह 11 बजे पेश होने के निर्देश दिए हैं। स्वाति मालीवाल ने पुलिस अपनी शिकायत देने के बाद सोशल मीडिया पर भी इस संबंध में एक पोस्ट लिखा। उन्होंने लिखा, “मेरे साथ जो हुआ वो बहुत बुरा था। मेरे साथ हुई घटना पर मैंने पुलिस को अपना स्टेटमेंट दिया है। मुझे आशा है कि उचित कार्रवाई होगी। पिछले दिन मेरे लिए बहुत कठिन रहे हैं। जिन लोगों ने प्रार्थना की उनका धन्यवाद करती हूँ। जिन लोगों ने चरित्र हनन करने की कोशिश की, ये बोला कि दूसरी पार्टी के इशारे पर कर रही है, भगवान उन्हें भी खुश रखे। देश में अहम चुनाव चल रहा है, स्वाति मालीवाल ज़रूरी नहीं है, देश के मुद्दे ज़रूरी हैं। BJP वालों से ख़ास गुज़ारिश है इस घटना पे राजनीति न करें।”
बता दें कि स्वाति मालीवाल के साथ 13 मई को CM हाउस में मारपीट हुई थी। उस दिन पुलिस के पास उन्होंने सीएम हाउस से ही दो कॉल किए थे, जिसमें उन्होंने मारपीट की जानकारी दी थी। कॉल पर उन्होंने बताया था कि, केजरीवाल ने अपने PA से उन्हें पिटवाया है। दिल्ली पुलिस की डेली डायरी में ये बात कुछ यूँ लिखी है कि, ”मैं अभी सीएम के घर पर हूँ, उन्होंने (केजरीवाल ने) अपने PA से मुझे बुरी तरह पिटवाया है।” इसके बाद वो थाने भी गईं, मगर बगैर शिकायत दिए लौट आईं और फिर कुछ समय के लिए बिलकुल खामोश हो गईं। उनकी चुप्पी से कई तरह के सवाल उठ रहे थे। हालाँकि अब उन्होंने जब अपनी शिकायत पुलिस को दे दी है तो पुलिस ने विभव के खिलाफ FIR फाइल कर ली है। वहीं दूसरी तरफ स्वाति मालीवाल के आवास की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।
हालाँकि, अब थोड़ा मामले को समझिए, स्वाति मालीवाल ने पुलिस को की गई कॉल में खुद कहा है कि, उन्होंने अपने PA से मुझे पिटवाया, यानी खुद केजरीवाल ने पिटवाया और वो भी सीएम हाउस में, जब मालीवाल केजरीवाल से मिलने गई थी। यानी, केजरीवाल घर पर ही थे, तभी मिलने गई, फिर कॉल में बताया कि उन्होंने ही पिटवाया। जब स्वाति थाने पहुंची, तो उनके पास एक कॉल आया और वो वहां से बिना FIR दर्ज कराए निकल गईं। ये कल सुबह 9-10 बजे कि बात है, लेकिन कल केजरीवाल या कोई AAP नेता सीएम हाउस में हुई मारपीट को लेकर कुछ नहीं बोला। आज शाम AAP सांसद संजय सिंह बताते हैं कि, केजरीवाल ने घटना का संज्ञान लिया है और कार्रवाई करेंगे। यानी, कल से आज तक केजरीवाल अपने घर में हुई मारपीट का संज्ञान ही नहीं ले सके ? और खुद पिटवाने के बाद अब अपने PA पर सख्त कार्रवाई करेंगे ? ये बात भी खुद केजरीवाल नहीं, बल्कि उनके सांसद संजय सिंह बता रहे हैं। 6 साल पहले पहले  दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकश ने CM हाउस में केजरीवाल पर अपने विधायकों द्वारा पिटवाने का आरोप लगाया था। बाद में अंशु प्रकाश को  दिल्ली से हटाकर केंद्र में तैनात कर दिया गया था। ये मामला भी सुप्रीम कोर्ट में है।  अब दिल्ली के सीएम हाउस में स्वाति मालीवाल के साथ क्या हुआ है ? इसकी जांच पुलिस को करनी ही चाहिए, तभी सच्चाई सामने आएगी।
वहीं, स्वाति मालीवाल के पूर्व पति नविन जयहिंद ने कहा है कि, संजय सिंह केजरीवाल का तोता है और स्वाति को जान का खतरा है। गौर करें कि, नवीन जयहिंद हरियाणा AAP इकाई के अध्यक्ष रह चुके हैं।  लेकिन 2019 में उन्होंने AAP से इस्तीफा दे दिया था और 2020 में उनका स्वाति से तलाक हो गया। दोनों की शादी 2012 में अन्ना आंदोलन के दौरान हुई थी। FIR दर्ज कराने से पहले, स्वाति मालीवाल की माँ ने भी कहा था कि, ”उनकी बेटी अभी बात करने की हालत में नहीं है।” वहीं, सोशल मीडिया पर खासी सक्रीय रहने वाली स्वाति मालीवाल ने इस घटना के बाद एक ट्वीट तक नहीं किया है। मीडिया के पूछने पर उनकी माँ ने कहा है कि, ये उसकी लड़ाई है और वो तभी बोलेगी जब सही वक़्त होगा।”

Leave a Reply