Thursday, February 22, 2024
Uncategorized

राहुल गांधी ने किनारे लगाया कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को,दोनों के विरोधी बना दिये कमांडर

 

भोपाल: मध्य प्रदेश कांग्रेस बड़ा बदलाव देखने को मिला है। जीतू पटवारी ने मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रमुख के रूप में कमल नाथ की जगह ली है। पार्टी में यह बदलाव राज्य विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद आया है। शनिवार को एक प्रेस नोट में कांग्रेस ने कहा, ‘कांग्रेस अध्यक्ष ने तत्काल प्रभाव से जीतू पटवारी को मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त किया है।’ इसमें कहा गया, “पार्टी निवर्तमान पीसीसी अध्यक्ष श्री कमल नाथ के योगदान की सराहना करती है।”

राऊ सीट से मौजूदा विधायक पटवारी मध्य प्रदेश कांग्रेस अभियान समिति के सह-अध्यक्ष थे। 2018 में उन्होंने राऊ से दूसरी बार चुनाव जीता। पार्टी का यह फैसला मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निवर्तमान प्रमुख कमल नाथ के छिंदवाड़ा में यह कहने के कुछ दिनों बाद आया है कि वह अपनी राजनीतिक यात्रा को खत्म करने के लिए तैयार नहीं हैं। कमल नाथ ने कहा था, “मैं रिटायर नहीं होने जा रहा हूं। मैं अपनी आखिरी सांस तक आपके साथ रहूंगा। देखते हैं बीजेपी सरकार में आपके बिजली के बिल कितने बढ़ जाते हैं!”

 

 

जीतू पटवारी को प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। विधानसभा में कांग्रेस पार्टी की ओर से नेता प्रतिपक्ष का पद श्री उमंग सिंघार को दिया गया है। याद दिलाना जरूरी है कि श्री जीतू पटवारी, कमलनाथ के विरोधी है और श्री उमंग सिंघार ने तो खुलेआम दिग्विजय सिंह को भूमाफिया कहा था। हेमंत कटारे उप नेता प्रतिपक्ष बनाए गए हैं।

इस निर्णय को मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी का अस्तित्व बचाने के लिए राहुल गांधी का साहसिक फैसला बताया जा रहा है। एक फैसले से कांग्रेस हाई कमान ने न केवल कांग्रेस पार्टी में नए युग की शुरुआत कर दी है बल्कि भाजपा की केंद्रीय कमान की तरह जातिगत समीकरण भी साध लिए हैं। जीतू पटवारी इंदौर के राउ से विधायक थे। जो इस बार चुनाव हार गए। पटवारी ओबीसी वर्ग से आते हैं। जबकि उमंग सिंघार धार जिले की गंधवानी सीट से विधायक हैं। वे आदिवासी वर्ग से आते हैं। हेमंत कटारे भिंड जिले के अटेर विधानसभा सीट से विधायक हैं। वे ब्राह्मण वर्ग से आते हैं। उनके दिवंगत पिता सत्यदेव कटारे भी नेता प्रतिपक्ष रह चुके हैं।

 

 

 

 

Leave a Reply