Monday, March 4, 2024
Uncategorized

राहुल गांधी का फैलाया रायता अमेरिका ने समेट दिया,नही चला झूठ का दांव

 

पीएम मोदी की यात्रा से पहले अमेरिका ने भारत में लोकतंत्र की चिंताओं को खारिज कर दिया है।अमेरिका के राष्ट्रपति भवन व्हाइट हाउस प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा है कि भारत एक जीवंत लोकतंत्र है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के यूएस दौरे से पहले अमेरिका ने बड़ा बयान दिया है। व्हाइट हाउस के प्रवक्ता जॉन किर्बी John Kirby पत्रकारों के सवालों के दौरान ये जवाब दिया है। इसी दौरान उनसे भारत के लोकतंत्र के बारे में पूछा गया।इसके जवाब में उन्होंने कहा कि भारत एक जीवंत लोकतंत्र है और अगर आपको ये देखना है तो दिल्ली जाइए और देख आइए।

दरअसल राहुल गांधी इन दिनों अमेरिका दौरे पर हैं और वहां वह अपने बयानों में भारत में लोकतंत्र को लेकर चिंता जाहिर कर चुके हैं। इसी को लेकर कुछ पत्रकारों ने व्हाइट हाउस में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान भारत के लोकतंत्र से जुड़े सवाल किए। हालांकि, जॉन किर्बी ने भारत में लोकतंत्र की चिंताओं को खारिज कर दिया।अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के स्ट्रैटेजिक कम्युनिकेशंस के समन्वयक जॉन किर्बी ने कहा कि ‘भारत एक जीवंत लोकतंत्र है और हम उम्मीद करते हैं कि लोकतांत्रिक संस्थानों की मजबूती को लेकर चर्चा आगे भी होती रहेगी।’ जॉन किर्बी ने कहा कि ‘हम अपने दोस्तों के साथ अपनी चिंताओं को जाहिर करते हुए शर्माते नहीं हैं। पीएम मोदी के अमेरिका दौरे को लेकर उन्होंने कहा कि यह दौरा दोनों देशों के संबंधों को मजबूत करने के लिए बेहद अहम है।’

अमेरिकी विदेश विभाग का यह बयान कांग्रेस नेता राहुल गांधी के अमेरिकी दौरे के  बीच आया है।हालांकि बयान में न तो कहीं राहुल गांधी का जिक्र था और न ही उनसे जुड़ा कोई सवाल पूछा गया था। लेकिन माना जा रहा है कि परोक्ष तौर पर राहुल की टिप्‍पणी का ही जवाब दिया गया है।

कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने इस बयान पर यह प्रतिक्रिया दी है।कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पिछले दिनों अमेरिका में एक कार्यक्राम में कहा था कि भारत के लोकतंत्र से पूरी दुनिया का लोकहित जुड़ा है। अगर इसमें बिखराव होता है तो इसका असर पूरी दुनिया पर पड़ेगा।

व्हाइट हाउस में एनएससी समन्वयक जॉन किर्बी ने कहा, भारत एक पैसिफिक क्वाड सदस्य और इंडो-पैसिफिक सुरक्षा के संबंध में हमारा एक खास दोस्त और भागीदार है। भारत निश्चित रूप से दोनों देशों के बीच कई स्तरों पर मायने रखता है।राष्ट्रपति जो बाइडेन हर जरूरी मुद्दों पर बात करना चाहेंगे, जिसे हमारी दोस्ती को आगे बढ़ाने और गहरा करने में सहयोग करेगा। राष्ट्रपति पीएम मोदी के आने की बहुत उम्मीद कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 21 से 24 जून को अमेरिका की यात्रा पर रहेंगे।इस दौरान पीएम मोदी कांग्रेस के संयुक्त सत्र को भी संबोधित करेंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और प्रथम महिला जिल बाइडेन आधिकारिक राजकीय यात्रा के लिए पीएम मोदी की मेजबानी करेंगे। 22 जून, 2023 को पीएम मोदी एक राजकीय रात्रिभोज में भी शामिल होंगे।

 

Leave a Reply