Monday, March 4, 2024
Uncategorized

ऑलिव ऑयल देता है कैंसर को न्योता,सावधान हो जाओ

ऑलिव ऑयल में एंटीऑक्सीडेंट्स, हेल्दी फैट्स, एंटी इंफ्लामेटरी गुण और दिल की बीमारी के साथ डायबिटीज से लड़ने की क्षमता होती है. हालांकि, कई बार यह खतरनाक भी हो सकता है.

Olive Oil : ऑलिव ऑयल को काफी हेल्दी माना जाता है. इसे दिल की बीमारियों के लिए रामबाण माना जाता है. आजकल हर घर में सरसों का तेल या रिफाइंड ऑयल का इस्तेमाल किया जा रहा है. कई रिसर्च में बताया गया है कि तेल के ज्यादा सेवन से हाई कोलेस्ट्रॉल, ट्राइग्लिसराइड, फैटी एसिड और मोटापे की वजह बन सकता है. इसलिए एक्सपर्ट्स इन तेलों की बजाया ऑलिव ऑयल के इस्तेमाल की सलाह देते हैं. लेकिन अब एक शोध में पता चला है कि ऑलिव ऑयल (Olive Oil) के ज्यादा यूज से कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियां हो सकती हैं. आइए जानते हैं क्या कहता है रिसर्च…

क्यों खतरनाक है ऑलिव ऑयल

दरअसल, ऑलिव ऑयल का ज्यादा इस्तेमाल पश्चिमी देशों में हुआ करता था. इन देशों में ज्यादातर चीजें बेकिंग, रोस्टिंग, बॉइलिंग, स्टीमिंग और सॉटिंग से बनाई जाती है, इसलिए तेल को बहुत ज्यादा गर्म करने की जरूरत नहीं पड़ती है लेकिन भारत की स्थिति अलग है. यहां खाना पकाने का अलग ही तरीका है. छौंक लगाना, पकौड़े तलने जैसी चीजों के लिए तेल को काफी गर्म कर पकाया जाता है. चूंकि ऑलिव ऑयल का स्मोक पॉइंट सरसों के तेल, नारियल तेल या घी की तुलना में काफी कम होता है. इस वजह से यह जल्दी गर्म होकर धुआं छोड़ देता है.

ऑलिव ऑयल से हो सकता है कैंसर का खतरा

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन की एक रिसर्च में पता चला है कि जब तेल को कई बार हीट कर या स्मोक पॉइंट से ज्यादा गर्म करते हैं तो उसका फैट टूटने लगता है. इससे तेल में कैंसर पैदा करने वाले खतरनाक तत्व का उत्पादन होने लगता है.

ऑलिव ऑयल में क्या नहीं पकाना चाहिए

कभी भी ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल दाल में छौंक लगाने, भटूरे तलने, पकौड़े बनाने, पूरियां तलने, समोसा, फ्रेंच फ्राइस और चिकन फ्राई जैसे फूड्स में नहीं करना चाहिए. इन चीजों में ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल खतरनाक और नुकसानदायक हो सकता है.

Leave a Reply