Thursday, February 22, 2024
Uncategorized

मोदी सरकार में देश ने रचा इतिहास,दुनिया मंदी में,भारत ने किया 62 लाख करोड़ का कारोबार

 वर्ष 2021-22 में, देश के सामान और सेवाओं का निर्यात क्रमशः 422 बिलियन डॉलर और 254 बिलियन डॉलर यानी कुल 676 बिलियन डॉलर के साथ के लाइफ टाइम हाई पर पहुंचा था. एसोचैम एनुअल सेशन 2023 में बोलते हुए गोयल ने कहा कि व्यापार और सेवा दोनों क्षेत्रों में हेल्दी ग्रोथ देखने को मिला है.
कहां है मंदी! भारत ने दुनिया को बेच डाला 62 लाख करोड़ का सामान

जहां एक ओर पूरी दुनिया में मंदी की सुगबुगाहट देखने को मिल रही है. दूसरी ओर भारत एक्सपोर्ट के मामले में नए-नए रिकॉर्ड बना रहा है. सरकार ने खुद इस बात की जानकारी दी है कि भारत का एक्सपोर्ट 750 अरब डॉलर के साथ लाइफ टाइम हाई पर पहुंच गया है. केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने जानकारी देते हुए कहा कि रूस-युक्रेन वॉर के बाद पूरी दुनिया में सप्लाई चेन डिस्टर्ब हुई और महंगाई अपने चरम पर पहुंच गई. उन तताम चुनौतियों को पार करते हुए भारत का एक्सपोर्ट वित्त वर्ष 2020-2021 में 500 अरब डॉलर से बढ़कर 750 अरब डॉलर पर आ गया.

देखने को मिला है हेल्दी ग्रोथ

वित्त वर्ष 2021-22 में, देश के सामान और सेवाओं का निर्यात क्रमशः 422 बिलियन डॉलर और 254 बिलियन डॉलर यानी कुल 676 बिलियन डॉलर के साथ के लाइफ टाइम हाई पर पहुंचा था. एसोचैम एनुअल सेशन 2023 में बोलते हुए गोयल ने कहा कि व्यापार और सेवा दोनों क्षेत्रों में हेल्दी ग्रोथ देखने को मिला है. उन्होंने कहा कि इस तथ्य को देखते हुए कि पूरी दुनिया मंदी में है, अधिकांश विकसित देशों के लिए महंगाई लाइफ हाई लेवल पर है, ब्याज दरें बढ़ रही हैं और दुनिया में निराशा की भावना है. ऐसे में भारत का प्रदर्शन काफी सराहनीय है.

यूएई और ऑस्ट्रेलिया हुई था एफटीए

गोयल ने पिछले साल यूएई और ऑस्ट्रेलिया के साथ हुई दो प्रमुख मुक्त व्यापार समझौतों के बारे में बात की. उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया और संयुक्त अरब अमीरात के साथ भारत के व्यापार समझौतों का तीनों देशों में उद्योग द्वारा स्वागत किया गया है. भारत ने पिछले साल मार्च में यूएई के साथ व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर किए थे. तब जारी किए गए एक बयान के अनुसार, भारत को यूएई द्वारा दी गई तरजीही बाजार पहुंच से 97 प्रतिशत से अधिक टैरिफ लाइनों पर लाभ होगा, जो वैल्यू के हिसाब से यूएई को भारतीय निर्यात का 99 फीसदी है.

फरवरी में कम हुआ है एक्सपोर्ट के साथ इंपोर्ट

इस महीने की शुरुआत में जारी वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, भारत का निर्यात लगातार तीसरे महीने फरवरी में 8.8 फीसदी घटकर 33.88 अरब डॉलर रह गया, जो पिछले साल इसी महीने में 37.15 अरब डॉलर था. आयात भी 8.21 प्रतिशत घटकर 51.31 अरब डॉलर रह गया, जबकि पिछले साल इसी महीने में यह 55.9 अरब डॉलर था. फरवरी में देश का व्यापार घाटा 17.43 अरब डॉलर था.

Leave a Reply