Friday, May 24, 2024
Uncategorized

कुत्ते की मौत मारा गया मोहम्मद अनीस खान,दो साथ वालो को पैर में गोली लगी,अकेली महिला सिपाही पर हमला …

चलती ट्रेन, रात का समय और जनरल कोच… 30 अगस्त को सरयू एक्सप्रेस ट्रेन में एक महिला सिपाही के साथ ऐसी वारदात को अंजाम दिया गया कि पूरा प्रदेश हिल गया. सिपाही सीट के नीचे खून से लथपथ मिली थी. उसके शरीर के निचले हिस्से पर कपड़े नहीं थे. सिर, चेहरे, नाक समेत शरीर के कई हिस्सों में गंभीर चोट के निशान थे. जैसे ही रेलवे पुलिस को इसकी सूचना मिली हड़कंप मच गया.

आनन-फानन महिला सिपाही को अस्पताल ले जाया गया. लेकिन उसकी हालत इतनी नाजुक थी कि वो अपने साथ हुई दरिंदगी को बयां तक नहीं कर पा रही थी. फिर तलाश शुरू हुई उन अपराधियों को जिन्होंने इस बर्बर कांड को अंजाम दिया था. तीन हफ्ते बाद आज सुबह पुलिस ने मुख्य आरोपी अनीस को एनकाउंटर में ढेर कर दिया. वहीं, उसके दो साथियों को भी गोली लगी है जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है. इस एनकाउंटर में तीन पुलिसवाले भी घायल हुए हैं.

उस रात ट्रेन में क्या हुआ था? 

पुलिस के मुताबिक, अयोध्या पुलिस और यूपी STF के साथ एनकाउंटर में मारा गया अनीस खान घटना वाले दिन सरयू एक्सप्रेस में अपने दो साथियों आजाद खान और विशंभर दयाल के साथ चढ़ा था. ट्रेन में रोशनी कम होने कारण अनीस महिला सिपाही से छेड़खानी करने लगा. जब महिला ने विरोध किया तो वो मारपीट करने लगा. इसपर महिला सिपाही ने उसे पटक दिया. महिला सिपाही को भारी पड़ते देख अनीस के साथी आजाद और विशंभर उसपर टूट पड़े.

तीनों बदमाशों ने मिलकर महिला पर जानलेवा हमला कर दिया. उन्होंने ट्रेन की खिड़की से सिर लड़ाकर महिला सिपाही को घायल कर दिया. इसके बाद जब अयोध्या से पहले ट्रेन धीमी हुई थी तो तीनों आउटर पर उतरकर फरार हो गए. जहां तीनों उतरे थे वहां कोई CCTV नहीं था, इसलिए उनकी पहचान करने में पुलिस को समय लग गया.

जानकारी के मुताबिक, अनीस हैदरगंज दशलावन गांव का रहने वाला था. आजाद भी इसी गांव का है, जबकि विशंभर सुल्तानपुर जिले के कूड़ेभार पिपरी सामनाथ का रहने वाला है. बताया जा रहा है कि अनीस अपनी गैंग के साथ ट्रेन में लूटपाट की वारदात को अंजाम देता था. घटना वाले दिन भ उसने महिला सिपाही से मारपीट और छेड़खानी की थी.

ऐसे एनकाउंटर में मारा गया बदमाश अनीस 

दरअसल, वारदात के बाद से ही पुलिस और यूपी STF महिला सिपाही पर हमला करने वालों को शिद्दत ढूंढ रही थी. अयोध्या के आसपास गांव, कस्बे, शहर हर जगह पैनी नजर रखी जा रही थी. CCTV से लेकर मोबाइल लोकेशन तक ट्रेस की जा रही थी. सारे मुखबिरों को एक्टिव कर दिया गया था. इसी बीच शुक्रवार (22 सितंबर) तड़के STF को आरोपियों के बारे में इनपुट मिल गया कि वो इनायतनगर में छिपे हैं.

STF और अयोध्या पुलिस ने ऑपरेशन शुरू किया और इलाके को घेरकर तलाशी लेनी शुरू की. तभी खुद को घिरता हुआ बदमाशों ने गोली चला दी. पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की तो आजाद और विशंभर घायल हो गए. उन्हें वहीं से पकड़ लिया गया. लेकिन अनीस मौके से भाग गया.

STF की टीम और पुलिस ने अनीस का पीछा किया और कई किलोमीटर दूर जाने के बाद पूरा कलंदर के पास उसे फिर से घेर लिया. जिस पर अनीस फायरिंग करने लगा. पुलिस ने सरेंडर के लिए कहा मगर वो फायरिंग करता रहा. आखिर में जवाबी कार्रवाई में वो ढेर हो गया.

मामले में स्पेशल डीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि सरयू एक्सप्रेस में महिला हेड कॉन्स्टेबल पर हमला करने वाला मुख्य आरोपी अयोध्या के पूरा कलंदर में पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया है. वहीं, उसके दो अन्य साथियों को मुठभेड़ के बाद इनायत नगर से गिरफ्तार किया गया है. पुलिस के लोग भी घायल हुए हैं.

Leave a Reply