Friday, June 21, 2024
Uncategorized

पहले 5 लड़के मुसलमान बनाए,फिर 3 हिन्दू लड़कियों को फंसाया,मुसलमान बनाई

भोपाल: मध्यप्रदेश ATS की गिरफ्त में आए कट्टरपंथी इस्लामिक संगठन हिज्ब-उत-तहरीर के संगठन से पूछताछ में कई बड़े खुलासे हुए हैं. इस पूछताछ में पता चला है कि पकड़े गए आरोपियों में से तीन लड़के हिंदू धर्म में थे जिन्होंने बाद में मुस्लिम धर्म अपना लिया. इतना ही नहीं उन्होंने हिंदू युवतियों को भी इस्लाम धर्म धारण करवाया और उनसे शादी कर ली. जांच में पाया गया है कि पकड़े गए आरोपियों में से एक भोपाल में कोचिंग चलाने का काम करता था और लोगों का ब्रेनवॉश करने का काम करता था. वह पहले लड़को का धर्म बदलता था फिर लड़कियों को मुसलमान बनाता था.

गृहमंत्री का बयान

मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने एक समाचार चैनल को बताया, ‘ ATS की पूछताछ में पता चला है कि हिज्ब-उत-तहरीर के गिरफ्तार किए गए सदस्यों में से 3 सदस्य हिंदू धर्म छोड़कर इस्लाम कबूल करने वाले हैं. इतना ही नहीं, इन्होंने हिंदू युवतियों से शादी की थी और बाद में उनका धर्म परिवर्तन करवा दिया.

लोगों का ब्रेनवॉश किया जाता था

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने आगे बताया कि, जिन आरोपियों ने हिंदू धर्म छोड़कर इस्लाम को अपनाया उनमें से एक हैदराबाद से गिरफ्तार मोहम्मद सलीम है. सलीम का असल नाम सौरभ राघवैद्य है. इसके अलावा देवी प्रसाद पांडे जिसने इस्लाम अपनाकर अपना नाम अब्दुर्रहमान रख लिया और वेणु कुमार उर्फ़ अब्बास अली भी गिरफ्तार हुआ है जो हैदराबाद का रहने वाला है. इन तीनों ने पहले हिंदू लड़कियों से शादी की इसके बाद उन तीनों को इस्लाम कबूलवाया. इतना ही नहीं तीनों में से एक आरोपी भोपाल में कोचिंग चलाने का काम करता था जिसमें लोगों का ब्रेनवॉश किया जाता था.

सीएम ने क्या कहा?

गृहमंत्री ने आगे बताया कि पकड़े गए तीनों आरोपियों में से एक AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के भाई अकबरुद्दीन ओवैसी के कॉलेज में बतौर प्रोफ़ेसर काम कर रहा था. आरोपियों में से मोहम्मद सलीम प्रोफेसर था जिसके खातों की भी जांच में लगी है. ATS टीम की ये कितनी बड़ी सफलता है इस बात का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पकड़े गए आरोपियों में से कोई जिम ट्रेनर था, तो कोई दर्जी था. कोई ऑटो चालक था तो कोई कोचिंग चलाता था. इन सभी का एक ही मकसद था कि समाज में घुल-मिलकर भोली-भाली लड़कियों का ब्रेनवाश किया जाए और उन्हें आतंकवाद के दलदल में धकेल दिया जाए.

Leave a Reply