Friday, May 24, 2024
Uncategorized

जारी है जिहादियों का नंगा नाच,बिहार और पश्चिम बंगाल में,नपुंसक प्रशासन

पश्चिम बंगाल और बिहार में रामनवमी (30 मार्च) के दिन से शुरू हुआ बवाल अभी तक थमा नहीं है. बिहार के नालंदा के कई इलाकों में दंगे के बाद अब भी कई जगह धुआं उठ रहा है. लोग डरे हुए हैं. तबाही के निशान साफ दिख रहे हैं. सासाराम में आज सुबह धमाका हुआ है. इससे पहले सासाराम के शेरगंज इलाके में एक धार्मिक स्थल के बाहर बम फेंका गया था. इसमें कई लोग घायल हुए थे.

वहीं बिहारशरीफ में शनिवार रात को फिर से हिंसा हुई, यहां के पहाड़पुरा इलाके में दो गुट भिड़ गए. इस दौरान 12 राउंड फायरिंग हुई, इसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई. उधर, बंगाल के हावड़ा के बाद हुगली में भी रविवार को शोभायात्रा पर पत्थरबाजी और आगजनी हुई. इसमें बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष भी शामिल हुए. बिहार में हिंसा के बाद अब तक 109 गिरफ्तारियां हो चुकी हैं.

बिहार के इन जिलों में इंटरनेट सेवा और स्कूल बंद

हिंसा के बाद बिहार सीएम नीतीश कुमार ने हाई लेवल मीटिंग की. सीएम नीतीश ने कहा, ‘पूरी मुस्तैदी बनाए रखें. उपद्रवियों की पहचान कर उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करें. किसी भी परिस्थिति में गड़बड़ी न हो, इस पर नजर बनाए रखें. अफवाह फैलाने वालों पर भी नजर रखी जाए’. वहीं, बिहार के नालंदा जिले में 4 अप्रैल तक इंटरनेट सेवा बंद रहेगी. शहर में पहले से कर्फ्यू लगा हुआ है. इसके साथ ही रोहतास में 4 अप्रैल तक सभी शैक्षणिक संस्थान और इंटरनेट सेवा बंद रहेगी.

बिहार में अब तक 109 गिरफ्तारियां

वहीं डीजीपी आर. एस. भट्टी ने कहा कि वर्तमान में कानून व्यवस्था नियंत्रण में है. हिंसा में 109 लोग लिप्त पाए गए हैं, जिनकी गिरफ्तारी हुई है. कानून की पूरी ताकत के साथ उपद्रवियों से निपटा जाएगा. राज्य में कानून व्यवस्था खराब करने की साजिश रची गई थी. राज्य में हुई हिंसा में एक व्यक्ति की मौत हुई है. नई बात सामने आई है कि सासाराम में जो बम ब्लास्ट हुआ था और उसमें जख्मी होने वाला एक शख्स ही बम बना रहा था. उसका इलाज चल रहा है, ठीक होने पर उसे अरेस्ट किया जाएगा.

बंगाल के हुगली में भी रविवार को हिंसा हुई

सासाराम में कहां-कहां हुई हिंसा?

सासाराम के गोला बाजार, कादिरगंज, मुबारकगंज, चौखंडी और नवरत्न बाजार पूरी तरह से बंद हैं. पुलिस-प्रशासन का कहना है कि स्थिति नियंत्रण में है, लेकिन दोनों पक्षों में तनाव की स्थिति अभी भी बनी हुई है. नगर थाना क्षेत्र के सहजलाल पीर मोहल्ले में दो पक्षों में तनाव के बाद पथराव और बमबारी की घटना सामने आई है. सासाराम में धारा 144 लागू कर दी गई है. सासाराम में पुलिस टीम, स्पेशल टास्क फोर्स और पैरा मिलिट्री फोर्स ने फ्लैग मार्च भी किया. पूरा शहर पुलिस छावनी में तब्दील हो गया है और रैपिड एक्शन फोर्स की तैनाती हो चुकी है. रोहतास में शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूल, मदरसों और कोचिंग सेंटर्स को 4 अप्रैल तक बंद रखने का आदेश जारी किया है.

बिहार हिंसा में अब तक के अपडेट

1- हिंसा केस में अब तक 109 गिरफ्तार
2- रोहतास में सरकारी स्कूल-मदरसे 4 अप्रैल तक बंद
3- बिहार शरीफ में कर्फ्यू लागू
4- सासाराम में धारा 144 लागू

पश्चिम बंगाल में कहां-कहां हुई हिंसा?

बंगाल में पहली हिंसा हावड़ा के शिबपुर में हुई, जहां दो समुदाय भिड़ गए और पत्थरबाजी हुई. इसके बाद कई वाहनों और दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और स्थिति पर काबू पाने के लिए आंसू गैस के गोले दागे. इस दौरान कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया गया. इसके बाद हुगली में निकाली जा रही शोभायात्रा पर रविवार को पत्थरबाजी और आगजनी हुई. इसमें बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष भी शामिल हुए थे. उनके जाने के बाद अचानक दो गुट आमने-सामने आ गए. देखते ही देखते पत्थरबाजी शुरू हो गई और आगजनी भी हुई. हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस ने मोर्चा संभाला. पुलिस ने इस मामले में अब तक 12 लोगों को गिरफ्तार किया है. वहीं, हावड़ा में हिंसा के मामले में 45 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया था,

बीजेपी का कहना है कि इस हिंसा में विधायक बिमन घोष घायल हुए हैं. इसके साथ ही पथराव में कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं. जानकारी के मुताबिक, यह इलाका अल्पसंख्यक बहुल है. हिंसक झड़प के चलते रिशरा के कुछ हिस्सों में धारा 144 लागू कर दी गई है और 24 घंटे के लिए इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है. बीजेपी नेता दिलीप घोष का आरोप है कि शोभायात्रा में महिलाओं और बच्चों पर पथराव किया गया.

केंद्र सरकार ने बिहार भेजीं 10 पैरामिलिट्री की कंपनियां

बिहार के हालातों को लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को बिहार के राज्यपाल से बातचीत की थी, गृहमंत्री ने कहा कि कुछ कंपनियां बिहार के संवेदनशील इलाकों में तैनात की गई है. उन्होंने कहा कि अर्धसैनिक बलों की तैनाती राज्य पुलिस को सहयोग करने के लिए और राज्य में शांति स्थापित करने के लिए है. गृहमंत्री ने कहा कि कुछ कंपनियां बिहार के संवेदनशील इलाकों में तैनात की गई हैं और कुछ कंपनियां आज पहुंच जाएंगी. उन्होंने कहा कि अर्धसैनिक बलों की तैनाती राज्य पुलिस को सहयोग करने के लिए और राज्य में शांति स्थापित करने के लिए है. 10 पैरामिलिट्री की कंपनियों को बिहार भेजा गया है. इसमें CRPF, SSB और ITBP के जवान शामिल हैं.

Leave a Reply