Tuesday, July 16, 2024
Uncategorized

डाक्टर जुबैद,बीवी जुबैदा ने कर दी दलित नर्स की हत्या, बलात्कार भी,कांग्रेस चुप,राहुल सोनिया प्रियंका चुप

‘डॉक्टर ज़ुबैद और उसकी बीवी जुनैबा ने दलित नर्स को ज़हर का इंजेक्शन देकर मार डाला’: परिजनों ने बलात्कार का भी लगाया आरोप

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में एक दलित लड़की की संदिग्ध हालात में मौत हो गई है। मृतका के परिजनों ने इसे हत्या बताते हुए डॉक्टर जुबैद और उनकी बीवी जुनैबा के खिलाफ नामजद FIR दर्ज करवाई है। मृतका आरोपितों के शिफा अस्पताल में काम सीख रही थी। आरोप है कि डॉक्टर जुबैद और जुनैबा ने मृतका को जहर दे कर मारा है। हालाँकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह सामने नहीं आ पाई है। घटना शुक्रवार (5 जुलाई, 2024) की है।

यह घटना सहारनपुर जिले के थाना क्षेत्र बेहट की है। यहाँ मृतका की बहन ने शनिवार (6 जुलाई, 2024) को थाने में तहरीर दी है। तहरीर में उन्होंने बताया कि उनकी बहन 7 महीने से शिफा जच्चा-बच्चा अस्पताल में काम सीख रही थी। इस अस्पताल को डॉक्टर जुबैद और उनकी पत्नी जुनैबा संचालित करती हैं। 5 जुलाई को सुबह 8:30 पर पीड़िता घर से रोज की तरह अपनी ड्यूटी पर गई थी लेकिन 24 घंटे तक पीड़िता घर लौट कर नहीं आई। काम की अधिकता होने की वजह से पीड़िता पहले भी रात में अस्पताल में रुक चुकी थी, इसलिए घर वालों ने बाकी दिनों की तरह लड़की की व्यस्तता समझा।

शनिवार (6 जुलाई, 2024) को शिफा अस्पताल से सुबह 10:30 पर पीड़िता के घर कॉल आई। कॉल पर बताया गया कि पीड़िता की तबीयत काफी खराब है और जल्दी अस्पताल बुलाया गया। लड़की की बहन अपनी माँ के साथ अस्पताल पहुँची तो वहाँ डॉक्टर जुनैबा मिलीं। जुनैबा ने पीड़िता को बेहोश बताते हुए उसके घर वालों को जल्दी किसी अच्छे अस्पताल में ले जाने को कहा। पीड़िता का शरीर बाहर फोल्डिंग पर पड़ा था। बताया जा रहा है कि तब तक लड़की का शरीर नीला पड़ने लगा था।

पीड़िता से उसके परिवार वालों को डॉक्टर जुबैद ने अपनी क्लिनिक में बात भी नहीं करने दिया। लड़की के परिजनों ने खुद ही टेम्पो बुक किया और गंभीर हालात में ले कर जिला अस्पताल पहुँचे। यहाँ पीड़िता को मृत घोषित कर दिया गया। लड़की की बहन ने आशंका जताई है कि या तो उनकी बहन को शिफा अस्पताल में कोई जहरीला इंजेक्शन दिया गया है या जहर दे कर मारा गया है। परिजनों ने पीड़िता से रेप होने की भी आशंका जताई है। शिकायत में आरोपितों पर कड़ी कार्रवाई की माँग की गई है।

पुलिस ने इस केस में डॉक्टर जुबैद, उनकी बीवी जुनैबा और अस्पताल के अन्य कर्मचारियों पर FIR दर्ज कर ली है। इन सभी पर भारतीय न्याय संहिता 2023 की धारा 103(1) के तहत कार्रवाई की गई है। पुलिस ने बताया कि मृतका के शरीर पर कोई चोट के निशान नहीं पाए गए हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी मौत की सही वजह सामने नहीं आ पाई है। आगे की जाँच के लिए विसरा सुरक्षित रख लिया गया है। मामले में जाँच और अन्य जरूरी कानूनी कार्रवाई की जा रही है। ऑपइंडिया के पास FIR कॉपी मौजूद है।

बजरंग दल ने उठाई कार्रवाई की माँग

इस मामले में सहारनपुर ‘बजरंग दल’ ने प्रदर्शन कर के आरोपितों पर कड़ी कार्रवाई की माँग की है। ऑपइंडिया से बात करते हुए बजरंग दल के सहारनपुर जिले के पदाधिकारी अभिषेक पंडित ने बताया कि लड़की की आरोपितों द्वारा पूरी प्लानिंग के साथ हत्या की है। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी से इस बात की भी जाँच करवाए जाने की माँग की जाएगी कि क्या अस्पताल के सभी कागजात और मानक पूरे हैं ? अभिषेक का कहना है कि आरोपितों के खिलाफ संवैधानिक ढंग से सड़क से ले कर कोर्ट तक लड़ाई लड़ी जाएगी।

Leave a Reply