Monday, March 4, 2024
Uncategorized

हिन्दू लड़की को मुसलमान मोहम्मद शाहनवाज जिहादी आतंकवादी ने,निकाह करके , इस्तेमाल आतंकी हमलों के लिए

इमरान और युसूफ को शुरुआत में पुलिस ने दोनों को मामूली चोर समझा। लेकिन, बाद में उनके ISIS से जुड़े होने का खुलासा हुआ। तब से इस मामले में राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) और महाराष्ट्र ATS ने भी पड़ताल शुरू की।

 

दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार ISIS आतंकी शाहनवाज ने हिन्दू लड़की से किया था निकाह

दिल्ली पुलिस ने सोमवार (2 अक्टूबर, 2023) को ISIS से जुड़े 3 लाख रुपए के इनामी आतंकी शाहनवाज को गिरफ्तार किया है। इसी साल जुलाई माह में शाहनवाज महाराष्ट्र में पुणे पुलिस की कस्टडी से भाग निकला था। विदेश में बैठे आकाओं ने शाहनवाज को भारत में ISIS का स्लीपर सेल खड़ा करने का काम दिया था जिसे वो बखूबी अंजाम भी दे रहा था। शहनवाज ने एक हिन्दू लड़की को इस्लाम कबूल करवा कर उस से निकाह किया था। पेशे से वह इंजीनियर था लेकिन उसने आतंकवाद का रास्ता अपनाया।

हिन्दू लड़की को इस्लाम कबूल करवा के किया निकाह

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मूल रूप से शाहनवाज झारखंड के हजारीबाग का रहने वाला है। उसने गाजियाबाद के विश्वेश्वरैया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से माइनिंग इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की थी। अब तक मिली जानकारी के मुताबिक शाहनवाज ने एक हिन्दू लड़की से निकाह किया है। उसकी बीवी का नाम बसंती पटेल है जो मूल रूप से गुजरात की रहने वाली बताई जा रही है। शाहनवाज ने बसंती को पहले इस्लाम कबूल करवाया फिर उस से निकाह किया। निकाह के बाद बसंती का नया इस्लामी नाम मरियम रखा गया था।

बाइक चोरी से हुआ था भंडाफोड़

इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल करने के बाद शाहनवाज पुणे चला गया। वहाँ पर वो ISIS का स्लीपर सेल तैयार करने में जुट गया। उसकी गैंग के तमाम सदस्य बम बना कर उसे पास के जंगलों में टेस्ट करने जाया करते थे। विस्फोट की साजिश को अंजाम देने के लिए शाहनवाज की गैंग को चोरी की बाइक की जरूरत थी। शाहनवाज के साथ इस नेटवर्क से जुड़े इमरान और युसूफ को जुलाई 2023 में बाइक चोरी करने के मिशन पर भेजा गया था लेकिन वो पुलिस द्वारा पकड़े गए। हालाँकि शाहनवाज फरार होने में कामयाब रहा था।

 

इधर इमरान और युसूफ को शुरुआत में पुलिस ने दोनों को मामूली चोर समझा। लेकिन, बाद में उनके ISIS से जुड़े होने का खुलासा हुआ। तब से इस मामले में राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) और महाराष्ट्र ATS ने भी पड़ताल शुरू की। कोढ़वा इलाके में दबिश दे कर 7 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया। इधर शाहनवाज और उसके 3 अन्य फरार साथियों पर 3-3 लाख का इनाम भी घोषित कर दिया गया। NIA शाहनवाज को पकड़ने के लिए ताबड़तोड़ दबिश दे रही थी। हालाँकि इस बीच शाहनवाज दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के हत्थे चढ़ गया।

ज्यादा से ज्यादा लोगों को मारने की थी तैयारी

पुलिस को शाहनवाज के ठिकाने से लोहे की पाइपें और प्लास्टिक केमिकल मिले हैं। उसके मोबाइल से विस्फोटक बनाने के तरीकों का लिट्रेचर भी बरामद हुआ है। ये लिट्रेचर उसे उसके पाकिस्तानी आका भेजते थे। पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार ये सभी आरोपित भीड़भाड़ वाली जगह ब्लास्ट कर के ज्यादा से ज्यादा जनहानि करना चाहते थे। इस गैंग के निशाने पर कुछ बड़े नाम भी थे। पुलिस को इन सभी के फंडिंग सोर्स की भी जानकारी मिली है। हालाँकि पुलिस ने इन मामलों में खुल कर जानकारी देने से मना कर दिया।
शाहनवाज के साथ जो 2 अन्य आरोपित गिरफ्तार हुए हैं उनके नाम मोहम्मद रिज़वान अशरफ और मोहम्मद अशरफ वारसी हैं। मोहम्मद रिज़वान अशरफ को लखनऊ जबकि अशरफ वारसी को मुरादाबाद से गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार हुए तीनों आतंकी पेशे से इंजिनियर हैं। पुलिस ने तीनों आरोपितों को अदालत में पेश किया। यहाँ से तीनों को 7 दिनों की कस्टडी रिमांड पर भेज दिया गया है। रिमांड के दौरान इन सभी से और अधिक कबूलनामे की उम्मीद जताई जा रही है।

Leave a Reply