Monday, March 4, 2024
Uncategorized

कुत्ते की मौत मारा मुसलमान अयाज़ अहमद अंसारी ने हिन्दू रेशमा मंगलानी उर्फ नैना को,कहती थीं मेरा अब्दुल बड़ा सेक्युकर

नैना उर्फ रेशमा और अयाज अंसारी (फाइल फोटो)
तारीख, 19 जनवरी 2020…
भूली बिसरी याद…

राजस्थान के आमेर में रहने वाली 22 वर्षीय रेशमा मंगलानी उर्फ नैना सुबह साढ़े 10 बजे अपने पति अयाज अंसारी अहमद के साथ स्कूटी पर सवार होकर घर से निकली. लेकिन फिर वह कभी वापस नहीं लौटी. घर वालों ने उसे कई बार कॉल किया. लेकिन उसका फोन स्विच ऑफ आ रहा था. काफी रात बीत जाने के बाद भी जब वह घर नहीं लौटी तो परिवार को चिंता होने लगी.

घर वालों की समझ नहीं आ रहा था कि आखिर वह अपने दो महीने के दुधमुंहे बच्चे को अकेला छोड़कर कहां चली गई. घर वालों ने रेशमा के पति अयाज से बात की तो उसने उन्हें कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया. बेटी के इस तरह लापता हो जाने से मां-पिता का तो दिल ही बैठ गया. उन्होंने उसकी तलाश शुरू कर दी.

रेशमा के दोस्तों और सगे संबंधियों से भी उसके बारे में पूछा. लेकिन रेशमा के बारे में किसी को भी कोई जानकारी नहीं थी. 20 घंटे बीत जाने के बाद भी जब रेशमा उर्फ नैना की कोई खबर नहीं मिली तो उसके पिता आमेर के थाने में जा पहुंचे. उन्होंने वहां बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवा दी. थाना प्रभारी ने जब उनसे पूछा कि क्या आपको किसी पर शक है? तो रेशमा के पिता ने उसके पति अयाज पर शक जताया. क्योंकि वह उसके साथ ही निकली थी.

मामला पॉश इलाके के एक प्रतिष्ठित परिवार से जुड़ा था. इसलिए थाना प्रभारी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए रेशमा की तलाश के लिए पुलिस टीमों को गठित कर दिया. चूंकि रेशमा के पिता ने उसके पति अयाज अंसारी पर शक जाहिर किया था, इसलिए उन्होंने अयाज को थाने बुलाया. अयाज ने बताया कि रेशमा सुबह साढ़े 10 बजे से लेकर रात 9 बजे तक उसके साथ थी. लेकिन इसके बाद वो चली गई थी.

खुले विचारों वाली लड़की थी रेशमा
अयाज ने कहा कि वह खुद रेशमा को लेकर परेशान है और उसे ढूंढ रहा है. इसके बाद पुलिस ने अयाज को घर भेज दिया और अपने स्तर पर रेशमा की तलाश शुरू कर दी. पुलिस के सामने यह बात आई कि रेशमा देखने में काफी खूबसूरत थी. इसी के साथ-साथ वह काफी खुले विचारों वाली लड़की भी थी. उसे लोगों से दोस्ती करना पसंद था. इसलिए वह फेसबुक पर काफी एक्टिव रहती थी.

पुलिस को पता चला कि वह फेसबुक पर काफी फेमस भी थी. उसके कई हजार फॉलोअर्स थे. वह अक्सर वहां अपनी फोटो वगैरा पोस्ट करती रहती थी, जिसे कई लोग पसंद भी किया करते थे. इतना ही नहीं वह फोन पर भी दोस्तों से बातें करती रहती और स्कूटी में उनके साथ घूमती-फिरती रहती.

यह जानकारी मिलने के बाद पुलिस को शक हुआ कि रेशमा की गुमशुदगी के पीछे कोई बड़ा रहस्य है. आगे की जांच के लिए पुलिस ने रेशमा के फोन की CDR निकलवाई. लेकिन इसी बीच 21 जनवरी 2022 की सुबह किसी राहगीर ने आमेर थाने में फोन करके सूचना दी कि जयपुर-दिल्ली नेशनल हाइवे के पास स्थित माता मंदिर के पास किसी युवती की लाश मिली है.

रेशमा के परिजनों ने की लाश की पहचान
सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची. मृतका के चेहरे के इस कदर बिगाड़ा गया था कि उसकी पहचान कर पाना काफी मुश्किल था. हत्यारे ने लाश की पहचान मिटाने की पूरी कोशिश की थी. लेकिन लाश के पास एक स्कूटी भी खड़ी थी. पुलिस के दिमाग में एकदम से ख्याल आया कि पिछले ही दिन एक पिता ने अपनी बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई है.

इसलिए थाना प्रभारी ने फोन करके रेशमा के घर वालों को बुला लिया. रेशमा के माता-पिता लाश देखते ही रोने लग पड़े. उन्होंने बताया कि ये लाश उनकी बेटी रेशमा की ही है. इसके बाद पुलिस ने लाश को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया. इसके बाद रेशमा के पिता ने उसके पति अयाज के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज करवा दी. उनका कहना था कि उनकी बेटी की हत्या अयाज ने ही की है.

तूल पकड़ने लगा मामला
जब यह बात मीडिया तक पहुंची तो नैना के फॉलोअर्स भी सकते में आ गए. उन्होंने सोशल मीडिया पर अपनी प्रतिक्रियाएं देना शुरू कर दिया. मामला तूल पकड़ने लगा तो डीसीपी क्राइम अशोक गुप्ता ने केस को अपने हाथ में ले लिया. उन्होंने इसके लिए एक स्पेशल टीम का गठन किया. चूंकि, रेशमा ने नामजद रिपोर्ट दर्ज करवाई थी इसलिए पुलिस ने अयाज को पूछताछ के लिए थाने बुलाया.

थाने आकर फिर से उसने वही पुराना राग अलापना शुरू कर दिया. लेकिन इस बार पुलिस के पास कुछ सबूत थे. दरअसल, CDR डिटेल और सीसीटीवी फुटेज में पुलिस को अयाज उस दिन नैना के साथ स्कूटी में जाता हुआ दिखा था. अयाज से विस्तार से पूछताछ के लिए पुलिस ने उसे दो दिन के रिमांड पर लिया. रिमांड के दौरान वह पुलिस के सवालों के चक्रव्यूह में ऐसा फंसा कि उसके पास अपना गुनाह कबूल करने के अलावा कोई और चारा नहीं रह गया था.

Leave a Reply