Saturday, February 24, 2024
Uncategorized

इस्लामी आतंकवादी समूह हमास,उठा रहा औरतें और बच्चे,खुद मरे बच्चे दिखा दया मांगता हमेशा

हमास समेत सभी इस्लामी आतंकवादी संगठनों का फिक्स कार्यक्रम है,जैसे ही पिटाई शुरू हो मेरे बच्चों की फोटो डाल दो प्रेस में

फिलिस्तीन के इस्लामी आतंकी संगठन हमास के अचानक हमले से मुस्लिम देशों से घिरा इजरायल स्तब्ध है। उसने युद्ध की घोषणा कर दी। इस बीच हमास द्वारा इजरायल के शहरों में महिलाओं, बच्चों, बुढ़ों के साथ बर्बरता करते हुए कई वीडियो सामने आए हैं। इस दौरान वे ‘अल्लाह हू अकबर’ के नारे भी लगा रहे हैं। इस हमले में अब तक 300 इजरायली मारे गए हैं। वहीं, गायब या अपहृत लोगों की संख्या के बारे में अभी तक जानकारी सामने नहीं आई है।

इजरायल के लोग ही नहीं, पूरी दुनिया हमास की क्रूरता से स्तब्ध है। दुनिया ने साल 2014 में इराक में इस्लामिक स्टेट (ISIS) द्वारा यजिदियों पर किए गए अत्याचार की याद दी। इजरायल के यहूदी समुदाय के लोग सोशल मीडिया पर अपने परिवार और रिश्तेदारों की तस्वीरें साझा कर रहे हैं, जिन्हें इस्लामी आतंकी संगठन ने अपहरण कर लिया है। वहीं, इजरायलियों का अपहरण करने के बाद हमास उनके वीडियो भी जारी कर रहा है।

इजरायल के ऐसे ही एक शख्स ने CNN को बताया कि उसने एक ऐसा वीडियो देखा जिसमें उसकी पत्नी और बेटी को हमास के आतंकी अपहरण करके ले जा रहे हैं। शेरोन क्षेत्र के निवासी योनी आशेर ने बताया कि उन्होंने अपनी पत्नी को एक वायरल वीडियो से पहचाना, जिसमें हमास के आतंकवादियों ने ट्रक में लोगों के साथ उन्हें भी लाद रखा है। पूरे वीडियो में ‘अल्लाह हू अकबर’ नारे सुनाई देते हैं।

फ़ुटेज में ट्रक के पीछे एक महिला को दिखाया गया है, जिसके सिर पर एक आतंकी दुपट्टा डाल रहा है। आशेर ने कहा कि उनकी पत्नी अपनी छोटी-छोटी बेटियाँ के साथ गाजा सीमा के पास किबुत्ज़, नीर ओज़ में सास से मिलने आई थीं। उन्होंने कहा कि उन्हें संदेह है कि उनका अपहरण कर लिया गया है। उसने अपनी पत्नी के फोन को ट्रैक किया और पता चला कि वह गाजा में है। उन्होंने कहा कि बाद में उन्होंने वायरल वीडियो क्लिप में उन्हें देखा।

उन्होंने कहा, “मुझे यह भी नहीं पता कि बंधकों को लेकर स्थिति क्या है। स्थिति अच्छी नहीं दिख रही है।” आशेर ने कहा कि उनकी पत्नी और सास के पास जर्मन नागरिकता है और उन्होंने जर्मन सरकार से मदद माँगी है। वहीं, जर्मनी का कहना है कि तेल अवीव में जर्मन दूतावास के अधिकारी अपने प्रभावित नागरिकों को लेकर वहाँ के अधिकारियों के संपर्क में हैं।

वहीं, आतंकियों के इन हमलों में मृतक इजरायलियों की संख्या 300 पहुँच गई है। एक इजरायली अधिकारी ने रविवार (8 अक्टूबर 2023) की सुबह को बताया कि हमास के हमलों के बाद इजरायल में मरने वालों की संख्या कम से कम 300 हो गई है। वहीं, इज़रायली मीडिया के अनुसार, इन हमलों में 1500 से अधिक अन्य लोग घायल हुए हैं। वहीं, दर्जनों लोगों को हमास के आतंकियों ने अपहरण कर लिया है।

बता दें कि शनिवार (7 अक्टूबर 2023) की सुबह फिलिस्तीन के आतंकी संगठन हमास ने लगभग आधे घंटे में इजरायल पर 5000 रॉकेट से हमला कर दिया। हालाँकि, इजरायल ने इनकी संख्या लगभग 2300 बताई है। हमास द्वारा जमीन, समुद्र और वायु क्षेत्रों से एक साथ किए गए। इसी दौरान हमास के आतंकी सीमा पर लगे बाड़ को तोड़कर और पैराग्लाइडर से भी इजरायल में घुस आए और कहर बरपा दिया।

हमास के बंदूकधारियों ने गाजा सीमा से 15 मील (24 किलोमीटर) दूर तक के कस्बों में 22 स्थानों पर एक साथ धावा बोल दिया। कुछ स्थानों पर वे घंटों तक घूमते रहे, नागरिकों और सैनिकों को गोलियों से भूनते रहे। हमास के आतंकवादियों ने कम से कम दो शहरों में गतिरोध पैदा कर लोगों को बंधक बना लिया है। हालाँकि, इन जगहों और अपने लोगों को मुक्त कराने के लिए इजरायल ने प्रयास शुरू कर दिए हैं और फिलिस्तीन के अड्डों को तबाह करना शुरू कर दिया है।

Leave a Reply