Sunday, June 23, 2024
Uncategorized

(LIVE VIDEOS) हर कोने में आग ही आग ,जल रहा है पाकिस्तान,सेना पर पुलिस पर हमले जारी

पाकिस्तान के एक्स पीएम व पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी के चीफ इमरान खान की अरेस्टिंग के खिलाफ देश में बवाल हो रहा है। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के कार्यकर्ताओं ने इस्लामाबाद में प्रदर्शन और हंगामा किया।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के एक्स पीएम व पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी के चीफ इमरान खान की अरेस्टिंग के खिलाफ देश में बवाल हो रहा है। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के कार्यकर्ताओं ने इस्लामाबाद में प्रदर्शन और हंगामा किया।

इमरान खान की गिरफ्तारी के बाद पाकिस्तान में गृह युद्ध जैसे हालात हो गये हैं। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के कार्यकर्ताओं ने आर्मी हेडक्वॉर्टर और एयरबेस पर हमला किया है। पुलिस की गाड़ियां फूंक दी है। लाहौर में फौज के एक कमांडर के घर को आग के हवाले कर दिया गया। कई और फौजी अफसरों के घर हमले किये गये हैं। कई शहरों में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़पें भी हुई हैं। सरकार ने पूरे देश में यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर को बंद कर दिया है। हिंसा को देखते हुए आज देश भर में प्राइवेट स्कूल बंद रहेंगे।
इमरान की गिरफ्तारी की खबर के बाद से पूरे पाकिस्तान में समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। कई शहरों में आगजनी और हिंसा हुई। पुलिस को क्वेटा में हिंसक भीड़ पर गोलियां चलानी पड़ी। पंजाब प्रांत में दो दिन के लिए धारा 144 लागू की गई है। पेशावर में 30 दिनों के लिए धारा 144 लगाई गई है।
पीटीआई लीडर कासिम सूरी ने दावा किया है कि क्वेटा में प्रदर्शन के दौरान एक पार्टी कार्यकर्ता की मौत हो गई। इस्लामाबाद पुलिस ने बताया कि पांच अफसर घायल हुए हैं। जबकि 43 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया गया है। PTI ने अपने नेताओं और वर्कर्स को बुधवार की सुबह आठ बजे इस्लामाबाद ज्यूडिशियल कॉम्प्लेक्स में इकट्ठा होने के लिए कहा है। पीटीआई लीडर फवाद चौधरी ने कहा है कि पार्टी इस्लामाबाद हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जायेगी।
पाकिस्तान टेलीकॉम अथॉरिटी ने कहा है कि सामान्य इंटरनेट सेवा को भी बंद कर दिया गया है।पाकिस्तान पुलिस ने शहर में निषेधाज्ञा लागू कर दी है। इस्लामाबाद पुलिस ने कहा कि देश की

राजधानी में हिंसा की कोई घटना नहीं हुई है।

इमरान खान को अल कादिर यूनिवर्सिटी स्कैम केस में मंगलवार को इस्लामाबाद हाईकोर्ट से अरेस्ट किया गया। इमरान कोर्ट में दो मामलों में जमानत के लिए पहुंचे थे। मरान को अल-कादिर ट्रस्ट स्कैम केस में अरेस्ट किया गया है। पाकिस्तान के अखबार ‘द डॉन’ के मुताबिक- अल कादिर ट्रस्ट घोटाला 50 अरब रुपये से ज्यादा का है। इसका फायदा इमरान, पत्नी बुशरा बीबी और बुशरा की दोस्त फराह गोगी ने उठाया।इमरान ने रविवार को एक रैली में खुफिया एजेंसी ISI की पॉलिटिकल विंग के चीफ फैसल नसीर पर बेहद संगीन आरोप लगाए थे। खान ने कहा था- फैसल मुझे कत्ल करना चाहते हैं। इसमें कुछ अफसर उनका साथ दे रहे हैं। फौज को मजबूरन सामने आकर इन आरोपों को खारिज करना पड़ा। इसके बाद, मंगलवार को लाहौर से पेशी के लिए इस्लामाबाद रवाना होने से पहले इमरान ने कहा- फौज कान खोलकर सुन ले। मैं डरने वाला नहीं हूं। इसके लगभग चार घंटे बाद उन्हें इस्लामाबाद हाईकोर्ट के बायोमेट्रिक रूम से शीशे तोड़कर गिरफ्तार कर लिया गया। कहा जा रहा है कि फौज को चैलेंज करने के बाद ही खान की गिरफ्तारी तय हो गई थी।

 

इमरान खान को इसलिए अरेस्ट किया गया
इमरान खान को अल कादिर ट्रस्ट केस में राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो ने गिरफ्तार किया। आरोप है कि इमरान खान ने अपनी पत्नी पत्नी बुशरा बीबी और उनके करीबी सहयोगी जुल्फिकार बुखारी और बाबर अवान ने अल-कादिर प्रोजेक्ट ट्रस्ट का गठन किया था। इसका उद्देश्य पंजाब के झेलम जिले की सोहावा तहसील में अल-कादिर विश्वविद्यालय की स्थापना करना था। लेकिन, इमरान खान ने इस ट्रस्ट के जरिए जमीन बनाई और चंदे के तौर पर पैसे कमाए। इस ट्रस्ट का इस्तेमाल काले धन को सफेद बनाने में किया गया। हालांकि, इमरान खान शुरू से ही इन आरोपों से इनकार करते रहे हैं।इमरान खान को राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) ने गिरफ्तार किया। इमरान खान लंबे समय से एनएबी के निशाने पर थे। एनएबी का आरोप है कि उन्होंने अल कादिर ट्रस्ट केस में इमरान खान को कई बार समन भेजा था, लेकिन वे पेश नहीं हो रहे थे। ऐसे में एनएबी के सामने इमरान को गिरफ्तार करने की मजबूरी थी। एनएबी का यह भी दावा है कि इस केस में उनके पास इमरान खान के खिलाफ पुख्ता सबूत हैं।

पाकिस्तान में पीटीआई नेताओं की गिरफ्तारी तेज
पाकिस्तान में मचे कोहराम के बीच इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेताओं की गिरफ्तारी शुरू हो गई है। इस्लामाबाद में पीटीआई के कई नेता गिरफ्तार हुए हैं। इतना ही नहीं, पूरे देश में पीटीआई के कई नेताओं को नजरबंद भी किया गया है। शाह महमूद कुरैशी को घर में हाउस अरेस्ट किया गया है। फवाद चौधरी के घर के बाहर भी पुलिस को तैनात किया गया है।
पाकिस्तानी आर्मी की आपात बैठक

इमरान खान की गिरफ्तारी के बाद पैदा हुए हालात को लेकर पाकिस्तानी सेना ने आपात बैठक बुलाई। इसमें आर्मी चीफ जनरल असीम मुनीर के अलावा डीजी आईएसआई नसीम अंजुम, डीजीएमएओ समेत कई बड़े अधिकारी शामिल हुए। बैठक के दौरान पाकिस्तान में मार्शल लॉ लगाने की भी बात की गई। डीजीएमओ ने पाकिस्तान सरकार को मार्शल लॉ लगाने का प्रस्ताव भी सौंपा है।
इमरान खान कल होंगे कोर्ट में पेश
इमरान खान को बुधवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। इस दौरान पाकिस्तान की राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो उनके रिमांड की मांग करेगी। इसके अलावा उन्हें तोशाखाना मामले में भी बुधवार को एक अलग अदालत में पेश किया जायेगा। इमरान खान पर विदेशों से मिले गिफ्ट को तोशाखाना में जमा न कर खुद के लिए इस्तेमाल करने का आरोप है।

इस्लामाबाद हाईकोर्ट से इमरान खान को झटका
इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने इमरान खान की गिरफ्तारी को वैध ठहराया है। गिरफ्तारी के तुरंत हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस की कोर्ट में सुनवाई की गई। इसमें इस्लामाबाद के आईजी और आंतरिक सचिव को तलब किया गया। एनएबी के डीजी और वकील को भी बुलाया गया। बहस के बाद कोर्ट ने कहा कि इमरान खान की गिरफ्तारी पाकिस्तान के कानूनों के अनुसार है। कोर्ट ने इस्लामाबाद के आईजी और आंतरिक सचिव के खिलाफ अवमानना की कार्रवाई को भी कहा है।

पाकिस्तान आर्मी में विवाद, फैज हमीद गुट इमरान के साथ
इमरान खान की गिरफ्तारी के बाद पाकिस्तान की सेना दो फाड़ हो गई है। सेना का एक धड़ा फैज हमीद की अगुवाई में इमरान खान को सपोर्ट कर रहा है। हालांकि बड़ी संख्या में सैन्य अधिकारी अब भी सेना प्रमुख जनरल असीम मुनीर के मातहत ही काम कर रहे हैं।इमरान खान को अर्द्धसैनिक बलों द्वारा इस्लामाबाद उच्च न्यायालय में गिरफ्तार किये जाने से कुछ घंटे पहले मंगलवार को एक आतंकवाद रोधी अदालत ने कई मामलों में उनकी अंतरिम जमानत अर्जी मंजूर कर ली थी। खान अभी देश भर में 121 मामलों का सामना कर रहे हैं, जिनमें राजद्रोह, आतंकवाद, ईशनिंदा और हिंसा भड़काने के आरोप शामिल हैं। डॉन अखबार की खबर के अनुसार, आतंकवाद रोधी अदालत के न्यायाधीश राजा जवाद अब्बास ने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के प्रमुख की अर्जी पर सुनवाई की। खान ने यहां 18 मार्च को संघीय न्यायिक परिसर के बाहर हुई हिंसा से जुड़े मामलों में जमानत देने का अनुरोध किया था। अदालत ने सभी सात मामलों में 50,000 पाकिस्तानी रुपये के मुचलके पर खान (70) को बेल दे दी।

Leave a Reply