Monday, April 22, 2024
Uncategorized

कांग्रेस का सबसे बड़ा झूठ,इनकम टैक्स के छापे पर,देखिए सिलसिलेवार मक्कारी

Here are some facts which clear the air around the web of lies you are spreading.

Q: What is the issue with the Indian National Congress’s (INC) tax demand for A.Y. 2018-19?

A: The issue involves an outstanding tax demand of Rs. 135 crore against the INC for A.Y. 2018-19, comprising Rs. 103 crore from assessment and Rs. 32 crore in interest.

Q: Why was the exemption under section 13A disallowed for the INC?

A: The exemption was disallowed because the INC failed to comply with section 13A(d) provisions and filed its income return late.

Q: What was the outcome of the assessment on July 6, 2021?

A: The assessment completed on July 6, 2021, resulted in an income assessment of Rs. 199 crore and a tax demand of Rs. 105 crore after disallowing the section 13A exemption.

Q: What did the INC pay following the Assessing Officer’s stay proceedings request?

A: Following the request, the INC was asked to pay 20% of the total demand, approximately Rs. 21 crore, but only paid Rs. 78 lakh.

Q: What happened to the INC’s appeal to the CIT(A)?

A: The INC’s appeal to the Commissioner of Income Tax (Appeals) [CIT(A)] was dismissed.

Q: How much has the INC paid after filing a second appeal with the ITAT in May 2023?

A: After filing the second appeal, the INC paid an additional Rs. 1.72 crore in October 2023.

Q: How has the recovery of Rs. 115 crore been effected from the INC’s accounts?

A: The recovery was effected by withdrawing money from various INC bank accounts, totaling Rs. 115 crore.

Q: Were the INC’s bank accounts frozen during this recovery process?

A: No, the accounts were not frozen. the operation of the INC’s accounts was not stopped, the routine recovery measures were taken without freezing the accounts.

Q: What is the significance of the Income Tax Department’s statement during the ITAT proceedings on February 16, 2024?

A: The recovery by withdrawing money is a standard procedure and that the operation of INC’s accounts has not been halted. This emphasizes that the INC has sufficient financial infrastructure to continue its activities despite the withdrawals.

Q: When is the next hearing scheduled, and what might be expected?

A: The next hearing is scheduled for February 21, 2024. This hearing will likely further address the outstanding tax demand and the INC’s compliance with the Income Tax Act.

Don’t spread rumours. Look at the facts only. Your propaganda won’t work here.

नई दिल्ली । कांग्रेस द्वारा सरकार पर उन्हें आर्थिक रूप से पंगु बनाने की कोशिश करने के आरोप पर भाजपा ने पलटवार करते हुए कहा है कि अपने आप को संविधान, कानून और नियमों से ऊपर मानने वाली कांग्रेस को आज टैक्स की प्रक्रिया भी वसूली लग रही है।

भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कांग्रेस के आरोप पर पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी को यह लगता है कि वह संविधान और कानून से ऊपर है और इसलिए कांग्रेस नेताओं ने आज अपने अधिकृत मंच से जो प्रेस कॉन्फ्रेंस की है, उसने ‘उल्टा चोर- कोतवाल को डांटे’ की कांग्रेस की मानसिकता को उजागर कर दिया है।

भाजपा मुख्यालय में मीडिया से बात करते हुए शहजाद पूनावाला ने कहा कि इससे ‘पहले चोरी फिर सीनाजोरी’ की कांग्रेस की भावना भी उजागर होती है। कांग्रेस नेता कहते हैं कि उनसे 200 करोड़ रुपए की वसूली की जा रही है, फाइनेंशियल टेररिज्म किया जा रहा है और चुनाव आ रहे हैं, इसलिए उन्हें आर्थिक रूप से पंगु बनाने की ​कोशिश की जा रही है। कांग्रेस नेताओं ने यह भी कहा कि उल्लंघन छोटा-मोटा है तो इतनी बड़ी सजा क्यों ?

उन्होंने कांग्रेस नेताओं के तमाम तर्कों और आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि जिसका चरित्र, जिसकी विचारधारा कुकर्म, लूट और वसूली के रहे हैं, उस कांग्रेस पार्टी को आज टैक्स की प्रक्रिया भी वसूली लग रही है।

 

भाजपा नेता ने आगे कहा कि आयकर विभाग द्वारा कांग्रेस पार्टी से 135 करोड़ रुपए का इनकम डिमांड किया गया। वर्ष 2018-19 में कांग्रेस पर 103 करोड़ का एक असेसमेंट आया था, जिसके भुगतान नहीं होने के कारण उस पर 32 करोड़ का टैक्स कंपोनेंट जुड़कर 135 करोड़ रुपए का आउटस्टैंडिंग अमाउंट बन गया था, जिसकी डिमांड आयकर विभाग द्वारा की गई थी और यह असेसमेंट जुलाई 2021 में हुआ था।

उन्होंने कहा कि यह बात सही है कि आमतौर पर पॉलिटिकल पार्टी को इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन-13 (ए) के तहत टैक्स नहीं देना पड़ता है, लेकिन, 13-डी और कुछ अन्य सेक्शन में यह भी बताया गया है कि किन परिस्थितियों में टैक्स देना पड़ सकता है। कांग्रेस ने इस डिमांड के खिलाफ अपील की और अपील करने पर नियमों के तहत उन्हें 20 प्रतिशत राशि जमा करनी थी, लेकिन यहां भी कांग्रेस ने नियमों का पालन नहीं करते हुए सिर्फ 78 लाख रुपए ही जमा कराए। कांग्रेस की वह अपील डिसमिस कर दी गई। इसके बाद कांग्रेस पार्टी ने मई 2023 में दूसरी बार अपील की, लेकिन दूसरी अपील में भी कांग्रेस ने न तो स्टे मांगा और न ही पूरे पैसे जमा कराए। इसलिए, कानून के अनुसार कार्रवाई करने का अधिकार इनकम टैक्स विभाग के अधिकारियों के पास है।

उन्होंने यह भी कहा कि आर्थिक आतंकवाद की बात करने वाली कांग्रेस को भारत सरकार द्वारा संसद में अर्थव्यवस्था पर पेश किए गए श्वेत पत्र को पढ़ना चाहिए।

–आईएएनएस

Leave a Reply