Monday, February 26, 2024
Uncategorized

जब अतीक ने 6 साल की बच्ची का बल्तकार करवाया,मकान हड़पने को,पिता की उंगलियां तोड़ी समझौते को,हिजड़ो की सरकार आंख बंद कर देखती रही

अतीक अहमद का अंत हो गया है. पुलिस कस्टडी में तीन हत्यारों ने कैमरों के सामने ही अतीक अहमद की हत्या कर दी थी. माफिया के अंत के बाद उसके जुल्म की कहानियां सामने आने लगी हैं. अतीक ने आम लोगों के अलावा अपने रिश्तेदारों पर भी जुल्म ढाए थे. एक बार तो मकान नहीं बेचने पर अतीक के गुर्गों ने बेटी का रेप करके हत्या कर दी थी.  
अतीक के जुल्म की कहानियां कई हैं, लेकिन शुरुआत एक ऐसे वारदात से करेंगे, जिसे सुनकर आप भी हैरत में पड़ जाएंगे. दरअसल, अतीक के गुर्गों में शुमार गुड्डू और तबरेज ने एक शख्स से जबरन उसका घर लिखवाना चाहा लेकिन जब पिता ने उस घर को लिखने से मना किया तब उसकी साढ़े 6 साल की बेटी को उठा लिया.
बच्ची का रेप करके हत्या, फिर लिखवाया मकान
इसके बाद उब बच्ची का रेप किया गया और फिर हत्या कर दी गई. दरिंदगी यहीं तक नहीं रुकी. हत्या के बाद भी अपराधी खुलेआम घूमते रहे और बाद में पिता को उठाकर बंद कोठी में ले गए, जहां उसकी खूब पिटाई की गई. उसके हाथों की उंगली तोड़ दी गई और फिर सुलहनामे पर जबरन दस्तख़त करवाया गया.
बेटी के बलात्कार और हत्या के बाद घर भी लिखवाया और फिर बलात्कार मामले में जबरन सुलहनामा पर दस्तख़त भी करवाया. योगी सरकार में यह मामला दोबारा खुला तो सभी फरार हैं लेकिन पिता को उम्मीद है कि न्याय मिल जाएगा. आप इससे अंदाजा लगा सकते हैं कि अतीक ने किस तरह से लोगों पर जुल्म ढाए थे.
साढू के भाई से मांगी थी 5 करोड़ की रंगदारी
रंगदारी और पैसे वसूलने के मामले में अतीक अहमद ने दूसरों को क्या… अपने रिश्तेदारों तक को नहीं छोड़ा. अतीक अहमद ने अपने सगे साढू के भाई जीशान से भी 5 करोड़ की रंगदारी मांगी थी. रंगदारी मांगने की कहानी भी सिर्फ रंगदारी मांगने तक नहीं थी. जीशान को पहले भरपूर पीटा गया. उसके घर पर बुलडोजर चलवाए गए.
जीशान के परिवार पर गोली और बम चले. अतीक अहमद के बेटे अली ने जीशान को उठाकर साबरमती जेल में बंद अतीक अहमद से बात कराई. तब अतीक ने पांच करोड़ रुपये अली को देने को कहा था. अली और उसके साथियों के खिलाफ  जीशान ने हिम्मत दिखाई थी और और पुलिस ने मामला दर्ज कराया. फिलहाल जीशान भागा भागा फिरता है.
2 लाख रुपये में कब्जा कर ली करोड़ों की प्रॉपर्टी
अतीक की सताई श्वेता शर्मा भी सामने आ गई हैं. प्रयागराज के खुलताबाद इलाके के नुरुल्लाह रोड पर श्वेता शर्मा के ससुराल की जमीन बेहद ही प्राइम लोकेशन पर थी, जिसने कई दुकानें बनी थी. पिछले साल 22 नवंबर को अचानक ही अतीक के गुर्गे पहुंचते हैं और श्वेता शर्मा के पति मोहनीश परवेज और उसके मामा को गन पॉइंट पर उठा ले जाते हैं.
भीड़ भरे बाजार की बेशकीमती चार दुकानों को जबरन खाली कराकर और खुद को अतीक अहमद का आदमी बताकर मोहनीश परवेज और उसके मामा से जबरन पूरी जमीन जिसमें आगे की चार दुकान और पीछे का मकान है… सब लिखवा लेते हैं, जब इस बात का पता मोहनिश परवेज की पत्नी श्वेता को चलता है तो वह लड़ाई लड़ती है.
अतीक अहमद के गुर्गों ने गन पॉइंट पर करोड़ों की बेशकीमती जमीन सिर्फ 2 लाख में लिखवा ली थी. अतीक के गुंडों ने जमीन बेचने के एग्रिमेंट पर जबरन दस्तखत करवाए और 5-5 लाख के तीन चेक दिए, जिसमें से 13 लाख रुपये दोबारा कैश निकलवा कर वापस लिया. श्वेता शर्मा यह लड़ाई लड़ रही है और अब उसे यकीन है कि उसे इंसाफ मिलेगा.
यह तो महज तीन कहानी है. प्रयागराज और उसके आसपास के इलाकों में अतीक अहमद के सताए लोगों की बड़ी लंबी लिस्ट है. कोई चुप रहा तो कोई थाने तक पहुंचने की हिम्मत जुटा पाया. अतीक अहमद पर 100 से अधिक केस दर्ज थे और योगी सरकार ने अब तक हजार करोड़ से अधिक की संपत्ति को कुर्क किया है.
की बेशकीमती जमीन सिर्फ 2 लाख में लिखवा ली थी. अतीक के गुंडों ने जमीन बेचने के एग्रिमेंट पर जबरन दस्तखत करवाए और 5-5 लाख के तीन चेक दिए, जिसमें से 13 लाख रुपये दोबारा कैश निकलवा कर वापस लिया. श्वेता शर्मा यह लड़ाई लड़ रही है और अब उसे यकीन है कि उसे इंसाफ मिलेगा.
यह तो महज तीन कहानी है. प्रयागराज और उसके आसपास के इलाकों में अतीक अहमद के सताए लोगों की बड़ी लंबी लिस्ट है. कोई चुप रहा तो कोई थाने तक पहुंचने की हिम्मत जुटा पाया. अतीक अहमद पर 100 से अधिक केस दर्ज थे और योगी सरकार ने अब तक हजार करोड़ से अधिक की संपत्ति को कुर्क किया है.

Leave a Reply