Tuesday, April 16, 2024
Uncategorized

निकिता तोमर हत्याकांड: मोहम्मद तौफीक, मोहम्मद रेहान दोषी घोषित,मुसलमान बनाना चाहता था कांग्रेस विधायक का भाई

 

बहुचर्चित निकिता तोमर हत्‍याकांड में आया फैसला, तौसीफ और रेहान दोषी करार, तीसरा आरोपी बरी

26 अक्टूबर, 2020 को हरियाणा के बल्लभगढ़ में निकिता तोमर की कॉलेज के बाहर गोली मारकर हत्या की गई थी। आरोप था कि तौसीफ नामक युवक ने उसे गोली मारी थी। उसके साथ रेहान नामक एक लड़का और मौजूद था, जबकि अजरुद्दीन ने तौसीफ को हत्या में इस्तेमाल किया गया हथियार उपलब्ध कराया था।

फरीदाबाद के निकिता तोमर हत्‍याकांड में कोर्ट का आया फैसला

कोर्ट ने तौसीफ और रेहान को दोषी ठहराया, 26 को आएगा फैसला

हथियार मुहैया कराने के आरोपी को फास्‍ट ट्रैक कोर्ट ने बरी किया

शादी करने से इन्‍कार करने पर तौसीफ ने निकिता की हत्‍या कर दी थी

फरीदाबाद
फरीदाबाद के बहुचर्चित निकिता तोमर हत्‍याकांड में अदालत का फैसला (Judgement In Nikita Tomar Murder Case) आ गया है। बुधवार को इस मामले में फास्‍ट ट्रैक कोर्ट ने दो आरोपियों तौसीफ और रेहान को दोषी करार दिया है। हथियार मुहैया कराने के आरोपी अजहरुद्दीन को बरी कर दिया गया है। 26 मार्च को दोनों दोषियों को सजा सुनाई जाएगी। इस मामले में कुल 57 गवाहों की गवाही हुई है। तौसीफ ने अपने दोस्‍त रेहान के साथ मिलकर निकिता की गोली मारकर हत्‍या कर दी थी।

उत्तर प्रदेश के हापुड़ निवासी निकिता तोमर अग्रवाल कॉलेज में B.Com फाइनल इयर की छात्रा थी। 26 अक्टूबर 2020 की शाम करीब पौने 4 बजे जब वह परीक्षा देकर कॉलेज के बाहर निकली तो सोहना निवासी तौसीफ ने अपने दोस्त रेहान के साथ मिलकर कार में उसे अगवा करने की कोशिश की। इस दौरान निकिता की मौत हो गई।

शादी का दबाव बना रहा था तौसीफ
निकिता के घरवालों ने बताया था कि तौसीफ कुछ दिनों से लड़की पर शादी का दबाव बना रहा था। उसने निकिता से जबरदस्ती दोस्ती भी करनी चाही। निकिता के जब इन्‍कार किया तो तौसीफ ने उसको गोली मार दी थी। अस्पताल में इलाज के दौरान निकिता की मौत हो गई थी। दिनदहाड़े अंजाम दी गई यह वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई थी, जिसके आधार पर आरोपियों की पहचान करके तौसीफ व रेहान को पुलिस ने गिरफ्तार किया। मामले में तीसरे आरोपी अजरुद्दीन ने तौसीफ को हथियार उपलब्ध कराया था।

तौसीफ है कांग्रेस विधायक का चचेरा भाई, धर्म बदलवाकर शादी करना चाहता था

2018 में भी निकिता का किया था अपहरण
आरोपी ने साल 2018 में भी निकिता का अपहरण कर निकिता पर शादी का दबाव बनाया था। निकिता के परिजनों ने एफआईआर दर्ज कराई थी। इसके बाद पुलिस ने आरोपी तौसीफ को गिरफ्तार भी कर लिया था, लेकिन उसके परिवारवाले हाथ-पैर जोड़ने लगे और निकिता के परिवार ने मामला वापस लेते हुए समझौता कर लिया। इसके बाद भी तौसीफ ने निकिता को परेशान करना नहीं छोड़ा।

निकिता तोमर हत्याकांड के आरोपी तौसीफ के साथी रेहान की जमानत याचिका खारिज, न्याय दिलाने के लिए हुई पंचायत

तौसीफ का मामा है कुख्यात बदमाश
पुलिस ने बताया कि तौसीफ का मामा कुख्यात बदमाश है जो इस वक्त जेल में सजा काट रहा है। तौसीफ ने अपने मामा के गैंग के गुर्गे से ही देसी तमंचा इस वारदात को अंजाम देने के लिए लिया था। पुलिस ने घटना में इस्तेमाल तमंचा, कार व दोनों आरोपितों के मोबाइल बरामद कर लिए हैं। पुलिस सूत्रों ने बताया कि तौसीफ पॉलिटिकल व क्रिमिनल बैकग्राउंड से आता है। उसका मामा इस्लामुद्दीन हरियाणा और दिल्ली का कुख्यात बदमाश रहा है। उसने कई हत्याएं, लूट व किडनैपिंग की वारदातों को अंजाम दिया था। गुड़गांव में उसके मामा ने एक इंस्पेक्टर सुरेंद्र को किडनैप किया था। इस मामले में बाद में इंस्पेक्टर को छुड़वा लिया गया था। इस्लामुद्दीन कई मामलों में इस वक्त सजा काट रहा है।

 

Leave a Reply