Monday, March 4, 2024
Uncategorized

कांग्रेस का खास नेता,सीरियल बलात्कारी, छोटी बच्चियों का शिकारी,लकड़ी का डंडा डाल देता था….

‘प्राइवेट पार्ट में डाला डंडा, माँगता था बच्चियाँ’: कॉन्ग्रेस के पूर्व MLA ने जो किया-जो करवाया, रेप पीड़िता ने पुलिस को सब कुछ बताया

राजस्थान के बाड़मेर से तीन बार कॉन्ग्रेस के विधायक रहे मेवाराम जैन सहित 9 के खिलाफ पॉक्सो एक्ट में मामला दर्ज हुआ है। पीड़िता ने पुलिस को दी शिकायत में जो कुछ बताया है, उससे पता चलता है कि उसकी प्रताड़ना करीब दो साल से चल रही थी। न केवल उसके साथ रेप हुआ, बल्कि उसकी सहेली का भी रेप किया गया। उसकी नाबालिग बेटी का भी यौन शोषण हुआ।

पीड़िता के अनुसार कॉन्ग्रेस के पूर्व विधायक मेवाराम जैन को नाबालिग लड़कियों के साथ संबंध बनाने का चस्का है। नाबालिग बच्चियों और अन्य महिलाओं को लाने के लिए उस पर दबाव बनाया जाता था। महिला का आरोप है कि पूर्व विधायक की शह पर पुलिसकर्मियों ने भी उसे टॉर्चर किया। उसके प्राइवेट पार्ट में डंडा तक डाल दिया गया था।

झूठे केस दर्ज कराए, प्राइवेट पार्ट में डाला डंडा: पीड़िता

रिपोर्ट के मुताबिक पीड़िता ने बताया है कि मेवाराम और रामस्वरूप ने उसके दो अश्लील वीडियो बनाए थे। जब उसके साथ रेप करते-करते उनका मन भर गया, तो वे 15-16 साल की लड़कियाँ लाने को उसे कहने लगे। पीड़िता के अनुसार उसके घर में घुसकर आरोपितों ने उसकी सहेली के साथ रेप किया और उसका भी वीडियो बनाया।

पीड़िता के अनुसार रामस्वरूप और मेवालाल ने उसके खिलाफ दो मामले भी दर्ज कराए हैं। पहला मामला 29 नवंबर 2022 को दर्ज कराया गया था। इस मामले में बाड़मेर कोतवाली के थानाधिकारी गंगराम खावा और एसआई दाऊद खान उसे जरूरी काम बताकर पाली रोड के एक फॉर्म हाउस पर ले गए। वहाँ डीएसपी आनंद सिंह राजपुरोहित और कई पुलिसकर्मी मौजूद थे। मौके पर ही थोड़ी देर में उसकी सहेली को भी बुलाया गया। पीड़िता के अनुसार इसके बाद उसे और उसकी सहेली को बुरी तरह पीटा गया। उनके प्राइवेट पार्ट में लकड़ी का डंडा डालकर प्रताड़ित किया गया।

पीड़ित महिला के अनुसार इस दौरान आरोपितों ने एक वीडियो भी शूट किया। इसमें उन्हें खुद को ब्लैकमेलर बताने को मजबूर किया गया। साथ ही सादे कागजों पर दस्तखत करा लिए गए। इन घटनाओं के बारे में किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी। पीड़ित महिला ने अपनी शिकायत में ये खुद को, अपने परिवार को और मामले के अन्य गवाहों को मेवाराम तथा रामस्वरूप से जान का खतरा भी बताया है।

क्या है मामला

पीड़ित महिला ने अपनी शिकायत में बताया है कि 2021 में वह अपने पिता के इलाज कराने के लिए बस से सफर कर रही थी। इसी दौरान रामस्वरूप से मुलाकात हुई। रामस्वरूप ने उससे दोस्ती की। फिर होटल ले जाकर उसे नशे की गोलियाँ खिला दी और रेप किया। रामस्वरूप ने इसका वीडियो बना लिया। ब्लैकमेल कर कई बार रेप किया।

कथित तौर पर इसके बाद रामस्वरुप उसे बाड़मेर के तत्कालीन कॉन्ग्रेस विधायक मेवाराम जैन के पास ले गया। जैन ने भी उसका रेप किया। पीड़िता का आरोप है कि ये लोग उसके घर भी आते थे और रेप करते थे। इसी दौरान एक बार उसकी सहेली के साथ रेप किया गया था। बाद में उसकी नाबालिग बेटी से भी आरोपित छेड़छाड़ करने लगे। बेटी के सामने ही पीड़िता के साथ अश्लील हरकत करते थे। अन्य महिलाओं को भी लाने का दबाव डालते थे।

पीड़िता का कहना है कि डर और बदनामी के कारण वह चुपचाप प्रताड़ना झेलती रही। लेकिन जब उसकी नाबालिग बेटी के साथ छेड़छाड़ हुआ तो वह शिकायत लेकर बाड़मेर के कोतवाली थाने गई। लेकिन केस दर्ज करने के बजाए उसे पुलिसकर्मियों ने प्रताड़ित किया। पीड़ित महिला का कहना है कि इसके बाद रामस्वरूप और मेवालाल ने उसके खिलाफ दो झूठे मामले भी दर्ज करा दिए।

उल्लेखनीय है कि मेवाराम जैन ने 30 अक्टूबर 2022 को बाड़मेर के कोतवाली थाने में ब्लैकमेल करने का केस दर्ज करवाया था। 15 नवंबर 203 को प्रवर्तन निदेशालय ने बाड़मेर जैन की ओर से दर्ज कराई गई सेक्सटॉर्शन की शिकायत के संबंध में धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) का मामला दर्ज किया था। इसके बाद सोशल मीडिया में उनकी कुछ तस्वीरें भी आईं थी। लेकिन जैन ने इन्हें ​एडिटेड बताया था।

अब पीड़ित महिला ने जिस तरह के गंभीर आरोप जैन और उनके साथियों पर लगाए हैं उसने सनसनी मचा दी है। इस मामले में जोधपुर के डीसीपी (पश्चिम) गौरव यादव ने बताया कि एक महिला की तरफ से थाने में रिपोर्ट दी गई है। मामले की जाँच की जा रही है। महिला की शिकायत पर रेप, गैंगरेप, पॉक्सो, ब्लैकमेलिंग, जान से मारने की धमकी, मारपीट, दुष्कर्म, एससी-एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Leave a Reply