Thursday, February 22, 2024
Uncategorized

भारत के मुख्य न्यायाधीश के नाम से चला प्रचार प्रसार कैंपेन,देश में पहली बार,कौन लोग हैं ये

आलोक भट ने एक जैसे शब्दों के साथ तीन ट्वीट्स का स्क्रीनशॉट साझा किया। स्क्रीनशॉट के दो ट्वीट में एक ही टेक्स्ट था। आगे के ट्वीट और थ्रेड में भट्ट ने स्क्रीन स्क्रॉल के वीडियो की एक सीरीज पोस्ट की। जहाँ बॉलीवुड और कुछ राजनीतिक दलों को प्रोमोट करने वाले हैशटैग के साथ किए गए ट्वीट देखे जा सकते हैं। जिन खातों से #DYChandrachudBestCJI ट्रेंड कराया जा रहा था उन्हीं खातों का इस्तेमाल कॉन्ग्रेस, शाहरुख खान और फोन कंपनियों को प्रोमोट करने के लिए भी किया गया था।

ऑपइंडिया के शोध में पाया गया कि 21 मार्च को इस हैशटैग का इस्तेमाल कर के लगभग 12,500 से अधिक ट्वीट किए गए थे। इनमें से 10,400+ ट्वीट भारत से किए गए। ये ट्वीट 5 AM UTC से 2 PM UTC यानि 10:30 AM IST से 7:30 PM IST के बीच किए गए थे। यानि ज्यादातर ट्वीट ऑफिसियल समय पर किए गए जो पीआर कैंपेनिंग के जरिए ट्रेंड चलाने का इशारा करते हैं।

कैसे #DYChandrachudBestCJI वाला ट्वीट 21 मार्च को ट्विटर पर ट्रेंड हुआ (साभार: टॉकवॉकर)

ट्विटर पर इस ट्रेंड में हमें किसी प्रसिद्ध हैंडल द्वारा हैशटैग को बढ़ावा देने का प्रमाण नहीं मिला। जो एक बार फिर से लो बजट पीआर कैंपेन की तरफ इशारा कर रहा था। इसके बाद हमने चलाए जा रहे हैशटैग के साथ ट्वीट करने वाले दस रैंडम अकाउंट्स की जाँच की। जिसमें सिर्फ चार ट्विटर ब्लू टिक सत्यापित खाते हैशटैग के साथ ट्वीट करते पाए गए। इनमें एक भी लीगेसी अकाउंट नहीं मिला। 6 खाते ट्विटर ब्लू टिक सत्यापित नहीं थे।

हैशटैग को प्रोमोट करने वाले ब्लू टिक वाले खाते (साभार- ट्विटर)

अगले चरण में हमने उन खातों का प्रोफाइल और किए गए अन्य ट्वीटों को खंगाला। गैर-सत्यापित खातों में से चार और ब्लू टिक सत्यापित खातों में से एक ने एक और हैशटैग #e4MediaClassHasNoClass के साथ ट्विट किया था। यह ट्वीट 22 मार्च को Exchange4Media पोर्टल के खिलाफ किया गया था।

Exhange4Media के खिलाफ ट्विटर अभियान (साभार -ट्विटर)

इन ट्विटर अकाउंट्स द्वारा 21 मार्च को #DYChandrachudBestCJI और #BBxSRK के साथ ट्वीट किए जा रहे थे।

21 मार्च को #DYChandrachudBestCJI #BBxSRK को बढ़ावा देने वाले खातों का सेट (साभार: ट्विटर)

इस हैशटैग के ट्रेंड करने से कई नेटिजन्स इस बात से चकित हैं कि देश के सीजेआई को लेकर ऑर्गनाइज तरीके से ट्रेंड चलवाया जा रहा है। जून 2020 में भी ऑपइंडिया ने कॉन्ग्रेस के लिए चलाए गए इसी तरह के अभियान पर रिपोर्ट की थी जिसे इस लिंक पर क्लिक कर पढ़ा जा सकता है।

 

Leave a Reply