Thursday, February 22, 2024
Uncategorized

सोचिए कितना नीच और गंदा खून होगा इनका साथ देने वाले नेताओं का

हमास ने इजरायल पर हमले के साथ-साथ कई बर्बरता भरी घटनाओं को अंजाम दिया। कहीं महिलाओं को नग्न कर घुमाया गया तो कहीं मासूम बेगुनाह बच्चों को भी नहीं बख्शा। वहीं अब एक ताजा मामला सामने आया है जिसे देख कर कोई भी भावुक हो जाएगा।

हमास ने इजरायल पर हमले के साथ-साथ कई बर्बरता भरी घटनाओं को अंजाम दिया। कहीं महिलाओं को नग्न कर घुमाया गया तो कहीं मासूम बेगुनाह बच्चों को भी नहीं बख्शा। वहीं अब एक ताजा मामला सामने आया है जिसे देख कर कोई भी भावुक हो जाएगा।

हमास ने 7 अक्टूबर को इजरायल पर हमले के दौरान किसी को भी नहीं बख्शा और क्रूरता भरी घटनाओं को अंजाम दिया।  इजरायली नागरिकों की हत्या सिर्फ गोलियों से नहीं ब्लकि उनका मानसिक तौर पर भी कत्ल किया गया।

PunjabKesari

इजरायली न्यूज चैनल के अनुसार, इजरायल की वॉलेंटियर सिविल इमरजेंसी सर्विस जका के कमांडर योसी लैंडो ने बताया कि एक घर की तलाशी के दौरान हमने एक गर्भवती महिला को फर्श पर पड़े देखा। जब हमने महिला को पलटा तो उसका पेट फटा हुआ था।  गर्भनाल से एक अजन्मा बच्चा भी जुड़ा हुआ था, जो रोंगटे खड़े कर देने वाला दृश्य था। महिला के पेट पर जिस पर चाकू से वार किया गया था और मां के सिर में गोली भी मारी गई थी।

 

योसी लैंडो ने बताया कि एक अलग घटना में दो माता-पिता के हाथ पीछे बंधे हुए थे। उनके सामने दो छोटे बच्चे थे, उनके भी हाथ पीछे बंधे हुए थे। उनमें से प्रत्येक को जला दिया गया था। इस दौरान आतंकवादी वहीं बैठ खाना खा रहे थे।

जका साउथ के कमांडर योसी लैंडो ने बताया कि मैंने 20 बच्चों को एक साथ देखा, जिनके हाथ पीछे की ओर बंधे थे और उन्हें गोली मार दी गई थी। इसके बाद उनको एक साथ जला दिया गया था। वहीं, हमास आतंकवादी समूह के प्रवक्ता और वरिष्ठ अधिकारी इज़्ज़त अल-रिशेक ने बुधवार को आरोप को “मनगढ़ंत और निराधार आरोप” बताया।

PunjabKesari

इजरायल गाजा पर करेगा जमीनी हमला
उधर, फिलिस्तीनी इस्लामिक प्रतिरोध आंदोलन (हमास) की सशस्त्र शाखा अल-कसम ब्रिगेड ने गुरुवार को शपथ लेते हुए कहा कि यदि इजरायल गाजा पर जमीनी हमला करता है तो उसे उसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। अल-कसम ब्रिगेड के प्रवक्ता अबू ओबैदा ने कहा, उनका समूह ऐसे विकल्पों को तलाशेगा जिससे यदि इज़रायल गाजा में जमीनी हमले को अंजाम देने की हिम्मत करता है तो उसे उसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी और जान-माल का भारी नुकसान होगा।

PunjabKesari

अल-कसिम को हमास के खूंखार ब्रिगेड के नाम से भी जाना जाता है, जिसकी स्थापना साल 1991 में की गई थी। यह ब्रिगेड गाजा में सक्रिय है। ओबैदा ने चेतावनी दी, ‘‘हमारे पास भारी हथियार हैं जो हमें सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं जिसे दुश्मन ने इससे पहले कभी नहीं देखा होगा और हमारी ब्रिगेड दुश्मन की सेना को कुचल सकते हैं।” ओबैदा ने कहा कि उनकी ब्रिगेड ने इजरायली जेलों में सभी फिलिस्तीनी कैदियों की अदला-बदली करने के लिए पर्याप्त इजरायली नागरिकों को बंदी बना रखा है। उन्होंने फिलिस्तीनी युवाओं और अरब और इस्लामी देशों से इजरायल के खिलाफ चल रही जंग में शामिल होने के लिए सभी मोर्चों पर आगे आने का भी आह्वान किया है।  इजराइल ने गत शनिवार से हमास द्वारा किए गए विध्वंशकारी हमले के जवाब में जमीनी हमले के लिए रिकॉडर् 360,000 रिजर्व सैनिकों को बुलाया है।

Leave a Reply