Friday, June 21, 2024
Uncategorized

कांग्रेस की बत्ती गुल, राहुल,कमलनाथ समेत सबका यू टर्न, बजरंग दल पर बैन की बात से पल्ला झाड़ा, बदलेगा मैनिफेस्टो

चौतरफा विरोध के बाद घोषणापत्र में बदलाव का बात कही है। कांग्रेस की ओर से कहा गया है कि वो बजरंग दल पर बैन नहीं लगाएगी।

Karnataka Election 2023: कर्नाटक में कांग्रेस के घोषणापत्र में बजरंज दल की तुलना प्रतिबंधित संगठन पीएफआई से करने और बैन लगाने की घोषणा के बाद चौतरफा विरोध को देखते हुए पार्टी ने घोषणापत्र में बदलाव का बात कही है। कांग्रेस की ओर से कहा गया है कि वो बजरंग दल पर बैन नहीं लगाएगी।

कांग्रेस की बजरंग दल पर बैन लगाने की घोषणा का बाद भारतीय जनता पार्टी और हिंदू संगठनों के कांग्रेस की इस घोषणा पर अपना कड़ा विरोध जताया है।

चौतरफा हमलों के बाद अब कांग्रेस नेताओं की सफाई सामने आ रही है। वीरप्पा मोइली के बाद मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कर्नाटक में कांग्रेस की घोषणा पर सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने बैन की बात कभी नहीं कही थी, बस उदाहरण दिया था।

बजरंग दल पर प्रतिबंध लगाने का कोई सुझाव नहीं- मोइली

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एम. वीरप्पा मोइली ने बुधवार को कहा कि कर्नाटक में कांग्रेस के सत्ता में आने पर बजरंग दल पर प्रतिबंध लगाने का कोई सुझाव नहीं है। मोइली ने कहा कि कांग्रेस ने नफरत की राजनीति के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट की सख्त टिप्पणियों की पृष्ठभूमि में घोषणापत्र में बजरंग दल जैसे संगठनों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कही थी।

प्रतिबंध लगाना केंद्र सरकार का अधिकार: शेट्टार

कांग्रेस नेता जगदीश शेट्टार ने कांग्रेस के घोषणापत्र पर छिड़े विवाद को लेकर जवाब दिया। बजरंग दल पर प्रतिबंध लगाने के बारे में उनकी राय पूछे जाने पर जगदीश शेट्टार ने कहा, ‘चुनाव घोषणा पत्र में कई बिंदु हैं, हम इस मुद्दे को क्यों सीमित करें। किसी भी संगठन पर प्रतिबंध लगाना केंद्र सरकार की शक्ति है।’

राज्य को संगठनों पर बैन लगाने का अधिकार नहीं- मोइली

मोइली ने कहा कि इस तरह के संगठनों पर राज्य सरकारों को बैन लगाने का अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘अब सरदार वल्लभभाई पटेल की पूजा करने वाली भाजपा भूल जाती है कि पटेल ने एक समय आरएसएस पर प्रतिबंध लगा दिया था, लेकिन आगे चलकर जवाहरलाल नेहरू ने इस फैसले को रद्द कर दिया था।’’

10 मई को कर्नाटक में वोटिंग

कर्नाटक में 10 मई को विधानसभा चुनाव होना है। जिसके नतीजे 13 मई को आएंगे। ऐसे में राज्य में बीजेपी और कांग्रेस के बीच कड़ी टक्कर देखी जा रही है।

 

Leave a Reply