Tuesday, May 28, 2024
Uncategorized

जिहादी मुसलमान पीछे पड़े बिग बॉस के एल्विश यादव के पीछे,लालू प्रसाद यादव के बेटे को भी चमका दिया

लालू प्रसाद यादव के बेटे की सुरमाई धरी रह गई,
जैसे ही जिहादी मुसलमानों ने पीछा पकड़ा,
कट्टरपंथी मुस्लिमों से गाली खाकर तेज प्रताप यादव ने डिलीट किया एल्विश यादव को समर्थन वाला ट्वीट: तुष्टिकरण, डर या वोट… क्या   है  कारण?

बिग बॉस ओटीटी 2 (Bigg Boss OTT 2) के विनर का ऐलान सोमवार (14 अगस्त, 2023) को होना है। इसके लिए ऑनलाइन वोटिंग चल रही है। अब तक सामने आए वोटिंग के आँकड़ों में एल्विश यादव (Elvish Yadav) टॉप पर चल रहे हैं। तेज प्रताप यादव ने एल्विश यादव को ट्वीट कर समर्थन दिया था। मुस्लिम कट्टरपंथी इसे यादव-यादव समर्थन कह कर सजायाफ्ता कैदी लालू यादव के बेटे को गरिया रहे थे। तेज प्रताप यादव ने इस ट्वीट को अब डिलीट (अज्ञात कारणों से) कर दिया है।

चारा घोटाला का अपराधी और सजायाफ्ता कैदी लालू यादव ने बिहार की राजनीति में मुस्लिम-यादव समीकरण दिया था। लालू एक से जाति के नाम पर तो दूसरे से धर्म के नाम पर वोट पाता था। अपराधी लालू यादव का बेटा तेज प्रताप यादव अब मंत्री हैं, इनकी पार्टी भी लालू वाली ही है, राजनीति अभी भी मुस्लिम-यादव समीकरण (MY समीकरण) वाली ही। शायद यह एक कारण हो सकता है कि किसी अज्ञात व्यक्ति या वस्तु के प्रभाव में आकर एल्विश यादव को समर्थन तो तेज प्रताप ने कर दिया लेकिन कट्टरपंथी मुस्लिमों से गाली पड़ने के बाद MY समीकरण को याद कर वोट की भीख के लिए ट्वीट डिलीट मारा हो। यह एक कयास है, हकीकत तो सोशल मीडिया में तेजू भैया नाम से प्रिय नेता ही जानते होंगे।

ट्वीट डिलीट करने से पहले आरजेडी नेता और बिहार सरकार में मंत्री तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने इससे पहले एल्विश यादव का समर्थन करते हुए उन्हें वोट करने की अपील की थी। इसको लेकर कट्टरपंथी इस्लामी तेज प्रताप यादव को खरी-खोटी सुना रहे थे।

ट्वीट में तेज प्रताप यादव ने एल्विश यादव और अपनी फोटो के साथ एक पोस्टर शेयर किया था। इस पोस्टर के जरिए ही तेज प्रताप ने एल्विश यादव के लिए वोटिंग करने की अपील की थी। इस ट्वीट को तेज प्रताप ने #Elvishyadav, #Votforelvish, #ElvishTheBoss के साथ शेयर किया था। अब यह पोस्ट डिलीट किया जा चुका है।

तेज प्रताप यादव का एल्विश यादव को समर्थन करना और उनके लिए वोट की अपील करना कट्टरपंथी इस्लामी लोगों को अच्छा नहीं लगा। यूजर्स तेज प्रताप के लिए जातिवादी समेत तमाम तरह की बातें करते हुए उन्हें ट्रोल कर रहे हैं। इमरान शेख नामक यूजर ने लिखा, “तेज प्रताप यादव मतलब सिर्फ यादव होने से आपने इसका समर्थन किया। ये कितनी नफरत फैलाता है, क्या आपको नहीं पता?”

वसीम अहमद ने लिखा, “आ गए यादव-यादव एक हो गए। चाहे तुम्हारे खिलाफ ही क्यों ना हो चाहे ये मुस्लिम के खिलाफ ही क्यों ना हो, सभी मुस्लिम भाई से कहना चाहूँगा अनफॉलो करो इसको।”

मोहम्मद साहिल नामक यूजर ने लिखा, “तेज प्रताप यादव भैया जी, कहीं आपका दिमाग में ही बवासीर तो नहीं हो गया है। जाकर अपना इलाज करवाओ।”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “ये तो गद्दारी है मेरे कौम वाले के साथ। मेरे मुस्लिम भाइयों अबकी बार कोई भी वोट मत देना आरजेडी को।”

फरहान रजा ने लिखा, “तेजू भैया थोड़ी बिहार की बेटी को भी सपोर्ट कर दो।”

आशिफ आमिल नामक यूजर ने लिखा, “ये तेज भैया को देखिए Bigboss का फाइनल चल रहा है। बिहार से मनीषा रानी और हरियाणा से एल्विश यादव फाइनल तक पहुँचे हैं। लेकिन बिहार के मंत्री और लालू यादव के बेटे सपोर्ट करते हैं एल्विश यादव को क्योंकि वो यादव है इनको बिहार से लेना देना ही नहीं, और खुद को सेक्युलर भी बताते हैं।”

वफ़ा अब्बास ने लिखा, “पहले मैं ये मानता था विपक्ष आप के बारे में गलत बोलता है। मगर अब पता चल गया है आप बिना जाँच पड़ताल के कुछ भी बोल देते हैं। कुछ भी लिख देते हैं। आप मंत्री के लायक नहीं हैं। तेजस्वी से कुछ सीखिए धर्म विशेष पर टिप्पणी करने वाले का आप साथ दे रहे हैं।”

Leave a Reply