Monday, June 24, 2024
Uncategorized

मुसलमान नेता असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि ,मोदी को हराने किसी भी हद तक जाऊंगा,किसी के भी साथ.

लोकसभा चुनाव में भाजपा को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलने के कारण राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है. NDA को कुल 292 सीटें मिली हैं जबकि कांग्रेस की अगुआई वाले INDIA गठबंधन ने 234 का आंकड़ा लेकर सबको चौंका दिया है. काउंटिंग के कुछ घंटे बाद से ही गठबंधन सहयोगियों की पूछ बढ़ गई थी. दोनों खेमों की तरफ से फोन पर बात, घर जाकर मिलने का दौर शुरू हो गया है. इस बीच, हैदराबाद से जीते AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी ने ऐलान कर दिया है कि पीएम नरेंद्र मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनने से रोकने के लिए वह किसी को भी साथ देने के लिए तैयार हैं.

दरअसल, कल शाम से ही इस बात को अटकलें तेज हो गईं कि अगली सरकार कौन बनाएगा. प्री-पोल अलायंस होने के कारण भाजपा को चंद्रबाबू नायडू की पार्टी टीडीपी और नीतीश कुमार की पार्टी JDU का सपोर्ट है और उनके साथ मिलकर भाजपा आसानी से सरकार बना लेगी. लेकिन नीतीश कुमार के पहले के रुख राजनीतिक गलियारों में संदेह पैदा कर रहे हैं.

कल ही ऐसी खबरें आई थीं कि कांग्रेस+ ने नीतीश कुमार से संपर्क साधने की कोशिशें शुरू कर दी है. यहां तक कहा गया कि नीतीश को डिप्टी पीएम का पद ऑफर किया जा सकता है. अगले 24 से 48 घंटे राजनीतिक रोमांच के हिसाब से अहम रहने वाले हैं. आज एनडीए और INDIA गठबंधन की बैठक भी होने वाली है. इस बीच ओवैसी का ऐलान महत्वपूर्ण हो जाता है. वैसे AIMIM के पास एक ही सांसद है लेकिन इसके बाद 16 अन्य को भी खींचने की पहल हो सकती है.

समाचार एजेंसी ANI ने कुछ घंटे पहले जब ओवैसी से पूछा कि अगर आपको INDIA गठबंधन में शामिल होने का न्योता आता है तो क्या आप जाएंगे? ओवैसी ने कहा कि मैं अगर, मगर, संभावनाओं की बात मैं नहीं कर सकता. मगर मैंने चुनाव के दौरान ही यह कह दिया था कि अगर कोई ऐसा मौका आता है कि नॉन-एनडीए और नरेंद्र मोदी को रोकने के लिए किसी को प्रधानमंत्री बनाने का मौका मिल सकता है तो हम यकीनन उनका साथ देंगे. 2014 से मैं शायद अकेला एमपी हूं जिसने संसद में भाजपा के हर बिल का विरोध किया है.

AIMIM अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने हैदराबाद लोकसभा सीट से लगातार पांचवीं बार जीत हासिल की है. ​​उन्होंने भाजपा उम्मीदवार माधवी लता को 3.38 लाख से ज्यादा मतों के अंतर से हराया. ओवैसी को 6,61,981 मत मिले जबकि माधवी लता को 3,23,894 मतों से संतोष करना पड़ा.

ओवैसी 2004 से इस सीट से जीतते आ रहे हैं. उन्होंने 2019 में भाजपा के जे. भगवंत राव को 2.82 लाख से ज्यादा मतों से हराया था. हैदराबाद लोकसभा सीट पारंपरिक रूप से एआईएमआईएम का गढ़ रही है, जिसने 1984 से मुसलमानों की अच्छी खासी आबादी वाले इस निर्वाचन क्षेत्र पर मजबूत पकड़ बनाए रखी है.

Leave a Reply